Header ad
Header ad
Header ad

धर्मशाला में पेयजल पर व्यय किए जा रहे हैं 40 करोड़ रुपए- सुधीर


धर्मशाला, 05 जुलाई - विधानसभा क्षेत्र धर्मशाला के अंतर्गत पेयजल की 20 से भी
अधिक योजनाओं का कार्य प्रगति पर है जिनपर अनुमानित 40 करोड़ रुपए व्यय किए जा
रहे है।। सिंचाई की चार योजनाओं पर धर्मशाला में 2.15 करोड़ रुपए व्यय किए जा
रहे हैं। शहरी विकास एवं आवास मंत्री सुधीर शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार
स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों
में प्रदेश की विकास आवश्यकताओं, जल उपलब्धता, जल प्रयोग और राष्ट्रीय स्तर पर
नीति में बदलाव के अनुरूप पुरानी नीति में संशोधन करके नई ‘‘राज्य जल नीति’’
के तहत कार्य कर रही है। प्रदेश में 53,604 बस्तियों में से 29,911 बस्तियों
को 70 लीटर प्रति व्यक्ति की दर से प्रतिदिन जल उपलब्ध करवाया जा रहा है। अगले
वित वर्ष में 2500 बस्तियों को पेयजल उपलब्ध करवाने का लक्ष्य रखा गया है।
श्री सुधीर शर्मा ने धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र का ब्यौरा देते हुए बताया कि
अल्पावधि में ही धर्मशाला की विभिन्न पंचायतों में 90 से भी अधिक हैंडपंप
स्थापित किए गए हैं जिनमें 40 से अधिक हैंडपंप विद्युत मोटरों से जुड़े हैं,
जिनपर लगभग 1.70 करोड़ रुपए व्यय किए गए हैं। पासू, घणा, दाड़ी, कनेड व चैतड़ू
आदि गांवों में 45 लाख की लागत से स्थापित नलकूपों की चर्चा करते हुए उन्होंने
कहा कि 108 लाख रुपए की लागत से निर्मित पेयजल योजना हरिजन बस्ती योल व साथ
लगते गांवों को जल उपलब्ध करवा रही है।
श्री सुधीर शर्मा ने बताया कि धर्मशाला शहर एवं राम नगर और श्याम नगर के
विभिन्न नालों के तटीयकरण के लिए 29 करोड़ रुपये व्यय किए जायेंगे। इसके लिए
तकनीकी स्वीकृति भी प्राप्त हो चुकी है।
नाबार्ड से स्वीकृति के लिए भेजी गई 77.02 लाख रुपए की सुक्कड़ पेयजल योजना तथा
67.12 की लागत से निर्मित होने वाली फतेहपुर, सिद्धपुर होडल पेयजल योजना का
उल्लेख करते हुए शहरी विकास मंत्री ने कहा कि 208.20 लाख रुपए से तैयार होने
वाली दाड़ी-बड़ोल पेयजल योजना को स्वीकृति के लिए नाबार्ड के लिए भेजा है जिसकी
शीघ्र स्वीकृति मिलने की संभावना है।
श्री सुधीर शर्मा ने बताया कि गांव नरवाणा खास, तंगरोटी व साथ लगते अन्य
गांवों के पेयजल स्त्रोतों के सुधार हेतु 79.63 लाख स्वीकृत करवाये जा चुके
हैं जबकि रसान, सिद्धबाड़ी की छूटी हुई बस्तियों को पेयजल उपलब्ध करवाने को
45.58 लाख रुपए की राशि स्वीकृत करवाई गई है।
शहरी विकास मंत्री ने इस अवसर पर बताया कि पेयजल योजना धर्मशाला के सुधार हेतु
शहरी विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा 29.73 करोड़ रुपए स्वीकृत हुए हैं,
जिसका कार्य प्रगति पर है। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में सिंचाई एवं जन
स्वास्थ्य विभाग के विश्राम गृह के लिए 94.61 लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं।
धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र की विकास गाथा की जानकारी देते हुए सुधीर शर्मा ने
कहा कि अनुसूचित जनजाति बाहुल्य गांव पंजलेहड़ व भाल ग्राम सकोह तथा सराह हेतु
58.39 लाख रुपए की पेयजल योजना का कार्य पूर्ण प्रगति पर है।
Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)