Header ad
Header ad
Header ad

जन समस्याओं को गम्भीरता से ले अधिकारी-दयाल प्यारी

DSCN3052 बीआरजीएफ के तहत 12 करोड़ की राषी 923 कार्यो के लिए आबंटित

नाहन 18 नवम्बर- जिला परिषद अध्यक्ष श्रीमती दयाल प्यारी ने अधिकारियों का
आहवान किया कि वह परिषद के सदस्यों द्वारा बैठक में उठाए गए जनहित मामलों को
गंभीरता से ले और उनका निपटारा समयबद्ध करें ताकि बैठकों में बार-बार इन
मामलों की पुनरावृति न हो। उन्होने कहा कि सरकार ने पंचायती राज को वित्तीय
एवं प्रशासनिक शक्तियां प्रदान करके सुदृढ़ किया गया है ताकि लोगों की मूलभूत
समस्याओं का घरद्वार पर निदान हो सके।
अध्यक्ष श्रीमती दयाल प्यारी आज यहां जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक की
अध्यक्षता कर रही थी। उन्होने जानकारी दी कि सिरमौर जिला के विकास के लिए
सरकार द्वारा पिछडा क्षेत्र अनुदान निधि योजना स्वीकृत की गई है जिसके तहत इस
वर्ष प्रथम चरण में 12 करोड़ रूपये की राशी प्राप्त हो गई है जिसे विभिन्न
पंचायतों में चल रहे 923 विकास कार्यो के कार्यान्वयन के लिए आबंटित कर दिया
गया है।
 उन्होने बताया कि इस राशी में से एक करोड़ 82 लाख रूपये की राशी नाहन विकास
खण्ड में 157 विकास कार्यो के लिए, एक करोड़ 40 लाख की राशी पच्छाद ब्लॉक में
164 कार्यो के लिए, एक करोड़ 65 लाख की राशी संगडाह ब्लॉक के 104 विकास कार्यो
के लिए, एक करोड़ 38 लाख की राशी शिलाई ब्लॉक के 82 विकास कार्यो के लिए, एक
करोड़ 32 लाख की राशी राजगढ़ ब्लॉक में 129 विकास कार्यो के लिए, साढ़े तीन करोड़
की राशी पांवटा साहिब में चल रहे 281 विकास कार्यो के लिए आंबटित की गई है।
इसके अतिरिक्त साढे सात लाख की राशी नगर पंचायत राजगढ़ में छः विकास कार्यो के
लिए प्रदान की गईं है। उन्होने कहा कि स्वीकृत कार्यो में मुख्यतः पेयजल, सडक
ंनिर्माण, लघु सिंचाई, बीपीएल परिवारों के लिए गृह निर्माण, आंगनबाडी भवन,
चिकित्सा, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता इत्यादि कार्यो पर व्यय की जा रही
है।
श्रीमती दयाल प्यारी ने कहा कि 13वें वित आयोग के तहत प्रत्येक जिला परिषद
सदस्य द्वारा दस-दस लाख रूप्ये की कार्य योजनाओं के शेल्फ तथा उनके प्राकलन
तैयार कर 15 दिनों के भीतर जिला परिषद कार्यालय में जमा करवाऐ ताकि बजट का
प्रावधान किया जा सके। उन्होने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से आग्रह किया
कि प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना के तहत मडिधाट-सुल्तानपुर सडक के दूसरे चरण
के लिए बनाई जाने वाली सडक में आने वाली भूमि के मालिकों से समन्वय स्थापित
करके उन्हें भूमि को सरकार के नाम करने के लिए प्रेरित किया जाऐ ताकि सडक का
निमार्ण कार्य आरंभ किया जा सके।
अतिरिक्त उपायुक्त एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद श्री मनमोहन शर्मा
ने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य तथा विद्युत बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दिए
कि वह आपसी विभागीय बैठक करके जिला में लंबित पडी पेयजल योजनाओं को पुरा करे
ताकि लोगों को पेयजल की समस्या से निजात मिल सके। उन्होने विद्युत बोर्ड के
अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह ददाहू में वार्ड नम्बर-4 में बिजली की लाईन
को ठीक करने का कार्य एक सप्ताह के भीतर पूरा करना सुनिश्चित करें। उन्होने
अधिकारियों को विकास कार्यो की प्रगति रिपोर्ट समय पर भेजने के भी निर्देश दिए।
बैठक में जिला परिषद उपाध्यक्ष जगीरी राम, जिला परिषद सदस्य तथा विभिन्न
विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

 

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)