Header ad
Header ad
Header ad

नगरोटा-बगवां विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न परियोजनाओं के लिए नाबार्ड से 35 करोड़ स्वीकृत- बाली

धर्मशाला, 14 नवम्बर: नगरोटा-बगवां विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न विकास
कार्यों के लिए लगभग 35 करोड़ रुपए की परियोजनाएं नाबार्ड से स्वीकृत की
गई हैं। यह जानकारी परिवहन, तकनीकी शिक्षा और खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं
उपभोक्ता मामले मंत्री, जी.एस.बाली ने आज कांगड़ा में विकास कार्यों की
समीक्षा के लिए अधिकारियों की बैठक के आयोजन के उपरांत दी।
        परिवहन मंत्री ने बताया कि विधानसभा क्षेत्र में निर्मित किए जा रहे
समस्त सम्पर्क मार्गों/सड़कों को समयबद्ध पूर्ण करने के निर्देश लोक
निर्माण विभाग के अधिकारियों को दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा
क्षेत्र के छूटी हुई बस्तियों को चरणबद्ध ढंग से सड़क मार्ग से जोड़ने के
लिए लोक निर्माण विभाग को प्राकक्लन तैयार करने के लिए कहा गया है तथा
जहां धन के अभाव से यह कार्य रूके पड़े हैं, ऐसे मार्गों को चिन्ह्ति कर
अनुमानित लागत के लिए समय पर मांग के लिए विभाग को दिशा-निर्देश दिए गए
हैं। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान टांडा में मरीजों
के साथ आने वाले तामीरदारों के लिए एक करोड़ रुपए की लागत से सराय भवन का
निर्माण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस भवन के निर्माण के लिए
नगरोटा-बगवां लोक कल्याण समिति 25 लाख रुपए उपलब्ध करवा रही है जबकि शेष
75 लाख रुपए प्रदेश सरकार इसके लिए उपलब्ध करवाएगी।
        श्री बाली ने बताया कि नगरोटा-बगवां में एक करोड़ 20 लाख रुपए की लागत से
बन रहे ओबीसी भवन के बाहरी कार्य के लिए 10 लाख रुपए की अतिरिक्त राशि
प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस भवन के कार्य को पूर्ण करने के
लिए दिसम्बर माह तक का समय विभाग को दिया गया है। इस भवन के बनने से
नगरोटा व आस-पास के क्षेत्र के लोगों को विवाह इत्यादि के कार्यों के लिए
उपयुक्त स्थान उपलब्ध होगा। नगरोटा-बगवां में 10 लाख रुपए की लागत से
बेरोजगार भवन का निर्माण भी किया जाएगा जिसमें बेरोजगार युवाओं के लिए
पुस्तकालय, जिम इत्यादि स्थापित किए जायेंगे ताकि बेरोजगार युवा रोजगार
प्राप्त के लिए परीक्षाओं की तैयारी व अपने समय का सदुपयोग कर सकें।
उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग को छोटी-छोटी परियोजनाओं को पूर्ण
करने के लिए अतिरिक्त धनराशि भी उपलब्ध करवा दी गई है।
        तकनीकी शिक्षा मंत्री ने जानकारी दी कि विधानसभा क्षेत्र के कुछ
पंचायतों में कम वोल्टेज की समस्या के निदान के लिए इस वर्ष के अंत तक 11
नए ट्रांसफार्मर स्थापित किए जा रहे हैं जिनमें लिल्ली, चाहड़ी, कवाड़ी,
दराटी, पटोला, बागन, जमूला, सुकरेहड़, टम्बर, हार, गुजरेहड़ा इत्यादि
सम्मिलित हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा के चंगर क्षेत्र की पुरानी पेयजल
परियोजनाओं के स्त्रोतों के संवर्द्धन पर 4 करोड़ 25 लाख रुपए व्यय किए जा
रहे हैं जिससे समलोटी, निहारगलू, सरोत्री, चंदरोट इत्यादि पंचायतों के
लोगों को लाभ प्राप्त होगा। उन्होंने कहा कि 13 करोड़ रुपए की लागत से
ग्राम पंचायत हटवास, ठारू व नगरोटा-बगवां शहर के लिए एक नई पेयजल योजना
निर्मित की जा रही है। इसके अतिरिक्त खाबा व कंडी पंचायत के लिए 90 लाख
रुपए पेयजल पर व्यय किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस वर्ष विधानसभा
क्षेत्र में 70 लाख रुपए व्यय कर 42 हैंडपंप स्थापित किए जा चुके हैं
जबकि 25 अतिरिक्त हैंडपंप स्थापित किए जाने प्रस्तावित हैं।
        इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस के महासचिव रघुवीर बाली, राकेश नागपाल, अजय
वर्मा सहित लोक निर्माण, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, विद्युत, खाद्य
आपूर्ति, सिविल सप्लाई व हिमाचल परिवहन निगम के अधिकारी उपस्थित थे।
Share

About The Author

Related posts