October 21, 2017

मगरमच्छ के जाल से मां ने बचाया बेटी को

बडोदरा।
गुजरात के पडरा शहर के पास एक गांव में अपनी बेटी की जान बचाने के लिए एक महिला ने गजब की हिम्मत दिखाई। थिकरिया मुबारक गांव में एक बड़े मगरमच्छ ने महिला की 19 वर्षीय बेटी को अपने जबड़े में कस लिया था। घटना शुक्रवार सुबह करीब 9.30 बजे की है, जब कांता वांकर विश्वामित्र (बेटी) नदी के किनारे कपड़े धो रही थी। तभी अचानक एक मगरमच्छ उसके पैर को जबड़े में जकड़ कर नदी में खींचने लगा। डर के मारे कांता जोर-जोर से चिल्लाने लगी। पास में ही खड़ी कांता की मां को चीख सुनाई दी, तो वह दौड़ कर आई और झट से बेटी का हाथ पकड़ लिया। महिला ने अपने दूसरे हाथ से पास में ही रखा कपड़े धोने वाला बैट उठाया और मगरमच्छ पर वार करने लगी। लेकिन, मगरमच्छ भी कहां मानने वाला था। फॉरेस्ट ऑफिसर ने बताया कि महिला मगरमच्छ को करीब 10 मिनट तक पीटती रही। तब जाकर कहीं मगरमच्छ ने कांता का पैर छोड़ा और गहरे पानी में चला गया। इस दौरान कांता को पैर में गहरा जख्म पहुंचा, जिसका इलाज कराने के लिए उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां उसकी हालत अब स्थिर है। रेंज फॉरेस्ट ऑफिसर अशोंक पांड्या ने बताया कि महिला ने मगरमच्छ पर हमला कर अपनी बेटी को बचाया।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *