October 22, 2017

शांता को षड़यत्र के तहत चुनावी दंगल में फंसाया

कांगड़ा, 24 अप्रैल – कांगड़ा संसदीय चुनाव क्षेत्र के अपने चुनावी दौरे के दौरान मुख्यमंत्री
वीरभद्र सिंह ने आज बैजनाथ में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी शांता कुमार से जानना चाहा है कि उनकी कांगड़ा जिला के विकास में क्या उपलब्धि रही है। उन्होंने कहा कि शांता कुमार कोई अभेद किला नहीं हैं, वे पहले भी दो बार संसद व दो ही बार विधानसभा का चुनाव हार चुके हैं। हालांकि उनका शांता कुमार के साथ कोई व्यक्तिगत द्वेश नहीं है, लेकिन भाजपा के लोगों ने ही उन्हें सुनियोजित षड़यत्र के तहत चुनावी दंगल में फंसाया और उन्हें इस बार भी हार का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि शांता कुमार की हार से उन्हें कोई प्रसन्नता नहीं होगी, लेकिन चुनावी रण में किसी एक को तो हार का मुंह देखना ही पड़ता है। वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश में जब भी कांग्रेस सरकार बनी हैं, राज्य का समान और संतुलित विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकारों के कार्यकाल में ही कांगड़ा जिला में व्यापक विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि कांग्रेेस सरकार ने ही कांगड़ा के टाण्डा में सरकारी क्षेत्र में मेडिकल कालेज एवं अस्पताल खोला है, जिससे लोगों को उनके घरों के समीप बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हो रही हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश में व्यापक विकास हुआ है और इसका श्रेय कांग्रेस सरकारों को जाता है, विगत सवा साल में ही प्रदेश में 500 से अधिक स्कूल खोले या स्तरोन्तत किए गए हैं। इसके अलावा 14 काॅलेज भी खोले गए हैं। उन्होंने लड़कियों की शिक्षा को विशेष महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि जिस परिवार में लड़की पढ़ी-लिखी होगी, वह सारा परिवार और समाज शिक्षित होगा। वीरभद्र सिंह ने कहा कि भाजपा कभी भी हिमाचल हितैशी नहीं रही है। प्रदेश के गठन के समय से लेकर आज तक प्रदेश के विकास में तत्कालीन जनसंघ और वर्तमान भाजपा का कोई भी योगदान नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने हमेशा ही देश के लोगों को धर्म, क्षेत्र व सम्प्रदाय के नाम पर बांटने का काम किया है, जबकि कांग्रेस सदा ही सभी धर्मों के लोगों को साथ लेकर चलती आ रही है। उन्होंने जिला के लोगों का आह्वान किया कि वे भाजपा के किसी भी प्रकार के भ्रामक प्रचार से दूर रहें और इस क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी चौधरी चन्द्र कुमार को भारी मतों से विजयी बनायें।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *