October 21, 2017

एक रमणीक स्थल के रूप में विकसित होगा पंजावर, हर व्यक्ति पौधरोपण को अपना नैतिक कर्तव्य समझे: मुकेश अग्रिहोत्री

ऊना, 18 जुलाई ( राजीव भनोट ) उद्योग मंत्री मुकेश अग्रिहोत्री ने लोगों से आह्वान किया है कि वे खाली पड़ी निजी भूमि पर पेड़ लगाकर हरित आवरण में वृद्घि करने में सहयोग देें। प्रदेश सरकार इसके लिए उन्हें पौधे तथा अन्य आवश्यक सहयोग प्रदान करेगी। आज हरोली विधानसभा क्षेत्र के पंजावर में स्वां नदी एकीकृत जलागम प्रबंधन परियोजना द्वारा आयोजित वन महोत्सव में उद्योग मंत्री ने कहा अगर हमें जल और गहराते पर्यावरण संकट से निजात पाना है तो पौधरोपण करना होगा। जब तक प्रत्येक व्यक्ति पौधरोपण को अपना नैतिक कर्तव्य नहीं समझेगा , इस संकट का समाधान संभव नहीं है।
उन्होंने कहा विश्व आज वैश्विक ऊष्मीकरण तथा जलवायु परिवर्तन जैसी समस्याआें से जूझ रहा है तथा हरित आवरण बढ़ाकर ही इनसे राहत पाई जा सकती है। उन्होंने यह भी कहा कि वन महोत्सव को एक औपचारिकता की तरह आयोजित न कर जन अभियान की तरह चलाया जाना चाहिए। पौधारोपण गतिविधियों को जन जागरूकता से जोडऩे की आवश्यकता पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि पर्यावरण सतुलंन के लिए रोपित किए जाने वाले पौधों की सुरक्षा की जिमेदारी स्थानीय लोगों को लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार पर्यावरण संरक्षण पर विशेष बल दे रही है और प्रदेश ने प्रदूषण मुक्त वातावरण एवं पर्यावरण संरक्षण में देश को एक नई दिशा दी है।
उद्योग मंत्री ने स्वां नदी एकीकृत जलागम प्रबंधन परियोजना द्वारा महिला सशाक्तिकरण की दिशा में किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि जिला की सैंकड़ों महिलाएं स्वयं सहायता समूहों के बैनर तले इस परियोजना के प्रभावी क्रियान्वयन में अपना योगदान देने के साथ- साथ अपने परिवार का आर्थिक स्तर भी ऊंचा उठा रही हैं। उन्होंने कहा कि परियोजना द्वारा चयनित पंचायतों में विभिन्न विकास कार्यों पर 65 करोड़ रूपए की राशि खर्च की जायेगी। उन्होंने कहा इस परियोजना की अवधि बढ़ाने की भी पुरजोर कोशिश की जायेगी।
मुकेश अग्रिहोत्री ने कहा स्वां परियोजना द्वारा पंजावर में निर्मित खूबसूरत विश्राम गृह का विस्तार किया जायेगा और यहां खूबसूरत वन वाटिका व जलाशय का सौंदर्यकरण करके इसे सैलानियों के प्रमुख आकर्षण के रूप में उभारा जायेगा। उन्होंने कहा पंजावर एक खूबसूरत व रमणीक स्थल है और इसे एक सैरगाह के रूप में विकसित करने के लिए कदम उठाए जायेंगे। उन्होंने कहा कि क्षेत्रवासियों को बंदरों के आतंक से निजात दिलाने के लिए पंडोगा में एक वानर नसबंदी केन्द्र खोला जायेगा जिसके लिए सरकार ने 1 करोड़ 30 लाख रूपए की राशि स्वीकृत कर दी है। जल्दी ही इसका शिलान्यास किया जायेगा।
उन्होंने कहा कि ऊना जिला देश के मानचित्र पर प्रमुखता से उभरने जा रहा है। यह जिला देश का पहला ऐसा जिला कहलवाने का गौरव हासिल करेगा जिसकी सभी खड्डों का तटीयकरण किया जायेगा। जिला में देश का 12वां आईआईआईटी संस्थान खुलना इसे अंतरराष्ट्रीय पहचान प्रदान करेगा। जिला में 200 करोड़ का फूड पार्क स्वीकृत होने से यह फूड हब के रूप में भी उभरेगा। उन्होंने कहा पूबोवाल में 10 ट्रेड वाली आईटीआई खुलेगी। हरोली के सिविल हस्पताल में स्त्री रोग विशेषज्ञ की तैनाती की जायेगी।
इस अवसर पर एग्रो पैकेजिंग के पूर्व वायस चेयरमैन ओंकार शर्मा, परियोजना निदेशक टी.डी.शर्मा , परियोजना उपनिदेशक आरके डोगरा , डीएफओ कौशल, हरोली ब्लाक कांग्रेस के अध्यक्ष रणजीत राणा, जिला कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अशोक ठाकुर, एडवोकेट धर्मसिंह, जिला परिषद सदस्य नीलम मनकोटिया, दर्शना देवी, राकेश दत्ता, वीरेन्द्र मनकोटिया, रिटायर्ड डीएफओ रणवीर सिंह राणा , तिलक राज पुरी और सुरेखा राणा सहित अेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

 

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *