October 19, 2017

ईरान-अमेरिका की परमाणु डील, फिर गिरेंगे तेल के दाम!

crude-oil
नई दिल्ली। आने वाले दिनों में कच्चे तेल के दामों में गिरावट का दौर फिर शुरू हो सकता है। ईरान के विवादास्पद परमाणु कार्यक्रम को लेकर विश्व की छह महाशक्तियों के साथ लंबे समय तक चली बातचीत का सकारात्मक नतीजा निकला है। इससे ईरान को अपना कच्चा तेल इंटरनैशनल मार्किट में खुले तौर पर निर्यात करने की इजाजत मिलेगी जिससे तेल की कीमतें गिरेंगी। कुछ विशेषज्ञों के मुताबिक आने वाले दिनों में कच्चे तेल की कीमत मौजूदा दर से आधी कीमत तक गिर सकती है। ईरान और अमेरिका सहित 6 बड़ी ताकतों के बीच स्विट्जरलैंड में सहमति बनी, जो 30 जून तक संधि का शक्ल लेगी। सहमति के तहत ईरान अपने परमाणु कार्यक्रम पर रोक लगाने के लिए तैयार हो गया है और अमेरिका तथा अन्य देशों ने उस पर लगाए गए प्रतिबंधों को हटाने पर सहमति दी है। भारत को इससे चौतरफा फायदा होगा। भारत वार्षिक आधार पर ईरान का दूसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है। माना जाता है कि अमेरिका के दबाव में भारत ने तेहरान से आयात किए जाने वाले तेल की मात्रा में काफी कटौती की है। दशक में पहली बार भारत ने मार्च में ईरान से तेल का आयात नहीं किया। ईरान पर लगी मौजूदा पाबंदी की वजह से वह प्रतिदिन 10 लाख से 11 लाख बैरल तेल का निर्यात नहीं कर सकता। इस सहमति का भारतीय विदेश मंत्रालय ने स्वागत किया है और कहा है कि भारत ने हमेशा ही इस बातचीत को समर्थन दिया है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *