Header ad
Header ad
Header ad

बाल देखभाल तथा संरक्षण नीति का अक्षरशः अनुपालन करे-उपायुक्त

 बाल उत्पीड़न से सम्बन्धित शिकायत टॉल फ्री न0 1098 पर करें

नाहन 20 नवम्बर-उपायुक्त सिरमौर श्री रितेश चौहान ने सिरमौर जिला के सभी
शिक्षण संस्थानों के प्रधानाचार्यो एवं मुख्याध्यापकों को निर्देश दिए है कि
वह अपने-अपने स्कूलों में यौन उत्पीड़न उन्नमूलन समिति का गठन करने के साथ-साथ
बाल देखभाल तथा संरक्षण नीति का अक्षरशः अनुपालना की जाए ताकि बच्चों का किसी
भी स्तर पर उत्पीड़न न हो सके।
उपायुक्त सिरमौर आज यहां जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे
थे। उन्होने बताया कि बच्चों के उत्पीड़न सम्बन्धी सूचना भेजने के लिए सरकार
द्वारा टॉल फ्री नम्बर 1098 स्थापित किया गया है जिस बारे सभी बच्चों को
जानकारी दी जाए ताकि किसी भी प्रकार की आपदा स्थिति में कोई भी बच्चा अथवा
व्यक्ति इस नम्बर को डायल करके बच्चों के उत्पीड़न बारे सूचना देने के अतिरिक्त
सहायता की गुहार कर सकता है।
उपायुक्त ने जिला में कार्यरत सभी एसडीएम तथा श्रम विभाग के अधिकारियों को
निर्देश दिए कि बाल मजदूरी पर अंकुश लगाने के लिए विशेष अभियान आरंभ करके
व्यवसायिक स्थलों, होटल ढ़ाबों का औचक निरीक्षण करके दोषी व्यक्ति के खिलाफ
आवश्यक कार्यवाही की जाए तथा इसकी अनुपालना रिपोर्ट दो मास में प्रस्तुत की
जाए। इसके अतिरिक्त चाईल्ड हैल्प लाईन संस्था द्वारा चलाए गए विशेष अभियान में
भी अपना रचनात्मक सहयोग दे। उन्होने प्राईवेट स्कूल बसो में ओवरलोडिंग का
निरीक्षण करने के लिए भी एसडीएम को निर्देश दिए।
उन्होने बताया कि बच्चों के अधिकारों के संरक्षण हेतू जहां राज्य स्तर पर बाल
अधिकार संरक्षण स्थापित किया गया है वहीं पर सिरमौर जिला में भी इस कार्य के
लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वाधान में तीन संस्थाऐं कार्य कर रही है
जिनमें चाईल्ड हैल्प लाईन, जेजे बोर्ड और बाल कल्याण समिति शामिल है। उन्होने
बताया कि चाईल्ड हैल्प लाईन के पास गत एक वर्ष के दौरान बाल उत्पीड़न से
सम्बन्धित 197 शिकायते प्राप्त हुई थी जिनमें से 157 का निपटारा कर दिया गया
हैॅ तथा शेष प्रगति पर है। उन्होने बताया कि जिला में चालू वित वर्ष के दौरान
महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आठ अनाथ बच्चों को फोस्टर केयर हेतू सम्पन्न
परिवारों में भेजा गया है जिन्हें पांच सौ रूप्ये प्रतिमाह फोस्टर केयर भत्ता
दिया जा रहा है जबकि गत वर्ष के दौरान ऐसे 12 बच्चों को यह सेवा प्रदान की गई
है।
बैठक में एसडीएम ज्योति राणा, सहायक आयुक्त दीप्ति कपूर, सीएमओं डा0
हरमोहिन्द्र सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुभाष किमोठी, दिनेश कुमार जिला
समन्वयक चाईल्ड हैल्प लाईन, नसीम  मोहम्मद दिदान सहित समिति के सदस्यों ने भाग
लिया।
Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)