October 19, 2017

बंट गए सारे प्लाट

रामपुर बुशहर —  आखिरकार अंतरराष्ट्रीय लवी मेला सजने लग गया है। व्यापारियों की पहल से मेला मैदान में सभी स्टाल आबंटित कर दिए गए। सुबह से ही मेला मैदान में व्यापारियों का खासा हुजूम इकट्ठा हो गया। दोपहर बाद नगर परिषद के अध्यक्ष व कार्यकारी अधिकारी सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। जिस तरह से मेले को लेकर संशय बना हुआ है, उसे देखकर ऐसा लग रहा था कि इस बार व्यपारी मेले में स्टाल लगाने को लेकर कम दिलचस्पी दिखाएंगे, लेकिन व्यपारियों ने इस मेले को बरकरार रखने के लिए खासा जोखिम उठा लिया। मेला मैदान को लेकर भले ही 11 नवंबर को फैसला आना है, लेकिन स्टाल आबंटित होने से इस बात पर पूर्ण विराम लग गया है कि इस बार मेला होगा या नहीं। जैसे-जैसे 11 नवंबर नजदीक आ रही है वैसे-वैसे मेले की तैयारियां पूरी हो रही हैं। जहां 11 नवंबर को मेला मैदान पर फैसला आना है, वहीं उसी दिन मेले का विधिवत उद्घाटन है। यह जरूर है कि कोर्ट का फैसला क्या आता है, लेकिन जिस तरह से व्यापारियों ने मेले को लेकर अपनी भागीदारी सुनिश्चित की है वह काबिलेतारीफ है। शाम तक मेला मैदान में लगने वाले सभी स्टाल का आबंटित कर दिया गया था। जैसे-जैसे 11 नवंबर नजदीक आ रही है वैसे-वैसे मेले की तैयारियां पूरी हो रही हैं।

कोर्ट तय करेगा कब तक चलेगा मेला

नगर परिषद ने कहा कि शनिवार को भी स्टाल का आबंटन होता रहेगा। इस बार मेले स्थल पर कायम हुए संशय पर नगर परिषद ने यह फैसला लिया कि स्टाल आबंटन पर 30 प्रतिशत की अग्रिम राशि ली जाएगी। 11 नवंबर को जिस तरह का फैसला कोर्ट द्वारा आता है, उसके बाद यह तय होगा कि मेला कब तक चलेगा। फिलहाल मेले को लेकर चल रही पूरी तैयारियां जोर पकड़ चुकी हैं।

फैसला जो भी हो, जरूर सजेगा उत्सव

खासकर स्टाल के आबंटन के बाद मेले का रुख थोड़ा स्पष्ट होे गया है। साथ ही उन लोगों ने भी राहत की सांस ली है, जो मेले के अस्तित्व को लेकर चिंतित थे। अब यह तय है कि फैसला चाहे हक में हो या नहीं, मेला 11 नवंबर को सजेगा जरूर। नगर परिषद ने कहा कि वह कोर्ट के किसी भी आदेश का पालन करने के लिए तैयार है, लेकिन उन्हें यह भी देखना है कि गरीब व्यपारी इस बीच पीसे नहीं। यही कारण है कि अभी स्टाल की कुल कीमत की कम राशि ही ली गई है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *