October 21, 2017

होमगार्ड के जवानों को आपदा प्रबंधन की ट्रेनिंग : राणा

कर्मचारियों एवं अधिकारियों को भी किया जाएगा प्रशिक्षित
 नई तकनीक से लोगों को किया जाएगा अलर्ट

 हमीरपुर, 20 नवंबर। राज्य के सभी जिलों में होमगार्ड के जवानों को आपदा
प्रबंधन की ट्रेनिंग सुनिश्चित की जा रही है इसके अतिरिक्त स्कूलों में एनसीसी
के कैडेटों एवं एनएसएस के स्वयंसेवियों को आपदा प्रबंधन की ट्रेनिंग देने के
लिए प्लान तैयार किया जा रहा है ताकि युवा शक्ति आपदाओं के दौरान राहत तथा
बचाव के कार्यों में अपना रचनात्मक सहयोग दे सकें। यह जानकारी राज्य आपदा
प्रबंधन बोर्ड के उपाध्यक्ष राजेंद्र राणा ने को हमीर होटल में पत्रकार वार्ता
को संबोधित करते हुए दी।
 उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन का कार्य क्षेत्र महज आपदा के बाद के
पुननिर्माण के कामकाज को संभालना या पीड्ति व्यक्तियों की मदद करना भर ही नहीं
है बल्कि आपदा की पूर्व चेतावनी प्रणाली का विकास और इन हानियों को समय रहते
न्यूनतम करने से भी जुड़ा है। उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर आपदा प्लान तैयार
किए गए हैं तथा इस के लिए विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रशिक्षण
देने की व्यवस्था भी की जा रही है।
    उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में डैमों के आसपास के क्षेत्रों में जल
स्तर बढऩे की त्वरित सूचना नई तकनीक के माध्यम से लोगों तक पहुंचाने का भी
प्लान तैयार किया जा रहा है ताकि किसी भी स्तर पर प्रि डिस्जास्टर मैनेजमेंट
को बल मिल सके।
     उन्होंने कहा कि ट्रेनिंग का प्रमुख उद्देश्य आपदा के कुप्रभाव को कम
करना, आपदाग्रस्त लोगों को तुरंत बचाव एवं राहत की व्यवस्था, प्रभावित लोगों
के पुर्नस्थापन तथा आपदाओं से निपटने के लिए प्लान तैयार करना है। उन्होंने
कहा कि ज्यादा से ज्यादा कर्मचारियों एवं अधिकारियों को आपदा प्रबंधन के संबंध
में ट्रेनिंग करवाने के लिए विशेष बल दिया जाए ताकि जिला स्तर पर किसी भी तरह
की आपदा से आसानी से निपटा जा सके।
   राणा ने आपदा प्रबंधन प्लान के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा
कि उपमंडल स्तर पर आवश्यक सामान उपलब्ध करवाया गया है जबकि मॉक ड्रिल इत्यादि
के बारे में भी समय समय पर आयोजन किया जाता है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *