Header ad
Header ad
Header ad

परिवहन मंत्री श्री जी.एस. बाली की 26 नवम्बर 2014 को शिमला में आयोजित प्रेस वार्ता के मुख्य बिन्दु

Transport Minister Sh. G.S.Bali addressing media persons at Shimla todayपरिवहन नीति-2014 में सड़क सुरक्षा और आम लोगों को सुविधाजनक

यातायात सुविधा पर विशेष बल

1 वैकल्पिक परिवहन को प्रोत्साहित किया जायेगा, जिसमें वाटर ट्रांसपोर्ट
भी शामिल है। वाटर ट्रांसपोर्ट गोबिन्दसागर तथा महाराणा प्रताप सागर में
चलाने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेजा है। प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में भी इस
ट्रांसपोर्ट को शुरू करने की मांग आ रही है। यह ट्रांसपोर्ट यातायात का काफी
सस्ता माध्यम है और पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।

2सभी निजी व निगम की वाहनों की पासिंग के समय वाहनों में सड़क
सुरक्षा, स्वच्छता और नशा निवारण के स्लोगन लिखना होगा अनिवार्य

3 निगम व निजी वाहनों के सभी चालकों को परिवहन विभाग के साथ सम्बद्व
करवाना अनिवार्य बनाया गया है। विभाग चालकों को विशेष बैज उपलब्ध करवाएगा।
आवश्यकता पर एक माह का विशेष प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

4 पहाड़ी क्षेत्रों में वाहन चलाने के लिये लाईसेन्स में हिल ड्राईविंग
एन्डोरसमेन्ट करवाना होगा अनिवार्य

5प्रदूषण वाले वाहनों पर रहेगी कड़ी नजर। पर्यावरण मित्र वाहनों से कम
कर वसूला जायेगा। अनुसूचित जाति/जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग बाहुल्य क्षेत्रों
में निजी वाहनों पर कर में विशेष रियायत दी जायेगी।

6 प्रदेश के गांव के अन्तिम छोर तक बस सुविधा उपलब्ध करवाई जायेगी।

7 बसों में महिलाओं, बुजुर्गों और विशेष व्यक्तियों को 50 प्रतिशत
सीटें आरक्षित रखना अनिवार्य।

8 किसानों के उत्पाद सुविधापूर्वक मण्डियों तक पहुंचाने के लिये गुडस
ट्रांसपोर्ट को सुनिश्चित बनाया जायेगा। युवाओं को अपरोक्ष रोजगार भी
उपलब्ध होगा।

9 प्रदेश के सभी बस अड्डों को अपग्रेड किया जायेगा। इनमें विशेषकर
महिलाओं की सुरक्षा के लिये सीसीटीवी कैमरे लगाए जांएगे।

10 वाहनों को जब्त करने की शक्तियां क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण को होगी,
न कि आरटीओ को

11 बोर्ड आॅफ डायरेक्टर्ज तथा राज्य परिवहन प्राधिकरण में एक महिला सदस्य
को नामित किया जायेगा।

12 सड़क सुरक्षा की जानकारी सभी लोगों को सेमीनारों और शिविरों के
माध्यम से दी जाएगी।

 

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)