Header ad
Header ad
Header ad

’डेक्कन एयरवेज़ ने किया हिमाचल प्रदेश में हवाई उड़ाने आरम्भ करने का प्रस्ताव

डेक्कन ऐयरवेज के प्रबन्ध निदेशक कैप्टन गोपीनाथ ने ‘इन्वेस्टर मीट’ के दौरान
आज कर्नाटक के बैंगलुरू में मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह से भेंट की। कैप्टन
गोपनाथ ने मुख्यमंत्री से दिल्ली तथा चंडीगढ़ से हिमाचल प्रदेश के शिमला,
कुल्लू और धर्मशाला के लिए वायु उड़ानें आरम्भ करने का प्रस्ताव रखा।
उन्होंने शिमला से दिल्ली के लिए तीन तथा चंडीगढ़ से कुल्लू के लिए दो उड़ाने
प्रतिदिन आरम्भ करने का प्रस्ताव प्रस्तुत किया। उन्होंने विश्वास दिलाया कि आवश्यक
औपचारिकताएं पूर्ण करने के उपरांत यह सेवाएं एक महीने की भीतर आरम्भ कर दी
जाएगी, जिसके लिए हिमाचल सरकार ने उन्हें सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की।
डेक्कन ऐयरवेज के प्रस्ताव पर गहन रूचि लेत हुए मुख्यमंत्री ने उन्हें शीघ्र प्रस्ताव
प्रस्तुत करने को कहा ताकि सरकार उसका अध्ययन कर सके क्योंकि यह प्रदेश में
हवाई सेवाओं को बढ़ाने में लाभप्रद है।
भारतीय उद्योग संगठन के सहयोग से आयोजित इन्वेस्टर मीट के माध्यम से बड़े
औद्योगिक घराने प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आगे आये हैं और
अन्तर्राष्ट्रीय सांझीदारों ने हिमाचल प्रदेश को एक पंसदीदा गंतव्य के रूप में
स्वीकार किया है।
मुख्यमंत्री ने सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश करने के इच्छुक उद्योगपतियों
से बातचीत के दौरान कहा कि सरकार हिमाचल प्रदेश में आईटी पार्क विकसित करना
चाहती है, जिसके लिए शिमला पहुंचने पर शीघ्र कार्य आरम्भ कर दिया जाएगा।
टीवीएस के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री के साथ बातचीत के दौरान कहा कि टीवीएस
मोटर कम्पनी लिमिटेड प्रदेश में इंजन मैनुफेक्चरिंग उद्योग को बड़े पैमाने पर
लगाने तथा अपनी इकाई को विस्तार देने की इच्छुक है। उन्होंने कहा कि वे
प्रदेश में अपनी औद्योगिक इकाई का विस्तार तथा अतिरिक्त निवेश करना चाहते
हैं। उन्होंने प्रदेश सरकार के सहयोग के लिए प्रसन्नत व्यक्त करते हुए कहा कि वे
300 करोड़ रुपये से अधिक निवेश की इच्छुक है। उन्होंने टीवीएस स्कुटीज का
बड़े पैमाने पर इंजन निर्माण का उद्योग आरम्भ करने का विश्वास दिलाया। टीवीएस
ने सामूहिक सामाजिक उत्तरदायित्व के अन्तर्गत सामाजिक कल्याण गतिविधियां आरम्भ
करने पर भी अपनी वचनबद्धता जाहिर की। मुख्यमंत्री ने उन्हें उनकी पहल पर हर संभव
सहयोग का आश्वासन दिया।
करलाॅन के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक श्री सुधाकरपाई ने कहा कि कम्पनी गर्म तथा
ठंडे मैट्रसिस इकाई आरम्भ करने की इच्छुक है। उन्होंने कहा कि उनकी हिमाचल
प्रदेश में 250 करोड़ रुपये से अधिक निवेश करने की योजना है। उन्होंने
शिक्ष क्षेत्र में भी निवेश की संभावनाओं पर विचार करने का आश्वासन दिया।
टोयटा के उपाध्यक्ष श्री विक्रम किरलोस्कर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश निवेश के लिए
सर्वोत्तम स्थान है। उन्होंने प्रदेश में निवेश करने की इच्छा जाहिर की।
अन्य निवेशकों में विप्रो कंज्यूमर केयर और लाइटनिंग प्लांट ने भी 500
करोड़ रुपये से अधिक के निवेश व विस्तार की इच्छा जाहिर की। उन्होंने प्रसन्नता
व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री का राज्य में उनकी इकाई के लिए सहयोग करने एवं
वचनबद्धता को पूरा करने के लिए आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने विपरो को सूचना
प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश के लिए आमंत्रित किया। विपरो के प्रतिनिधियों
ने प्रस्ताव प्रस्तुत करने का आश्वासन दिया।
इनवरब्रास इलैक्ट्रिकल प्राईवेट लिमिटेड के निदेशक श्री राम प्रसाद, जो हिमाचल
प्रदेश के नूरपुर के रहने वाले हैं तथा सेना एवं जल सेना पोतों के लिए
‘स्वीच ओवर स्वीचीज़’ निर्माण के व्यवसाय से जुड़े हैं ने हिमाचल में व्यवसाय
आरम्भ करने की इच्छा जाहिर की। उद्योग मंत्री ने कांगड़ा के कंदरौरी से आरम्भिक
तौर पर इसे शुरू करने का प्रस्ताव दिया, क्योंकि यह क्षेत्र उद्यमियों के लिए तेजी
से औद्योगिक क्षेत्र बनकर उभर रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार इस कदम का स्वागत
करेगी।
वाल्वो इंडिया लिमिटेड तथा डेल कंप्यूटर के प्रतिनिधियों ने हिमाचल प्रदेश
में निवेश की इच्छा जाहिर की। मुख्यमंत्री ने डेल के प्रतिनिधियों को प्रदेश
में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश का आग्रह करते हुए कहा कि सरकार
हिमाचल में सूचना प्रौद्योगिकी पार्क स्थापित करने लिए उन्हें हर संभव सहायता
उपलब्ध करवाएगी।
अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री वी.सी. फारका, प्रधान सचिव, राजस्व श्री तरूण श्रीधर, प्रधान
सचिव, वित्त डाॅ. श्रीकांत बाल्दी, प्रधान सचिव, ऊर्जा श्री एस.के.बी.एस. नेगी,
प्रधान सचिव, उद्योग एवं श्रम श्री आर.डी. धीमान, उद्योग विभाग के निदेशक श्री
राजेन्द्र सिंह, सलाहकार उद्योग श्री राजेंद्र चैहान तथा पयर्टन विभाग के निदेशक
श्री मोहन चैहान भी बैठक में उपस्थित थे।

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)