Header ad
Header ad
Header ad

प्रदेश में कौशल विकास भत्ते पर खर्च किए जाएंगे 100 करोड़ :रामलाल ठाकुर

15 जुलाई,बिलासपुर : प्रदेश में कौशल विकास भत्ते पर 100 करोड़ रु0 खर्च किए जाएंगे। यह जानकारी राज्य योजना विकास एवं बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के अध्यक्ष श्री रामलाल ठाकुर ने आज नैनादेवी चुनाव क्षेत्र के अंतर्गत गांव नकराणा में महिला मंडल भवन का उद्घाटन, घवांडल में कानूनगो एवं पटवार भवन का भूमि पूजन, भाखड़ा के माकड़ी में 4.50 लाख की लागत से बनने वाले पटवार सर्कल के भवन का शिलान्यास करने के बाद जनसभाओं को संबोधित करते हुए दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने चुनावों के दौरान वायदे पूरे करने की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा 25 से 35 वर्ष की आयु के बीच के जमा दो और उससे अधिक शिक्षित बेरोज़गार युवाओं को जिनके नाम कम से कम दो साल से रोज़गार कार्यालयों में दर्ज़ चले आ रहे हैं एक हजार प्रतिमाह की दर से कौशल विकास भत्ता दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा इस पर सौ करोड़ रु0 खर्च किए जा रहे हैं।
श्री रामलाल ठाकुर ने कहा मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह द्वारा 8 अप्रैल 2013 को नैनादेवी में कानूनगो व पटवार सर्कल के भवन के लिए 9 लाख की राशि उपलब्ध करवाई गई थी। उन्होंने राजस्व विभाग के अधिकारियों को इन भवनों के निर्माण कार्य जल्द करने के निर्देश भी दिए तथा कहा कि सात-आठ माह के भीतर इसका निर्माण कार्य पूरा कर ले। उन्होंने कहा कि पूर्व भाजपा सरकार द्वारा कानूनगो व पटवार भवन की नाममात्र आधारशिला चार वर्ष पहले रखी तथा इसके लिए कोई भी बजट का प्रावधान नहीं किया गया था। श्री ठाकुर एनएच-21 का उल्लेख करते हुए बताया कि भाजपा ने अपने पांच वर्ष के कार्यकाल में राष्ट्रीय उच्च मार्ग की मरम्म्त में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई तथा सड़क की मरम्मत के लिए भी कोई पग नहीं उठाए गए।
उन्होंने कहा कि जैसे ही कांग्रेस की सरकार सत्ता में आई तो भाजपा राष्ट्रीय उच्च मार्ग के खस्ताहाल को मुद्दा बनाकर बेवजह ही हो-हल्ला करने लगे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने केंद्र सरकार से बात कर राष्ट्रीय उच्च मार्ग की मुरम्मत के लिए 4.63 करोड़ स्वीकृत करवाए।
श्री रामलाल ठाकुर ने नैनादेवी लोनिवि विश्राम गृह तथा माकड़ी में प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित को 13.34 लाख राहत राशि भी वितरित की। उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश राहत नियमावली के तहत प्राकृतिक आपदा जैसे भूकंप, सूखा, बाढ़, बादल फटना, सड़क दुर्घटना, भूस्खलन, मकान गिरना, हिमपात व हिमखंड खिसकना, जंगल में आग, आगजनी, औद्योगिक व रासायनिक दुर्घटना, से ग्रस्ति व्यक्तियों या उनके परिजनों को राहत राशि प्रदान की जाती है।
श्री ठाकुर ने कहा कि रणधीर शर्मा वाईल्ड लाईफ सेंचुरी के बारे में भ्रामक प्रचार कर क्षेत्र की जनता को गुमराह कर रहे है। उन्होंने कहा कि रणधीर का यह बयान हास्यास्पद है कि रामलाल ने वन मंत्री रहते हुए नैनादेवी क्षेत्र को वाईल्ड लाईफ सेंचुरी के अंतर्गत लाने की अधिसूचना जारी की है। उन्होंने कहा कि यदि रणधीर के बयान में सच्चाई है तो अधिसूचना की प्रतियां लोगों में बांटे ताकि लोगों को वास्तविकता का पता चल सके।
श्री रामलाल ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा अब नैनादेवी के 48 गांवों को वाईल्ड लाइफ सेंचुरी से मुक्त कर दिया गया है किया गया है तथा यहां पर सड़को व अन्य मूलभूत सुविधाओं को मुहैया करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की गलत बयानबाजी करके क्षेत्र की जनता को गुमराह करके कुछ हासिल नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि इसकी वास्तविकता यह है कि पूर्व भाजपा सरकार द्वारा वर्ष 1999 में नैनोदेवी को वाईल्ड लाईफ सेंचुरी एरिया घोषित करने की अधिसूचना जारी की गई थी तथा इसकी प्रतियां लोगों में बांट दी गई हैं।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सस्ते राशन पर 275 करोड़ खर्च कर रही है तथा जो स्कूल भाजपा ने बंद किए थे उन्हें भी चालू कर दिया गया है।
इस अवसर पर एसडीएम बिलासपुर एमएल मेहता ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा प्राकृतिक आपदाओं से ग्रस्तिों की जानकारी दी।
इस अवसर पर मंदिर अधिकारी मदन शर्मा, अधिशासी अभियंता लोनिवि सीएल गुप्ता, अधिशासी अभियंता आईपीएच पीसी ठाकुर, एसडीपीओ नैनादेवी बीडीओ स्वारघाट अजया कुमारी, तहसीलदार स्वारघाट, रिटायर एक्सीएन कांशी राम, बीडीसी सदस्य रामलाल, बीडीसी सदस्य सबिता देवी भी उपस्थित थे। माकड़ी प्रधान नरेंद्र ठाकुर ने मुख्यातिथ का स्वागत तथा पंचायत से संबंधित मांगे भी रखी।

 

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *