October 22, 2017

सिरमौर में राष्ट्रीय बागवानी मिश्न के तहत व्यय होगें आठ करोड़-एडीसी

aनाहन 23 जुलाई- सिरमौर जिला में बागवानी क्षेत्र को और बढ़ावा देने के दृष्टिगत
चालू वित के दौरान एकीकृत उद्यान विकास मिश्न योजना के तहत आठ करोड़ की राशि
व्यय की जा रही है।
यह जानकारी अतिरिक्त उपायुक्त सिरमौर श्री मनमोहन शर्मा ने आज यहां उद्यान
विभाग द्वारा आयोजित राष्ट्रीय बागवानी मिश्न की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता
करते हुए दी। उन्होने जानकारी दी कि इस कार्यक्रम के तहत गत वर्ष के दौरान दो
करोड़ से अधिक राशि व्यय करके 350 किसानों को लाभान्वित किया गया।
उन्होने बताया कि एकीकृत उद्यान विकास मिश्न योजना के तहत किसानो को पॉलीहाऊस
स्थापित करने पर  85 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है और इस वर्ष के दौरान 23
हजार वर्गमीटर से अधिक क्षेत्र में पॉलीहाऊस स्थापित किए जाएगें, ताकि किसान
ग्रीन हाऊस में बेमौसमी सब्जी का उत्पादन करके उनकी आथर््िाकी सुदृढ़ हो सके ।
श्री शर्मा ने उद्यान अधिकारियों को निर्देश कि मिशन के अन्तर्गत कार्यान्वित
की जा रही विभिन्न योजनाओं को प्रभावी ढंग से कार्यान्वित किया जाए ताकि
बागबानो को नर्सरी लगाने, ग्रीन हाऊस लगाने, मशरूम उत्पादन यूनिट, पौद्यरोपण,
मधुमक्खी उत्पादन, फार्म मशीनरी, फूलों की खेती, पैकिंग ग्रेडिगं हाऊस सुविधा
का लाभ मिल सके । उन्होने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि इस योजना के तहत
अनुसूचित जाति तथा जनजाति के अधिक से अधिक निर्धन परिवारों को शामिल किया जाए ।
   एडीसी नेे उद्यान विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि बागवानी के
क्षेत्र में वैज्ञानिकों द्वारा किए गए नवीनतम अनुसंधानों को किसानों के खेतों
तक पहूंचाए और फील्ड में जाकर किसानों को संबधित क्षेत्र के जलवायु व भौगोलिक
स्थिति के अनुरूप बागवानी करने की तकनीकी जानकारी दी जाए।
बैठक में फल अनुसधांन केन्द्र धौलाकंुआ के प्रभारी वैज्ञानिक डा0 जोशी ने
उद्यान अधिकारियों को बागवानो के एल.पी.डी. पोलीथिन टैंक बनवाने तथा
स्ट्रावैरी के जड़वे लगाने का सुझाव दिया। इसके अतिरिक्त उन्होने अमरूद, पपीता,
किवी, अनार के पाधों को सघन खेती में सम्मिलित करने तथा मधुमक्खी पालन के लिए
किसानों को  प्रेरित करने का  सुझाव भी दिया। उन्होने बताया कि यह मौन पालन की
 इस क्षेत्र में काफी संभावनाऐं  है तथा  मधुमक्खी के पालन से पालीहाऊस में
उगने वाली सब्जियां जैसे कि खीरा, शिमला मिर्च, टमाटर के परागण की समस्या का
हल हो सकता है।
   उप-निदेशक उद्यान रामलाल कपिल ने बैठक में आए अधिकारियों का स्वागत करते
हुए जिला में बागवानी को बढावा देने के लिए उठाए जा रहे पग बारे विस्तृत
जानकारी दी ।
बैठक में  अग्रणी बैंक प्रबन्धक यूको बैक नाहन, जिला कृषि अधिकारी तथा उद्यान
विभाग के समस्त अधिकारियों ने भाग लिया।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *