October 22, 2017

बाला सुन्दरी मंदिर की शीघ्र बनेगी वैबसाइट-उपायुक्त

DSC_5139मंदिर न्यास द्वारा करवाया जाएगा सामूहिक विवाह का आयोजन

नाहन -सिद्धपीठ महामाया बालासुन्दरी मंदिर त्रिलोकपुर की शीघ्र ही
वैबसाइट तैयार की जाएगी जिसमें मंदिर से संबन्धित सभी सूचनाऐं एवं श्रद्धालुओं
को प्रदान की जा रही सुविधाओं के अतिरिक्त अन्य दर्शनीय स्थलों के बारे
जानकारी उपलब्ध होगी। यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर एवं आयुक्त मंदिर न्यास श्री
रितेश चौहान ने आज यहां मंदिर न्यास की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।
    श्री चौहान ने बताया कि मंदिर की वैबसाइट और ईआरपी तैयार करने के लिए कुशल
साफ्टवेयर कम्पनियों को आउटसोर्स करके इस कार्य को समयबद्ध पूरा किया जाएगा
ताकि देश विदेश से इस क्षेत्र का भ्रमण करने आने वाले पर्यटकों एवं
श्रद्धालुओं को मंदिर संबन्धी सभी जानकारी वैबसाइट के माध्यम से घर बैठे
उपलब्ध हो सके। इसके अतिरिक्त मंदिर का इंटरप्राईजिज रिसोर्स प्लान का
सोफ्टवेयर भी तैयार करवाया जाएगा ताकि एक ंही सोफ्टवेयर के माध्यम से सभी
कार्य किए जा सके।
    उपायुक्त ने बताया कि मंदिर न्यास के माध्यम से चैरिटेबल कार्यो को बड़े
पैमाने पर आरंभ किया जाएगा तथा न्यास द्वारा सामूहिक विवाह, मुण्डन संस्कार
इत्यादि कार्य भी करवाए जाएगे। उन्होने कहा कि निर्धन परिवारों की कन्याओं के
विवाह के लिए विशेष मूहुर्तो के अवसर पर सामूहिक विवाह का आयोजन किया जाएगा
इसके अतिरिक्त गरीब परिवार की कन्याओं को अधिकतम दान राशि 21 हजार रूपये तथा
अन्य सामान भी उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होने कहा कि यह राशि ऐसे निर्धन
परिवारों को मिलेगी जिनकी वार्षिक आय एक लाख से अधिक न हो। इसी प्रकार ऐसे
परिवारों को मृत्यु संस्कार के लिए भी 51सौ रूपये की राशि न्यास द्वारा उपलब्ध
करवाई जाएगी।
    श्री चौहान ने जानकारी दी कि न्यास द्वारा वृद्धाश्रम भी शीघ्र आरंभ किया
जाएगा जिसमें वरिष्ठ नागरिकों के लिए सभी आवश्यक सुविधाऐं उपलब्ध होगी।
उन्होने एसडीएम की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन करने के निर्देश दिए और कहा
कि कमेटी द्वारा प्रदेश व अन्य राज्यों में चल रहे वृद्धाश्रमों का भ्रमण करके
इस बारे गहण अध्ययन किया जाएगा ताकि न्यास द्वारा संचालित किए जाने वाले
वृद्धाश्रम में मापदंड़ों के अनुरूप सभी सुविधाऐं जुटाई जा सके। उन्होने कहा कि
न्यास द्वारा इस आश्रम को किसी ऐसी संस्था को सौंपने पर विचार किया जा सकता है
जिन्हें वृद्धाश्रम संचालित करने का अच्छा अनुभव हो।
    उन्होने कहा कि कालाअंब में त्रिलोकपुर सड़क पर न्यास द्वारा एक प्रवेश
स्वागत द्वार स्थापित किया जाएगा ताकि अन्य राज्यों से अपने वाले लोगो को
कालाअंब में मंदिर संबन्धी आवश्यक जानकारी प्राप्त हो सके। इसके अतिरिक्त
न्यास की और से इस सड़क पर सामाजिक स्लोगन भी प्रदर्शित किए जाएगे। उन्होने
बताया कि न्यास के कर्मचारियों को आवश्यक सभी प्रशिक्षण दिए जाएगे ताकि
कर्मचारियों का उपयोग बहुउददेश्य कार्य के लिए किया जा सके।
    उपायुक्त ने बताया कि कालाआंब से त्रिलोकपुर तक के क्षेत्र को स्वच्छ एवं
सुन्दर बनाने के लिए सेनिटेशन प्लान तैयार किया जाएगा और इस सड़क के किनारे
विभिन्न उद्योगों, दुकानों का कूडा कचरा साडा के वाहन द्वारा एकत्रित करके उसे
उचित स्थान पर प्रबन्धन हेतू ले जाया जाएगा ताकि यह क्षेत्र स्वच्छ एवं सुन्दर
और प्रदूषण मुक्त बन सके। उन्हाने बताया कि गरीब परिवारों के बच्चों को
प्रोफेशनल कोर्स करने के लिए भी आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिसकी अधिकतम
सीमा एक लाख होगी जबकि बीपीएल परिवारों को कुल फीस का 75 प्रतिशत हिस्सा न्यास
द्वारा वहन किया जाएगा।
    सहायक आयुक्त मंदिर न्यास एवं एसडीएम नाहन श्रीमती ज्योति राणा ने न्यास
के सभी सरकारी और गैर सरकारी सदस्यों का स्वागत करते हुए बताया कि वर्ष
2013-14 के दौरान कुल पांच करोड़ 81 लाख रूपये मंदिर में श्रद्धालुओं के माध्यम
से प्राप्त हुए जिनमें से तीन करोड़ 73 लाख रूपये की राशि कर्मचारियों के वेतन
और अन्य विकास कार्यो पर व्यय की गई।
    बैठक में सीएमओं डा0 हरमोहिन्द्र सिंह, डीएसपी मनमोहन, तहसीलदार आरडी
हरनोट के अतिरिक्त न्यास के सरकारी और गैर सरकारी सदस्यों ने भाग लिया।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *