October 21, 2017

हाय राम! रात को धर्मशाला का नहीं कोई रखवाला

dnधर्मशाला ,12जून – जिला में चोरी की घटनाआें की संख्या में आए दिन इजाफा हो रहा है। हर रोज किसी न किसी क्षेत्र मे शातिर चोरी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। जिला के मुख्यालय धर्मशाला में इन दिनों पर्यटक सीजन चरम पर है। ऐसे में रात्रि के दौरान शहर तथा पर्यटकों की हिफाजत को लेकर पुलिस द्वारा किए गए इतंजामों को जानने के लिए प्रदेश के अग्रणी समाचार पत्र ‘दिव्य हिमाचल’ ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। शनिवार की रात को सुरक्षा व्यवस्था की जानकारी के लिए रात करीब साढ़े नौ बजे से साढ़े 12 बजे तक रात्रि सुरक्षा के हालात का जायजा लिया गया। रात करीब 10 बजे शहर में घूम कर पुलिस की रात्रि गश्त का मुआयना किया गया। इस दौरान शनिवार की रात को शहर के किसी भी प्वाइंट पर सुरक्षा कर्मी नहीं मिला। दूसरे राज्यों से आए पर्यटकों तथा शराब के नशे में धुत्त बाइकर्स ओवर स्पीड में बाइक चलाते जरूर नजर आए। ऐसे में रात के अंधेरे में नशे में धुत्त होकर सड़क पर हो-हल्ला करने वालों को पूछने वाला कोई नहीं था। इसके चलते रात्रि के दौरान शहरों में आए पर्यटकों तथा आम आदमी के सुरक्षा पर भी सवालिया निशान खड़े हुए हैं। इसके बाद करीब साढ़े 10 बजे शहर के एंट्री प्वाइंटों पर पुलिस द्वारा लगाए जाने वाले नाकों का जायजा लिया गया। इसमें सुधेड़ के समीप, फव्वारा चौक तथा प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के आसपास जाकर रात्रि नाकों की स्थिति जानी, लेकिन शनिवार की रात्रि पुलिस द्वारा कोई नाका नहीं लगाया गया था। रात के दौरान एंट्री प्वाइंटों पर नाका न होने के कारण शातिर आसानी से शहर में प्रवेश कर किसी बड़ी घटना को अंजाम देकर शहर से बाहर निकल सकते हैं। इसके बाद रात्रि को पुलिस के आपात नंबर 100 पर फोन घुमाया गया। इस नंबर पर थाना में मौजूद स्टाफ द्वारा उठा लिया गया। शहर में रात्रि नाका न होने के बाद ‘दिव्य हिमाचल’ की टीम ने थाने का रुख किया। थाने में रात्रि नाकों के बारे पूछने पर उन्होंने बताया कि रात के करीब 12 बजे पुलिस द्वारा नाका लगाया जाता है, जिसके बाद सुरक्षा कर्मियों को नाका लगाने के लिए बुलाया गया। रात्रि के दौरान कोई घटना होने पर पुलिस थाने में वाहन मौजूद था। रात्रि के दौरान किसी वारदात होने के बाद घटना स्थल तक पहुंचने के लिए पुलिस के पास पर्याप्त हथियार मौजूद रहते हैं।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *