Header ad
Header ad
Header ad

विकास योजनाओं के कार्यान्वयन के साथ जनससमयाओं का, समाधान भी होता है जि़ला परिषद हाउस में

29 जुलाई सोलन :जि़ला परिषद पंचायती राज प्रणाली का तीसरा ऊपरी स्तम्भ है। ग्राम पंचायत, पंचायत समिति तथा जि़ला परिषद तीनों की कार्यप्रणाली का अधिनियम में इस तरह से डिजाईन किया गया है कि तीनों एक दूसरे के पूरक हैं तथा किसी एक अंग के बगैर दूसरे की महता नहीं रह जाती है। जि़ला पंचायत अधिकारी एन.एस. नेगी ने बताया कि सोलन जि़ला परिषद में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष सहित कुल 17 सदस्य है जो 211 पंचायतों का प्रतिनिधित्व करते हैं। जिप हाऊस में 10 लाख रूपये तक की योजनाओं को मंजूरी दी जाती है। हर तीन माह बाद जिला परिषद की बैठकें होती हैं। इसके अलावा विशेष बैठकों का आयोजन भी किया जा रहा है। जि़ला परिषद सदस्य विभिन्न समितियों में भी सम्मिलित हैं जिनमें सामान्य स्टैण्डिग कमेटी, वित समिति, आॅडिट व योजना समिति, शिक्षा व स्वास्थ्य, सामाजिक न्याय समिति, कृषि व उद्योग समिति प्रमुख हैं।

सोलन जिप की चालु वित वर्ष के दौरान दूसरी त्रैमासिक बैठक विगत 26 जुलाई को सोलन में आयोजित की गई। बैठक में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व सदस्यों के अलावा सभी विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया। इस बैठक में जिप सदस्यों से प्राप्त उनके क्षेत्रों की समस्याओं व योजनाओं से सम्बन्धित कुल 78 मदों परविस्तारपूर्वक चर्चा की गई। जिप सदस्या आशा परिहार ने सोलन-जयनगर बस सेवा को वाया मांडला खरड् हट्टी चलाने का प्रस्ताव रखा, जिसे प्रबन्धक निदेशक शिमला को स्वीकृति हेतु भेजा गया। दूसरा प्रस्ताव भूमति बस स्टैण्ड से एक मोड़ आगे वर्षा शालिका निर्माण को लेकर था, जिसका प्राक्कलन लोक निर्माण विभाग द्वारा तैयार कर लिया गया है।

अजायव सिंह राणा ने अपने क्षेत्र से सम्बन्धित विभिन्न मुद्दे हाउस में चर्चा के लिये प्रस्तुत किये। नालागढ़-सवारघाट बस सेवा को बन्द करने के मसले पर उत्तर में कहा गया कि इस सम्बन्ध में प्रबन्धक निदेशक से विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है। दयोली-बरूणा में जलापूर्ति बहाल न होने पर अधिशाषी अभियन्ता ने बताया कि टैंक निर्माण का कार्य प्रगति पर है तथा जल्द ही पेयजल आपूर्ति बहाल कर दी जायेगी। इसी तरह जुखाड़ी-बनेड़ योजना का पंपिंग सेट बदलने के प्रस्ताव पर कहा गया कि नये सेट हेतु स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है।जुखाडी पंचायत के कुछ गांवों
में पानी की कमी के निवारण बारे कहा गया कि वन विभाग से अनापति प्रमाण पत्र प्राप्त किये बगैर कार्य नहीं हो सकता। हालांकि विकल्प का आश्वासन ज़रूर दिया गया। नंगल-ढका गांव की बागड़ी वस्ती में पेयजल पाईप पुरानी होने के मामले मंे विभाग ने नई पाईपें बदलने का आश्वासन दिया। ग्राम पंचायत खिल्लियां में सिंचाई योजना को चालु किये जाने के प्रस्ताव पर विभाग ने बिजली कनैक्शन मिलते ही पानी उपलब्ध करवाने की बात स्वीकारी है।

जिप सदस्य हुसन चंद ठाकुर द्वारा उठाये गये मद्दों पर चर्चा के दौरान कश्मीरपुल पंचायत में खराब बोरबेल को ठीक करने के उत्तर में अधिशाषी अभियन्ता ने बताया कि 46.55 लाख का प्राक्कलन सरकार को स्वीकृति हेतु भेजा गया है। गोल जमाला पंचायत के छः गांवों को पेयजल योजना का कार्य अगले एक माह में पूरा करने का आश्वासन दिया गया। रत्योड़ गांव में छूटे घरों को पानी की सुविधा प्रदान करने के लिये सवा नौ लाख रूपये का प्राक्कलन उपायुक्त को मंजूरी हेतु थेजा गया है। भोगपुर में 25 घरों को पेयजल सुविधा प्रदान करने हेतु टैंक निर्माण का मामला स्वीकृति हेतु भेजा गया है।

परमजीत सिंह सदस्य द्वारा कोटला बस्ती में हैण पम्प न लगने की शिकायत की गई जिसपर विभाग ने धनराशि उपलब्ध होते ही इसे स्थापित करने को कहा। सोनिया ठाकुर द्वारा कोफर गांव में हैण्ड पम्प लगाने की मांग की गई। इसके अलावा उन्होंने कुनिहार की बरड़ काॅलोनी में पेयजल पाईप का डाया बढ़ाने की मांग भी की। जाबल-जमरोट में नियमित पेयजल आपूर्ति का मामला भी उन्होंने उठाया। निर्मला देवी ने कुंहर पंचायत के गांव चडयांड़ में लगे विद्युत ट्रांसफार्मर को चालु करवाने की मांग रखी गई जिसके लिये विभाग से आश्वासन दिया। उन्होंने बलेरा में फेज तीन के तहत गांव सेल को सम्मिलित करने की मांग भी रखी जिसे विभाग ने अगले साल तक पूरा करने की बात कही। सदस्य जगदीश पंवर ने बठोल धर्मपुर गांव को अनुसूचित जनजाति गांव में दर्ज करवाने की मांग पर कल्याण अधिकारी ने बताया कि मामला गणना विभाग को भेजा गया है। सरला शर्मा जामली-जयनगर से मलौण सड़क के बीच वर्षा शालिका निर्माण का मामला उठाया। बिमला वर्मा ने कराड़ाघाट से कश्लोग तक सड़क की मुरम्मत करवाने की बात कही। इसपर विभाग ने बताया कि कार्य चल रहा है। इसके अलावा सदस्यों द्वारा पर्यटन स्थल कसौली के लिये पेयजल योजना निर्माण का मामला ज़ोर-शोर के साथ उठाया गया, जिसपर विभाग ने कहा कि मामला प्रदेश सरकार को स्वीकृति हेतु भेजा गया है।

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *