Header ad
Header ad
Header ad

ए. एल. शर्मा नहीं रहे

धर्मशाला, 21 जुलाई- समाजसेवी एवं सेवानिवृत प्रशासनिक अधिकारी अमृत लाल शर्मा
का गत सायं आन्नदपुर साहिब के समीप सड़क दुर्घटना में निधन हो गया। 62 वर्षीय
स्वर्गीय शर्मा 31 मई, 2011 को हिमाचल प्रशासनिक सेवा से बतौर ए.डी.एम.,
कांगड़ा सेवानिवृत हुए थे। उन्होंने वर्ष 1979 से जिला कोषाधिकारी एवं उप
निदेशक के रूप में शिमला, किन्नौर और हमीरपुर में अपनी सेवाएं दी। वर्ष 1997
में एच0ए0एस0 में आने के बाद उन्होंने चुवाड़ी, धर्मशाला, अम्ब और कांगड़ा में
विभिन्न पदों पर कार्य किया। इस दौरान वह एन0आई0टी0, हमीरपुर में रजिस्ट्रार
के पद भी तैनात रहे। सेवापरायणता, कर्तव्यनिष्ठा, निष्पक्षता, ईमानदारी आदि
गुणों से पूर्ण शर्मा ने सेवा के दौरान कभी समझौता नहीं किया और अम्ब में अपने
कार्यकाल के दौरान उन्हें इसकी कीमत भी चुकानी पड़ी।
    प्राप्त जानकारी के अनुसार शर्मा चंडीगढ़ से अपनी बेटी को इग्लैंड के लिए
रवाना करने के बाद धर्मशाला वापिस आ रहे थे। दुर्घटना के समय उनके साथ उनकी
पत्नी, छोटे भाई एवं उनकी पत्नी भी मौजूद थे। शर्मा घटनास्थल पर ही शरीर छोड़
गए जबकि उनकी घायल पत्नी, भाई एवं भाभी को ईलाज के लिए चंडीगढ़ ले जाया गया।
स्वर्गीय शर्मा अपने पीछे पत्नी, बेटा और बेटी छोड़ गये हैं।
    शर्मा का जन्म 8 मई, 1953 को हुआ था। सरल, सहज एवं मृदु स्वभाव के शर्मा
ग्रामीण पृष्ठभूमि से संबद्ध थे। सेवानिवृति के पश्चात् भी उन्होंने धर्मशाला
में दो वर्ष तक बतौर मनरेगा लोकपाल अपनी सेवाएं उपलब्ध करवाई। इस दौरान वह गैर
सरकारी संगठन, रैम्पस के उपाध्यक्ष रहे एवं प्राकृतिक आपदाओं के प्रति लोगों
को संवेदनशील बनाने में तत्पर रहे। उन्होंने एक अन्य स्वयंसेवी संस्था ‘गुंजन‘
के साथ मिल कर वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण तथा समाज में एच.आई.वी., कन्या भ्रूण
हत्या, नशा निवारण तथा महिला सशक्तिकरण पर कार्य करते रहे।
    उनके निधन पर शहर के तमाम बुद्धिजीवियों, रैम्पस के अध्यक्ष पी.पी. रैणा,
‘गुंजन’ के निदेशक संदीप परमार, उप-निदेशक अजय पराशर, जिला लोक सम्पर्क
अधिकारी मुहम्मद अमीन शेख चिश्ती, मनोज सूद, डॉ0 वेद प्रकाश शर्मा एवं
बी.एस.राणा ने हार्दिक दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने शोक संतप्त परिवार से
दुःख की इस घड़ी में हौसला बनाए रखने का आग्रह किया है।
Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)