October 19, 2017

बेेहतर कार्य प्रदर्शन के लिए हिमाचल अल्पसंख्यक वित्त निगम को पुरस्कार

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री धनीराम शांडिल ने आज यहां कहा कि हिमाचल प्रदेश अल्पसंख्यक वित्त एवं विकास निगम, शिमला को बेेहतर कार्य प्रदर्शन के लिए भारत सरकार के नैशनल हैंडिकेप्ड फाईनेंस एण्ड डवलप्मेंट कारपोरेशन (एनएचएफडीसी) द्वारा सर्वश्रेष्ठ आंका गया है। केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावर चंद गहलोत ने गत दिन दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय कांफ्रेस में हिमाचल प्रदेश को 5,54,000 रुपये का प्रोत्साहन पुरस्कार प्रदान किया है।
श्री धनीराम शांडिल ने कहा कि हिमाचल प्रदेश अल्पसंख्यक वित्त एवं निगम को अक्षम व्यक्तियों को सामाजिक व आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने तथा समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए प्रदान किए गए ऋण तथा ऋण की वापसी के बेहतर प्रदर्शन के लिए यह पुरस्कार हासिल हुआ है। उन्होंने राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त करने पर निगम के प्रबन्धन और कर्मचारी वर्ग को भी बधाई दी है।
उन्होंने बताया कि हि.प्र. अल्पसंख्यक वित्त एवं निगम द्वारा वर्ष 2000 से अब तक 1140 पात्र अपंग व्यक्तियों को स्वरोजगार आरम्भ करने के लिए 20 करोड़ रुपये के ऋण प्रदान किए गए। उन्होंने कहा कि विकलांग व्यक्तियों को अपना रोजगार स्थापित करने के लिए एक लाख से पांच लाख रुपये तक के ऋण पर 6 प्रतिशत, 5 लाख से 15 लाख रुपये तक का ऋण 7 प्रतिशत ब्याज दर पर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कम ब्याज दरों वाले ऋण से विकलांग व्यक्ति स्वरोजगार प्राप्त कर आत्मनिर्भर हो रहे हैं। उन्होंने अन्य पात्र लोगांे से भी निगम द्वारा आरम्भ की गई योजनाओं और कार्यक्रमों का लाभ उठाने का आग्रह किया है।
श्री शांडिल ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्तियों के सामाजिक एवं आर्थिक विकास के लिए अनेक योजनाएं आरम्भ की गई हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा विकलांग व्यक्तियों को 550 रुपये सामाजिक सुरक्षा पैंशन प्रदान की जा रही है, जबकि 70 प्रतिशत से अधिक विकलांगता वाले व्यक्तियों को 750 रुपये मासिक पैंशन दी जा रही है। विकलांग विद्यार्थियों को छात्रवृति प्राप्त करने के लिए आयसीमा की शर्त को भी हटा लिया गया है।
इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश अल्पसंख्यक वित्त एवं निगम के प्रबन्ध निदेशक श्री सी.एस. सिंह, प्रबन्धक श्री एस.एस. चैहान सहित निगम के अन्य वरिष्ठ अधिकारी और कर्मचारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *