Header ad
Header ad
Header ad

जननी शिशु कार्यक्रम से 1096 को मिली सुरक्षा, महिलाओं को हमीरपुर जिला में मिल रही बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं

हमीरपुर, 30 जुलाई : मातृ मृत्यु तथा शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिये राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम आरम्भ किया गया है चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में हमीरपुर जिला में 23 लाख 45 हजार की राशि व्यय करके 1096 महिलाओं एवं शिशुओं को लाभाविंत किया गया है जबकि गत वर्ष इस योजना के तहत 96,03,603 रूपये व्यय कर 6221 महिलाओं तथा 1021 बच्चों को लाभान्वित किया जा चुका है।
यह जानकारी देते हुए उपायुक्त आशीष सिंहमार ने बताया कि इस योजना के तहत सभी महिलाओं को गर्भावस्था से प्रसव तक और प्रसव के उपरान्त 42 दिन तक मुफत चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है तथा शिशु के जन्म से एक वर्ष की आयु तक के बच्चों का नि:शुल्क उपचार किया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि हमीरपुर जिला में महिलाओं को स्वास्थ्य की बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने के दृष्टिगत इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना पायलट आधार पर आरम्भ की गई है, इस योजना के तहत प्रत्येक गर्भवती महिला के गर्भ धारण से प्रसव उपरान्तछ: माह तक 4 हजार रूपये की धन राशि दी जाती है जिसमें प्रथम और द्वितीय किश्तों में 15-15 सौ रूपये तथा तृतीय किश्त 1000 रूपये दी जाती है। । यह राशि 19 वर्ष या इससे अधिक आयु की महिलाओं को स्वास्थ्य पौषण से जुड़ी निर्धारित शर्तें पूरी करने पर प्रदान की जा रही है।
उन्होंने बताया कि मातृत्व सहयोग योजना के तहत जिला में गत वर्ष कुल 75,23,000 रूपये व्यय किया गया है। जिसमें 1780 महिलाओं को प्रथम किश्त के तहत 26 लाख 70 हजार रूपये , दूसरी किश्त में 1910 महिलाओं को 28 लाख 65 हजार रूपये तथा तीसरी एवं अन्तिम किश्त के रूप में 1988 महिलाओं को 19 लाख 88 हजार रूपये की मातृत्व सहयोग राशि वितरित की गई।

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *