Header ad
Header ad
Header ad

तीन दिन से नहीं जा रही करशालाबाग बस, 5 पंचायतों के सैंकड़ों लोगों को 11 किलोमीटर पैदल करना पड़ रहा सफर

दविन्द्र ठाकुर आनी । आनी खंड के रघुपुर इलाके के करशालाबाग के लिये पिछले तीन दिनों से बस ना जाने से ग्रामीणों में रोष है। ग्रामीणों का आरोप है कि यह बस सेवा पीडब्ल्यूडी की लापरवाही के चलते दो नवम्बर के बाद सेरी से आगे नहीं जा पाई है। उल्लेखनीय है कि परिवहन निगम के रामपुर डिपों की आनी.से करशालाबाग वाया कुठेढ़ बस सेरी से आगे नहीं जाने के कारण आनी खंड के दूरदराज रघुपुर क्षेत्र की बिशखाधारएलगौटीएफन्नौटीएकरशेईगाड और टकरासी आदि पांच पंचायतों के सैंकड़ों लोगों को कई परेशानियोंं का सामना करना पड़ रहा है। लगौटी पंचायत के दयाल सिंहएदेवेंद्र कुमार सहित सैंकड़ों लोगों का कहना है कि सेरी से बिशखाधार को नई सम्पर्क सडक़ का कार्य इन दिनों जोरों पर है। जिसका मलबा गिरकर करशालाबाग सडक़ पर आ रहा है और सडक़ बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुकी है। जिसमें वाहनों का चलना खतरे से खाली नहीं है। जिसके कारण परिवहन निगम ने सेरी से आगे बस भेजने से मनाकर दिया है।
ग्रामीणोंं का आरोप है कि उनहोंने लोकनिर्माण विभाग के एसडीओ सहित कई अन्य लोगों को समस्या से अवगत करवाया है और इसे जल्द दूर करने का आग्रह भी किया। लेकिन समस्या को दूर करने के बजाये विभागिय अधिकारियों ने ग्रामीणों के फोन तक उठाने बंद कर दिये हैं। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि पीडब्ल्यूडी विभाग की ढिलाई के कारण उन्हें हर रोज सेरी से आगे करीब 11 किलोमीटर या तो पैदल या फिर टैक्सी चालकों को भारीभरकम किराया देकर गंतव्य स्थान तक पहुंचना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने लोक निर्माण विभाग से गुहार लगाई है कि उनकी समस्या का जल्द निपटारा किया जाये।
इस बारे में अडड़ा ईंचार्ज आनी तारा चंद वर्मा का कहना है कि आनी से करशालाबाग वाया कुठेढ़ बस दो नवम्बर को सेरी से आगे सडक़ के क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण नहीं जा सकी है। जबतक सडक़ दुरूस्त नहीं हो जाती बस को सेरी से आगे करशालाबाग भेज पान सम्भव नहीं है।
जबकि पीडब्ल्यूडी के आनी के एसडीओ पवनराणा ने कहा कि सेरी से बिशखाधार सडक़ के निर्माण के कारण ही सडक़ क्षतिग्रस्त हुई है। निर्माणाधीन सडक़ का मलबा करशालाबाग सडक़ पर ही गिरेगा। लेकिन अब केवल एक या दो दिन का कार्य बाकि है उसके बाद करशालाबाग सडक़ मार्ग को रिपेयर कर चालू कर दिया जायेगा।

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)