Header ad
Header ad
Header ad

कांगड़ा में खोला जाएगा एडवांस ट्रेनिंग इन्स्टीच्यूटः बाली

धर्मशाला, 24 जुलाई- औद्योगिक प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके विद्यार्थियों को
व्यवसाय का उन्नत प्रशिक्षण प्रदेश में उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से जिला के
थाना बड़ग्रां में उन्नत प्रशिक्षण संस्थान (एडवांस ट्रेनिंग इन्स्टीच्यूट)
खोला जाएगा। यह जानकारी तकनीकी शिक्षा, परिवहन व खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति
मंत्री श्री जीएस बाली ने नगरोटा बगवां के चंगर में लगभग 4 करोड़ रूपये की लागत
से निर्मित औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान भवन बड़ोह (सरोत्री) का लोकार्पण करने
के उपरांत जनसभा को संबोधित करते हुए दी।
     श्री बाली ने बताया कि इससे पूर्व तकनीकी का उन्नत प्रशिक्षण प्राप्त
करने के लिए युवाओं को प्रदेश से बाहर जाना पड़ता था जिस कारण बहुत कम संख्या
में युवा इस प्रशिक्षण को प्राप्त कर पाते थे। उन्होंने बताया कि इसके लिए
प्रभावी ढंग से केन्द्र सरकार से मामला उठा कर इसकी स्वीकृति करवाई गई है तथा
इसके लिए सरकार ने 15 एकड़ भूमि का चयन भी उक्त पंचायत में कर लिया है।
     तकनीकी शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा दिया
जा रहा है। युवाओं को बेरोजगारी की समस्या से न जूझना पड़े इसके लिए नए
प्रशिक्षण संस्थान खोलने एवं पूर्व में चल रहे संस्थानों में प्रशिणार्थियों
की संख्या में बढ़ौतरी की गई है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश के 58
हजार युवा तकनीकी प्रशिक्षण ग्रहण कर रहे हैं। सरकार ने प्रत्येक विधानसभा
क्षेत्र में एक-एक बहुतकनीकी संस्थान उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है। गत दो
वर्ष छः माह के कार्यकाल के दौरान दो नए इंजीनियरिंग कॉलेज व पंाच बहुतकनीकी
संस्थान खोले गए हैं। इसके अतिरिक्त एआईआईएम संस्थान पांवटा में व आईआईआईटी जो
कि 200 करोड़ से पीपी मोड पर बनेगा को ऊना में खोलने का निर्णय लिया गया है।
वर्तमान में प्रदेश में सरकारी क्षेत्र में 4 व निजि क्षेत्र में 16
इंजीनियरिंग कॉलेज प्रदेश के युवाओं को घर द्वार के नजदीक विभिन्न व्यवसायों
की तकनीकी शिक्षा की सुविधा उपलब्ध करवा रहे हैं। नगरोटा बगवां की मसल में
खोले गए इंजीनियरिंग कॉलेज में इस वर्ष अपने संस्थान में कक्षाएं आरम्भ हो
इसके लिए परिसर का निर्माण युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। इस वर्ष इस संस्थान
में सिविल, इल्कट्रिकल, इल्कट्रोनिकस, कम्प्यूटर साईंस व मैकेनिकल व्यवसायों
में 500 से अधिक बच्चे शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।
      उन्होंने कहा कि तकनीकी शिक्षा विभाग को निर्देश दिए गए हैं कि विभिन्न
शारीरिक अक्षमताओं वाले बच्चों को स्वावलंबी बनाने के लिए उनकी क्षमता से
संबंधित व्यवसाय तकनीकी शिक्षा विभाग में आरम्भ किए जाएं। इसके अतिरिक्त
तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा युवाओं के लिए आरम्भ की गई विभिन्न योजनाओं की
जानकारी उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से इन संस्थानों में विशेष शिविर आयोजित कर
संबंधित क्षेत्र के युवाओं को इनकी विस्तृत जानकारी प्रदान करने के निर्देश भी
दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि किन्हीं कारणों से शिक्षा ग्रहण करना छोड़ चुके
बच्चों एवं युवाओं के लिए भी सरकार ने अल्प अवधि के विभिन्न व्यवसायिक
प्रशिक्षण कोर्स शुरू किए है। जिनका लाभ जानकारी के अभाव के कारण यह युवा
प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं।
     उन्होंने इस अवसर पर चंगर क्षेत्र में किए गए अभूतपूर्व विकास की चर्चा
करते हुए कहा कि इस क्षेत्र में जहां दर्जनों जमा 2 विद्यालय खोले गए हैं वहीं
बड़ोह में निजि क्षेत्र में चल रहे कॉलेज का पूर्ण रूप से सरकारीकरण किया गया
है। क्षेत्र में सड़कों एवं पुलों के निर्माण कर लोगों के घर द्वार तक वाहनों
की आवाजाही सुनिश्चित की है। उन्होंने यह भी कहा कि निकट भविष्य में सरोत्री
में लोक निर्माण विभाग का उप-मण्डल स्थापित किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया
कि इस क्षेत्र से होकर गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग के पूर्ण होने पर
क्षेत्र के लोगों की आर्थिकी में आशातीत सुधार होगा।
     श्री बाली ने इस अवसर पर इस संस्थान में कम्प्यूटराईज कटिंग व टेलरिंग
व्यवसाय आरम्भ करने की घोषणा भी की। उन्होंने संस्थान के कर्मचारियों के लिए
आवास सुविधा उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से 50 लाख रूपये उपलब्ध करवाने की
घोषणा की तथा शीघ्र ही इसके निर्माण कार्य को आरम्भ करने के दिशा-निर्देश लोक
निर्माण विभाग के अधिकारियों को दिए।
     इससे पूर्व जीएस बाली ने ग्राम पंचायत सेराथाना के छनवाड़ गांव में दरूं
खड्ड पर 72 लाख रूपये की लागत से बनाए गए पुल का लोकार्पण किया तथा ग्राम
पंचायत धलूं के रिन्ना वार्ड में 3 लाख रूपये की लागत से बनने वाले लाईब्रेरी
भवन की आधारशिला रखी। इस अवसर पर उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि
पंचायत के दो वार्डों में शुद्ध पेयजल की समस्या के समाधान के लिए 2 करोड़ 60
लाख रूपये की वाटर फिल्ट्रेशन योजना को स्वीकृति प्रदान की गई है। इस योजना के
अंतर्गत मुख्य स्त्रोत से आने वाले पानी को शुद्ध किया जाएगा तथा पुरानी
पाईपों को बदलने का कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत धलूं व
पटियालकर में समुचित पेयजल की उपलब्धता के लिए 1 करोड़ 60 लाख रूपये से 2
ट्यूबल स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने ग्राम पंचायत धलूं के लिए 2 हैडपंप भी
स्वीकृति किए जो कि वार्ड नम्बर एक और 2 में स्थापित किए जाएंगे।
     बाली ने महिला मंडल भवन फलौंदी की मुरम्मत के लिए 1 लाख रूपये, महिला
मंडल भवन रैत के निर्माण के लिए 2 लाख रूपये व महिला मंडल भवन धलूं के निर्माण
के लिए 4 लाख रूपये देने की घोषणा की। उन्होंने फलौंदी, धलूं, पटियालकर व
सेराथाना में लोगों की समस्याओं को भी सुना।
     उन्होंने अपने संबोधन में युवाओं से नशे जैसी बुरी लत से दूर रहने का
आहवान किया तथा युवा पीढ़ी से स्वरोजगार, उन्मुखी शिक्षा को अपनाने के लिए कहा।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार युवाओं को विभिन्न तकनीकी विषयों का प्रशिक्षण
देने के उद्देश्य से उन्हें कौशल विकास भत्ते के रूप में प्रोत्साहन राशि
प्रदान कर रही जिसका लाभ अधिक से अधिक युवाओं का लेना चाहिए। उन्होंने इस अवसर
पर संस्थान परिसर में पौधारोपण भी किया।
     इस अवसर पर एसडीएम कांगड़ा श्रीमति मधु चौधरी सहित विभिन्न विभागों के
अधिकारी, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष मान सिंह चौधरी, जिला महा सचिव मनोज मेहता,
रोशन लाल खन्ना, मदन चौधरी, चरित चौधरी, संजय चौधरी, प्रताप चौधरी सहित पार्टी
के कार्यकर्ता व पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधि एवं अनेक गणमान्य लोग
उपस्थित थे।
Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)