Header ad
Header ad
Header ad

हमीर उत्सव विकास व लोक संस्कृति का दर्पण: सुधीर शर्मा

हमीरपुर , शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा
 ने कहा है कि मेले , उत्सव व त्यौहार किसी भी प्रदेश की समृद्ध संास्कृतिक
विरासत के परिचायक होते हैं तथा यह विकास  व लोक संस्कृति के दर्पण होते हैं ।
राज्य स्तरीय हमीर उत्सव में भी विकास और लोक संस्कृति की गौरवपूर्ण झलक देखने
को मिलती है। शहरी विकास मंत्री ने गत रात्रि दीप प्रज्जवलित करके हमीर उत्सव
की दूसरी सांस्कृतिक संध्या का उद्घाटन करने के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित
कर रहे थे। हमीर उत्सव क मेटी की ओर से उपायुक्त रोहन चंद ठाकुर  ने उन्हें
शाल, टोपी व पेंटिग भेंट करके सम्मानित किया।
                                    शहरी विकास मंत्री  ने इस बात पर
प्रसन्नता व्यक्त की कि जिला प्रशासन द्वारा हमीर उत्सव की दूसरी सांस्कृतिक
संध्या को पहाड़ी नाईट का नाम दिया गया है और प्रदेश के विभिन्न जिलों के
लोकनर्तकों को यहां अपनी प्रस्तुतियों के लिए आमंत्रित किया गया है। उन्होंने
कहा कि लोकनृत्य किसी भी समाज की धड़कन और उल्लास के परिचय के द्योतक होते हैं
। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश लोकगीतों और लोकनृत्यों की धरती है और इन
लोकगीतों व लोकनृत्यों में हिमाचली जीवन की धड़कन और सांस्कृतिक विरासत समाई
है। ये लोकनृत्य किसी वर्ग, धर्म व जाति विशेष से संबंध नहीं रखते। इन नृत्यों
में समस्त समाज, क्षेत्र तथा देश की आत्मा झलकती है तथा समाज को एक  सूत्र में
पिराए रखने की क्षमता होती है।
                  उन्होंने हमीरपुर की विकास यात्रा का उल्लेख करते हुए कि 1
सितम्बर, 1972 को अस्तित्व में आने के बाद से लेकर अब तक इस जिला ने प्रगति के
नये सोपान तय किये हैं। इस जिला को प्रदेश में सबसे साक्षर जिला होने के गौरव
तो हासिल है ही, साथ ही लघु बचत, संपूर्ण स्वच्छता , 20 सूत्रीय कार्यक्रम ,
जलागम विकास कार्यक्रम और सड़क घनत्व में भी यह अव्वल स्थान रखता है। उन्होंने
कहा कि इस जिला ने अगर निर्मल जिला होने का गौरव हासिल किया है तो विभिन्न जन
कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में भी हमीरपुर जिला पहले पायदान पर है।
              इससे पूर्व शहरी विकास मंत्री का स्वागत करते हुए रोहन चंद
ठाकुर ने कहा कि आज की सांस्कृतिक संध्या पूर्ण रूप से हिमाचली कलाकारों और
हिमाचली संस्कृति को समर्पित है और इस संध्या को जिला प्रशासन ने पहाड़ी नाईट
का नाम दिया है। उन्होंने कहा इस संध्या में स्थानीय स्कूलों के अतिरिक्त
स्थानीय और अन्य जिलों से आए गायक  अपनी प्रस्तुतियां देने आए हैं। उन्होंने
कहा कि  जिला प्रशासन ने हमीर उत्सव में विविधता लाने की भरपूर कोशिश  की ।
इस अवसर पर मुख्य संसदीय सचिव , ग्रामीण विकास इन्द्रदत्त लखन पाल, केसीसी
बैंक के उपाध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया, मण्डी समिति के अध्यक्ष प्रेम कौशल,
जिला अध्यक्ष नरेश ठाकुर, नगर परिषद अध्यक्ष दीपक शर्मा,  महा सचिव अजय ठाकुर,
कांग्रेस शहरी इकाई अध्यक्ष मनोज कुमार, महा सचिव राजेश चौधरी, खेल कल्याण
परिषद के  सदस्य अरूण ठाकुर, राजपूत कल्याण बोर्ड के सदस्य संजीव ठाकुर,
पार्षद मनोरमा लखनपाल, राजेश अश्वनी, राधा राणी, डीडी शांशाह, चेतन लखनपाल,
पुलिस अधीक्षक अजय बोद्ध, एडीसी हिमांशु शेखर चौधरी के अतिरिक्त अन्य गणमान्य
व्यक्ति उपस्थित थे।

-
Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)