October 24, 2017

’हिमाचल में निवेश के लिए उद्यमियों ने प्रबल इच्छा जताई’

’मुख्यमंत्री ने मुम्बई में बड़े औद्योगिक घरानों से की बातचीत ’

मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह से आज महाराष्ट्र के मुम्बई में गोदरेज, टाटा समूह,
एपटैक, मुकंद लिमिटेड, कैमट्राॅल लिमिटेड तथा स्काई हिमालयाज़ के
प्रतिनिधियों ने भेट की और हिमाचल में औद्योगीकरण की स्थिति और अन्य
पहलुओं पर विचार-विमर्श किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में
निवेश के लिए उद्यमियों को अनेक प्रोत्साहन और सौहार्दपूर्ण वातावरण उपलब्ध
करवा रही है।
टाटा समूह ने प्रदेश में निर्माण क्षेत्र में निवेश तथा अन्य अनेक प्रस्ताव रखे
है दूसरे बड़े औद्योगिक घरानों में वीकफिल्ड फूड्ज़ प्राईवेट लिमिटेड के
प्रतिनिधियों ने आज मुम्बई में मुख्यमंत्री, उद्योग मंत्री श्री मुकेश अग्निहोत्री
तथा राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों से भेंट कर फूड बे्रवरेजिज एण्ड एग्रो
बेस्ट फूर्ड पार्कज मेें निवेश की संभावनाओं पर विस्तृत चर्चा की। चर्चा के
दौरान, स्टेनफोर्ड इंग्लिश अकादमी ने हिमाचल प्रदेश के ऊपरी क्षेत्र में 200-250
करोड़ रुपये के निवेश से पहले व्यवसायिक विश्वविद्यालय खोलने की इच्छा जाहिर की।
एल.आर. एक्टिव प्राईवेट लिमिटेड, जो खाद्य तेल एवं संबद्ध उत्पादों का कारोबार
करती है, ने प्रदेश में फूड पार्क खोलने तथा पाॅलिथीन की जगह पर्यावरण मित्र
सीमेंट बैग में निवेश की इच्छा जाहर की। अमेरिकन ग्लोबल हैल्थ ग्रुप, जो
आॅरगेनिक एलोवेरा तथा रेडी एनर्जी ड्रिंक्स, बिवरेजिज तथा स्किन केयर
प्रोडेक्टस में अग्रणी कंपनी है, ने प्रदेश में एलोवेरा प्रोडक्टस तैयार करने
के लिए 100 करोड़ रुपये के अलावा मेगा फूड पार्क में 190 करोड़ रुपये तथा पेपर
बैग उद्योग क्षेत्र में 127 करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव रखा। रूचि सोया
इंडस्ट्रीज लिमिटेड के प्रतिनिधियों ने फार्मिंग सहित एग्रो पैकेजिंग, फूड
प्रोसेसिंग और कोल्ड स्टोर स्थापित करने के लिए विस्तृत चर्चा की।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश में आलू, मटर और अन्य सब्जियों के उत्पादन पर चर्चा करते
हुए कहा कि कृषि राज्य सरकार की प्राथमिकता है और कृषि आधारित औद्योगिक
इकाइयों में निवेश के लिए उद्यमियों को आवश्यकतानुसार सर्वेक्षण करने के लिए
आमंत्रित किया।
आयरलैंड की सीआरएच सीमेंट कंपनी ने हिमाचल में सीमेंट प्लांट लगाने का प्रस्ताव
रखा। ट्रिंफ इंस्टीच्यूट आॅफ परफार्मिंग आर्टस (टिप्पा) द्वारा प्रदेश में स्थानीय
प्रतिभा को प्रोत्साहित करने के लिए फिल्म सिटी स्थापित करने के प्रस्ताव पर
विचार-विमर्श किया, जिसके लिए डा. श्रवण राठौर ने मुख्यमंत्री से उपयुक्त भूमि
उपलब्ध करवाने का
आग्रह किया। स्केलिंग हाईट्स एंटरटेनमेंट प्राईवेट लिमिटेड ने 500 करोड़ रुपये
का निवेश करके पालमपुर क्षेत्र में फिल्म सिटी स्थापित करने का प्रस्ताव रखा।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश में ग्लोबल हैल्थ ग्रुप द्वारा फूड पार्क तथा एलोवेरा स्किन
केयर उत्पादों पर आधारित उद्योग के प्रस्तावों के लिए आभार जताया। उन्होंने
उद्योगपतियों से लिखित प्रस्ताव भेजने का आग्रह किया, जिस पर सरकार
गंभीरतापूर्वक विचार करेगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार राज्य में
निवेश के लिए अनुकूल माहौल उपलब्ध करवा रही है। प्रदेश में विविध कृषि
जलवायु, स्वच्छ वातावरण, अपार जलविद्युत संभावना तथा उत्तरी भारत की मुख्य
मंडियों में आसान पहुंच के चलते कृषि आधारित उद्योग की अपार संभावनाएं
है। प्रदेश सरकार ने दीर्घकालीन उद्योगों की स्थापना के लिए पर्याप्त
अधोसंरचना विकसित करने के लिए ठोस प्रयास किए हैं।
गिन्नी एण्ड जोनी ने वस्त्र उद्योग में निवेश के लिए प्रस्ताव रखा है, जबकि अलकैम
लैब्स, जिसकी प्रदेश में पहले ही 400 करोड़ रुपये की परियोजना कार्यरत है, ने
फार्मा उद्योग के विस्तार में और अधिक निवेश का प्रस्ताव रखा। इसके अलावा,
फार्मा सेक्टर की अग्रणी दवा कंपनी ल्यूपिन के प्रतिनिधियों ने भी अपने प्रस्ताव
रखे। लीला ग्रुप आॅफ होटल के साथ काम कर रही देश की जानी मानी वास्तुकार
कंपनी हफीज़ ने वास्तुकार तथा डिजाईनिंग के लिए प्रस्ताव रखे।
उद्योग मंत्री श्री मुकेश अग्निहोत्री, मुख्य सचिव श्री पी. मित्रा, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री
वी.सी. फारका, प्रधान सचिव, राजस्व श्री तरूण श्रीधर, प्रधान सचिव, वित्त डा.
श्रीकांत बाल्दी, प्रधान सचिव, ऊर्जा श्री एस.के.बी.एस. नेगी, प्रधान सचिव, उद्योग
एवं श्रम श्री आर.डी. धीमान, उद्योग विभाग के निदेशक श्री राजिन्द्र सिंह,
औद्योगिक सलाहकार श्री राजेन्द्र चैहान तथा पर्यटन विभाग के निदेशक श्री मोहन
चैहान सहित सीआईआई के अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *