October 18, 2017

’ जी.आर. मुसाफिर राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित ’

हिमाचल प्रदेश योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री जी. आर. मुसाफिर को आज नई
दिल्ली में ग्रामीण व पिछड़े लोगों की निरन्तर सेवा करने और उनके जीवन स्तर
में सुधार लाने की दिशा में सराहनीय कार्य करने के लिए राष्ट्रीय गौरव पुरस्कार
से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार उन्हें दिल्ली स्थित एक ढीजजचरूध्ध्अग्रणीध्झ
स्वयंसेवी संस्था इंडिया इंटरनेशनल फें्रडशिप सोसायटी द्वारा आर्थिक विकास एवं
राष्ट्रीय एकता पर आयोजित एक राष्ट्रीय स्तरीय संगोष्ठी में प्रदान किया गया।

संगोष्ठी में उपस्थित प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए श्री जी. आर.
मुसाफिर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में पिछले चार दशकों में विकास के हर क्षेत्र
में अभूतपूर्व प्रगति हुई है। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि उन्हें
विभिन्न पदों पर रहते हुए पिछले कईं वर्षों से सिरमौर जैसे पिछड़े जिले के
लोगों की सेवा करने और उनके जीवन स्तर में सुधार लाने का अवसर प्राप्त हुआ
है जिसके लिए वह सदैव अपने आप को भाग्यशाली समझते हैं।

हिमाचल प्रदेश में वर्तमान मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह के कुशल नेतृत्व में
प्रदेश में हो रहे चहुंमुखी विकास का उल्लेख करते हुए श्री जी. आर. मुसाफिर
ने कहा कि यह प्रदेश आज पहाड़ी प्रदेशों में एक आदर्श राज्य के रूप में उभरा
है जिसका श्रेय वर्तमान नेतृत्व को जाता है। उन्होंने कहा कि आज हिमाचल प्रदेश
पर्यटकों के साथ-साथ औद्योगिक घरानों के आकर्षण का केन्द्र भी बना है
क्योंकि इस प्रदेश को जहां प्रकृति ने स्वास्थ्यवर्धक जलवायु से नवाजा है वहीं
सरकार ने प्रदेश में बेहतर अधोसंरचनात्मक सुविधाएं सृजित की हैं। उन्हांेंने
कहा कि आज प्रदेश में लोगों के जीवन स्तर में भी बदलाव आया है और प्रति
व्यक्ति आय में भी व्यापक वृद्धि दर्ज की गई है।

राष्ट्रीय गौेरव पुरस्कार प्रदान करने के लिए संस्था का आभार व्यक्त करते हुए श्री
जी. आर. मुसाफिर ने राष्ट्रीय एकता तथा विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट सेवाएं
प्रदान करने वाले व्यक्तियों को प्रोत्साहित करने की दिशा में सराहनीय कार्य
करने के लिए संस्था के प्रयासों की प्रशंसा की।

इस अवसर पर तामिलनाडू के पूर्व राज्यपाल डा. भीष्मनारायण सिंह, पंजाब के पूर्व
राज्यपाल श्री ओ. पी. वर्मा, सी.बी.आई. पूर्व निदेशक सरदार जोगिन्दर सिंह के
अलावा मंडी के सांसद श्री राम स्वरूप शर्मा भी उपस्थित थे।

 

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *