October 20, 2017

29 खरब रुपए से बनेगा पाकिस्तान-चीन आर्थिक गलियारा

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के दौरे पर गए चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कुल 51 समझौता पत्रों पर दस्तखत किए। इसमें 46 बिलियन डॉलर यानी लगभग 29 खरब रुपए वाली पाकिस्तान-चीन आर्थिक गलियारा (पीसीईसी) परियोजना भी शामिल है। इसके साथ ही पाकिस्तान में निवेश के नजरिए से चीन ने अपने चिर प्रतिद्वंद्वी अमेरिका को पछाड़ दिया है। पाकिस्तानी अखबार डॉन की वेबसाइट के मुताबिक एमओयूज पर साइन करने के लिए आयोजित समारोह में पाक पीएम नवाज शरीफ ने चीनी राष्ट्रपति का स्वागत करते हुए चीन को सदाबहार दोस्त करार दिया।
पाकिस्तान-चीन आर्थिक गलियारा परियोजना के बारे में बात करते हुए नवाज शरीफ ने कहा, यह गलियारा पाकिस्तान के सभी प्रांतों और इलाकों को लाभ पहुंचाएगा और यह हमारे देश को रिजनल हब में बदल देगा जिससे व्यापार और निवेश को बढ़ावा मिलेगा। इससे व्यापार और निवेश के लिए दक्षिण, मध्य और पश्चिम एशिया के साथ मध्य पूर्व और अफ्रीका की दूरी कम करने और इसे किफायती बनाने में चीन को भी मदद मिलेगी। यह गलियारा शांति और समृद्धि का प्रतीक बनेगा। अपने भाषण में चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि चीन आतंकवाद से लडऩे की पाकिस्तान की क्षमता बढ़ाने के लिए चीन तैयार है और मदद की इच्छा रखता है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान-चीन आर्थिक गलियारा का निर्माण दोनों देशों की राष्ट्रीय रणनीति और जीवनयापन पर गहरा असर छोड़ेगा। इस परियोजना का महत्व दर्शाते हुए शी चिनफिंग ने कहा, हमने और पीएम नवाज शरीफ ने जिन डॉक्युमेंट्स पर दस्तखत किए उनमें 30 से ज्यादा दस्तावेज पाकिस्तान-चीन आर्थिक गलियारे से संबंधित थे।
इनमें ग्वादर पोर्ट की सुविधाएं, काराकोरम राजमार्ग के दूसरे दौर के अपग्रेडिंग प्रोजेक्ट, कराची और लाहौर के बीच सड़क परियोजना, लाहौर और अन्य बड़े ट्रांसपोर्टेशन इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स के लिए रेल ट्रांसपोर्ट ऑरेंज लाइन परियोजना एवं ऊर्जा परियोजनाओं की पूरी सीरीज शामिल हैं। चीनी राष्ट्रपति ने इस बात पर जोर दिया कि उनका देश पाकिस्तान की आर्थिक और सामाजिक तरक्की के लिए मदद बरकरार रखेगा। गौरतलब है कि नौ साल के लंबे अंतराल के बाद कोई चीनी राष्ट्रपति पाकिस्तान यात्रा पर आए हैं। बहरहाल, इस्लामबाद पहुंचने पर पाकिस्तानी राष्ट्रपति ममनून हुसैन, प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, आर्मी स्टाफ प्रमुख (सीओएएस) जनरल रहील शरीफ, रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ और प्रधानमंत्री के मंत्रिमंडल सदस्यों ने नूरखान हवाई अड्डे पर चीनी राष्ट्रपति की अगवानी की। चिनफिंग को पाकिस्तान के सर्वश्रेष्ठ नागरिक पुरस्कार निशान-ए-पाकिस्तान से सम्मानित किया जाएगा।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *