October 17, 2017

चुनाव में आईपीएल की कुर्बानी

1386759761
धर्मशाला, 16 अप्रैल -हिमाचल में इस बार आईपीएल का खुमार न चढ़ पाने के कारण करोड़ों रुपए का नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है। साथ ही प्रदेश के क्रिकेट प्रेमियों को भी निराशा ही हाथ लगी है, जिसके कारण उन्होेंने राजनीति को खेलों पर हावी होने पर कड़ा विरोध किया है। आईपीएल सीजन-सात में कैंची लगने के बाद अब आगामी बड़े मैचों को धर्मशाला में करवाए जाने की मांग भी उठाई जा रही है। गौर हो कि इस बार प्रदेश सरकार व प्रशासन द्वारा सुरक्षा व्यवस्था की हामी न दिए जाने पर एचपीसीए को किसी भी मैच की मेजबानी नहीं मिल पाई है। वहीं खेल नगरी सहित प्रदेश भर के पर्यटन उद्योग को भी बड़ा धक्का लगा है। इस कारण प्रदेश की पर्यटन अर्थव्यवस्था को लगभग 300 करोड़ रुपए का बड़ा धक्का लगा है। होटल एसोसिएशन मकलोडगंज के अध्यक्ष ओंकार सिंह नैहरिया का कहना है कि आईपीएल के धर्मशाला में न होने से पर्यटक सीजन फीका हो गया है। उनका कहना है कि एक छोटी से दुकान से लेकर बड़े होटलों को बड़ा नुकसान हुआ है। उनका कहना है कि आगामी समय में राजनीति के हावी होने के बजाए बड़े मैचों के आयोजन धर्मशाला के खूबसूरत स्टेडियम में करवाए जाने चाहिए। वहीं, एचपीसीए द्वारा प्रदेश सरकार से बार-बार प्रस्ताव भेजने के बाबजूद सुरक्षा को हरी झंडी नहीं दी गई। क्रिकेट स्टेडियम धर्मशाला में अब तक आईपीएल के चार संस्करणों के मैच आयोजित किए जा चुके हैं। वर्ष 2010, 2011, 12 व 13 को आईपीएल के मैच करवाए जा चुके हैं। इसके साथ ही 27 जनवरी 2013 को इंग्लैंड व भारत के बीच खेला गया था।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *