Header ad
Header ad
Header ad

धर्मशाला व साथ लगते अन्य पर्यटक स्थलों की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए क्लोज सर्किट कैमरा स्थापित करने का कार्य आरम्भः सुधीर

धर्मशाला, 15 जुलाई: धर्मशाला व इसके साथ लगते अन्य प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों का
आनंद स्थानीय व बाहर से आने वाले पर्यटक अब देर सायं तक बिना किसी असुरक्षा के
भय से ले पाएंगे। यह जानकारी शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री श्री
सुधीर शर्मा ने देते हुए बताया कि जिला मुख्यालय के सभी प्रसिद्ध पर्यटक
स्थलों में सुरक्षा को पुख्ता करने के उद्देश्य से क्लोज सर्किट कैमरा स्थापित
करने का कार्य आरम्भ कर दिया गया है।

     श्री शर्मा ने कहा कि सरकार की योजना है कि धर्मशाला व मैक्लोड़गंज में
आने वाले पर्यटकों की सुरक्षा को अधिक पुख्ता करने के लिए विभिन्न स्थलों
जिनमें नड्डी, फरसेटगंज, मैक्लोड़गंज, भागसूनाग, दलाईलामा मन्दिर, कोतवाली,
कचहरी, खनियारा चौक इत्यादि सभी छोटे-बड़े पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण
स्थलों में इस प्रकार के कैमरे स्थापित किए जाने प्रस्तावित है। उन्होंने कहा
कि इस कड़ी के प्रथम चरण में यातायात की दृष्टि से अधिकतम व्यस्त स्थलों पर
कैमरे स्थापित करने का कार्य को आरम्भ कर दिया गया है तथा धर्मशाला के कचहरी
अड्डा चौक, कोतवाली बाजार, खड़ा डंडा मार्ग के अतिरिक्त राष्ट्रीय राजमार्ग पर
मटौर चौक व गगल चौक में इस प्रकार के चार-चार कैमरे स्थापित किए जा रहे हैं।
इनका सीधा प्रसारण एवं नियंत्रण पुलिस नियंत्रण कक्ष में जोड़ा गया है ताकि
किसी भी प्रकार की संदिग्ध गतिविधि के घटित होने की सूचना अविलंब नजदीक के
पुलिस पोस्ट को दी जा सके।
    शहरी विकास मंत्री ने बताया कि सरकार के इस प्रयास से स्थानीय निवासी भी
स्वयं को अब और अधिक सुरक्षित अनुभव करेंगे। महिलाएं एवं बच्चे किसी भी समय
बिना भय के देर-सवेर शिक्षा एवं अन्य घरेलू कार्यों को करने हेतु सहजता से आ
जा सकेगें। उन्होंने बताया कि इस प्रयास से मोटर वाहन अधिनियम का उल्लंघन करने
वाले तत्वों पर भी नियंत्रण करने में स्थानीय पुलिस प्रशासन को सहयोग मिलेगा।
जिला मुख्यालय में चोरी, लूटपाट इत्यादि घटनाओं पर अंकुश लगाने में भी यह
कैमरे कारगर भूमिका निभाएंगे।
     श्री सुधीर शर्मा ने कहा कि उनका ध्येय धर्मशाला व मैकलोड़गंज क्षेत्र को
विश्व के समस्त प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों के समरूप विकसित एवं सुविधाजनक बनाना
है। इसके लिए वर्तमान सरकार प्रयासरत है। इन क्षेत्रों में जहां बेहतर आवागमन
की सुविधा की व्यवस्था की जा रही है वहीं साहसिक पर्यटन को बढ़ावा दिया जा रहा
है। यहा आने वाले पर्यटकों की संख्या में बढ़ौतरी हो इसके लिए क्षेत्र में दो
रज्जू मार्गोें का निर्माण आरम्भ करवाया जा रहा है। जिसमें से हिमानी चामुण्डा
रज्जू मार्ग का शिलान्यास कर दिया गया है।
Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)