Header ad
Header ad
Header ad

औद्योगिक क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं पर व्यय होगे 67 करोड-मुसाफि र

                      












नाहन 23 अक्तूबर- राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष, श्री गंगू राम मुसाफि र ने
बुधवार को पच्छाद निर्वाचन क्षेत्र के बहनार में ग्रामीण मेले के अवसर पर एक
जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सिरमौर जिला में औद्योगिक क्षेत्रों में
मूलभूत सुविधाओं के सृजन के लिए भारत सरकार द्वारा 67 करोड रूपये की राशी
स्वीकृत की गई है जिसके तहत काला-अंब और पांवटा औद्योगिक क्षेत्र में विद्युत
ढांचे के सुधार पर 27 करोड रूपये तथा गोंदपुर और रामपुरधाट की सडको के सुधार
एवं मुरंमत पर 20 करोड तथा काला-अंब क्षेत्र में उद्योग के लिए मूल सुविधाओं
के सृजन पर 20 करोड रूपये की राशी व्यय की जाएगी।
         उन्होने बताया कि पच्छाद निर्वाचन क्षेत्र में औद्योगिकीकरण की अपार
संभावनाएं है और पच्छाद क्षेत्र में नये उद्योग स्थापित करने की संभावना को
तलाशने के लिए विशेष सर्वेक्षण करवाया जाएगा ताकि दूर-दराज के बेरोजगार युवाओं
को घरद्वार पर रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सके। उन्होने बताया कि सरकार द्वारा
भी प्रदेश के मूलभूत सुविधा वाले ग्रामीण क्षेत्रों में उद्योग स्थापित करने
पर बल दिया जा रहा है। उन्होने बताया कि अभी तक प्रदेश में उद्योगों का
विस्तार पंजाब, हरियाणा, उत्तराखण्ड की सीमा पर लगते क्षेत्रों पर ही हो पाया
है।
श्री मुसाफि र ने जानकारी दी कि सिरमौर जिला में कुल 1684 औद्योगिक इकाइयां
कार्यरत है जिनमें 1568 सूक्ष्म एवं लधू तथा 96 मध्यम एवं बडी इकाइयां कार्यरत
है और इन इकाइयों में 15 हजार युवाओं को रोजगार प्राप्त हुआ है। उन्होने बताया
कि मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह के सतत प्रयासो के फ लस्वरूप भारत सरकार
द्वारा प्रदेश में स्थापित उद्योगों के लिए केन्द्रीय पूंजी अनुदान की अवधि को
31 मार्च 2017 तक बढा दी गई है। इसके अतिरिक्त सरकार द्वारा नये उद्योग
स्थापित करने के लिए 90 दिन के भीतर स्वीकृति प्रदान करने के लिए एकल खिडकी
योजना कार्यान्वित की गई है ताकि उद्यमियों को समय पर स्वीकृति प्राप्त हो सके।
उपाध्यक्ष ने बताया कि सरकार द्वारा बेरोजगार युवाओं क ो स्वावलंबी बनाने के
लिए कौशल विकास भत्ता कार्यक्रम आरंभ किया गया  है जिस पर चालू वित्त वर्ष के
दौरा 100 करोड रूपये की राशी व्यय करके 83 हजार से अधिक युवाओं को तकनीकी
प्रशिक्षण प्राप्त करने के दौरान 1000 रूपये प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता दिया
जाएगा। उन्होने बताया कि सिरमौर जिला में प्रथम चरण के दौरान इस कार्यक्रम पर
4 करोड रूपये की राशी व्यय की जा रही है और प्रथम चरण में लगभग 1500 युवाओं को
बेरोजगारी भत्ते की राशी देना भी आरंभ कर दी गई है।
उन्होने लोगो को मेले की बधाई देते हुए कहा कि मेले एवं त्यौहार प्रदेश की
समृद्ध संस्कृति के परिचायक है जिनके आयोजन से लोगो में आपसी भाई-चारा, प्रेम
भाव तथा राष्ट्र की एकता व अखण्डता को बल मिलता है।
स्थानीय प्रधान रंजना शर्मा ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया तथा पंचायत की
समस्याओं बारे उपाध्यक्ष को अवगत करवाया जबकि विद्यादत्त शर्मा ने भी अपने
विचार रखे।
इस  अवसर पर पंचायत समिति क ी अध्यक्ष सुरैया शर्मा, पूर्व प्रधान थापा राम
सहित कांग्रेस के वरिष्ठ कार्यकर्ता एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी भी
उपस्थित थे।
Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)