Header ad
Header ad
Header ad

ड्रग माफिया के खिलाफ चलाया जाएगा राज्य स्तरीय अभियानः वीरभद्र सिंह

शिमला 08 सितम्बर, 2015:

मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश में ड्रग माफिया के विरूद्ध राज्य स्तरीय अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने सीमावर्ती क्षेत्रों में कार्यरत कानून कार्यान्वयन एजेंसियों से और सतर्कता के साथ नशे के धंधे में संलिप्त लोगों पर शिकन्जा कसने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राष्ट्र विरोधी तत्वों की युवाओं पर नजर रहती है और वे उन्हें नशाखोरी में धकेलकर समाज की भावी पीढ़ी को खोखला करने की कोशिश करते हैं। लेकिन, हिमाचल में किसी कीमत पर यह नहीं होने दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री आज कांगड़ा जिले के इन्दौरा विधानसभा क्षेत्र के डाह-कुलाड़ा में एक विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व, उन्होंने डाह-कुलाड़ा में 106 करोड़ रुपये के लागत से बनने वाले औद्योगिक नगर की आधारशिला रखी।
उन्होंने पड़ोसी राज्यों की सीमाओं से लगती सड़कों का हर कीमत पर रखरखाव किए जाने की आवश्यकता पर बल देते हुए लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को दिशा-निर्देशों की अनुपालना के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान में 19 हजार करोड़ रुपये के निवेश के साथ 137 बड़े, 367 मंझोले और 40100 लघु एवं सूक्ष्म औद्योगिक इकाइयां स्थापित की गईं हैं, जिनमें 286500 लोगों को रोजगार उपलब्ध हुआ है। प्रदेश सरकार राज्य के युवाओं को रोजगार के अधिक अवसर उपलब्ध करवाने के दृष्टिगत प्रदेश में औद्योगिक क्षेत्र के विस्तार पर बल दे रही है।
श्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार नियमों को सरल बनाकर बड़े औद्योगिक घरानों को प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित करने के लिए प्रयासरत है। प्रदेश सरकार उद्यमियों को आॅनलाईन अदायगी एवं पंजीकरण तथा इंटरनेट के माध्यम से सभी विभागों की जानकारी आॅनलाईन उपलब्ध करवाने व अन्य इस तरह की सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत है। प्रदेश सरकार ने उद्यमियों को अनेक प्रोत्साहन प्रदान किए हैं और उपदानित दरों पर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित बनाने के साथ-साथ औद्योगिक इकाइयों के लिए आगामी पांच वर्षों के लिए एक समान विद्युत शुल्क रखने के अतिरिक्त इनपुट पर प्रवेश शुल्क को दो प्रतिशत से घटाकर एक प्रतिशत करने के अतिरिक्त फलोर एरिया रेशो इत्यादि को बढ़ाया गया है।
उन्होंने कहा कि स्टैम्प डियूटी पर 50 प्रतिशत उपदान दिया जा रहा है तथा पूंजी निवेश उपदान योजना को 2013 से 2017 तक बढ़ाया गया है और सूक्ष्म, मध्यम एवं लघु औद्योगिक इकाईयों के लिए उपदान राशि को 30 लाख से बढ़ाकर 50 लाख किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में औद्योगीकरण को बढ़ावा देने के लिए निवेश प्रोत्साहन सैल और औद्योगिक परामर्शदाता परिषद का गठन किया गया है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में और अधिक संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए सरकार ने अनेक रज्जू मार्ग परियोजनाएं आरम्भ करने की घोषणाएं की हैं ताकि पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं को सुविधा मिल सके।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में तीव्र गति से विकास सुनिश्चित हुआ है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में 34500 किलोमीटर सड़क मार्ग, 15500 से अधिक विद्यालय, 91 कालेज, 105 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, इंजीनियरिंग कालेज और अनेक स्वास्थ्य संस्थान हैं। इसके अतिरिक्त, प्रदेश में हमीरपुर, चम्बा और सिरमौर जिलों में तीन नए चिकित्सा महाविद्यालय खोेले जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक घर में विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित बनाई गई है।
उन्होंने लोगों से धर्म और क्षेत्रवाद के आधार पर बांटने का प्रयास करने वालों से सावधान रहने का आह्वान करते हुए कहा कि समग्र हिमाचल एकता के सूत्र में बंधा है और वह साम्प्रदायिक ताकतों को प्रदेश को बांटने नहीं देंगे।
मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के किसानों की सुविधा के लिए डमटाल में सब्जि विपणन यार्ड के निर्माण की घोषणा की। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग और विद्युत उपमण्डल खोलने की मांग पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को इन्दौरा विधानसभा क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले सभी सम्पर्क मार्गों की मुरम्मत करने के निर्देश दिए। उन्होंने क्षेत्र में पशु चिकित्सा अस्पताल खोलने की घोषणा की।
उद्योग मंत्री श्री मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने ऊना जिला के पंडोगा और कांगड़ा जिले के कन्दरौड़ी में औद्योगिक नगरों की आधारशिलाएं रख कर अपना वायदा पूरा किया है। उन्होंने कहा कि कन्दरौड़ी के औद्योगिक नगर के लिए 106 करोड़ रुपये की धन राशि प्राप्त हो चुकी है। हालांकि इसे पूरा करने के लिए 139 करोड़ रुपये की आवश्यकता होगी। उन्होंने कहा कि सोलन जिले में एक और औद्योगिक नगर स्थापित किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि श्री वीरभद्र सिंह प्रदेश के सर्वांगीण विकास में विश्वास रखे हैं और क्षेत्र में छौंछ खड्ड के तटीकरण और औद्योगिक नगर बसाने के दो महत्वपूर्ण परियोजनाएं क्षेत्र मंे आरम्भ की हैं।
स्थानीय विधायक श्री मनोहर धीमान ने मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्य मेहमानों का स्वागत किया। उन्होंने इन्दौरा के लिए लोक निर्माण विभाग उपमण्डल की मांग के

साथ-साथ इन्दौरा में विद्युत उपमण्डल और डमटाल में सब्जी मण्डी के निर्माण का आग्रह किया।
इन्दौरा खण्ड कांग्रेस अध्यक्ष श्री ओम प्रकाश कटोच ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और क्षेत्र की मांगे रखीं।
मुख्य संसदीय सचिव श्री जगजीवन पाल, विधायक श्री संजय रत्न, श्री अजय महाजन व श्री पवन काजल, पूर्व विधायक श्री बोध राज, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं वित्त निगम के अध्यक्ष श्री चन्द्र कुमार, शिक्षा बोर्ड की अध्यक्ष श्री बलवीर तेगटा, हिमाचल प्रदेश वन विकास निगम के उपाध्यक्ष श्री केवल सिंह पठानिया, उद्योग विभाग के निदेशक श्री राजेन्द्र सिंह, उपायुक्त श्री रितेश चैहान, पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक दुल्लर, उच्च शिक्षा निदेशक श्री दिनकर बुड़ाथोकी सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे।
.0.

 

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *