Header ad
Header ad
Header ad

इन्द्रधनुष कार्यक्र्रम के दूसरे चरण का शुभारम्भ

07.10.2015: tttस्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मन्त्री ठाकुर कौल सिंह ने आज यहां सामाजिक न्याय एवं

अधिकारिता मन्त्री डा. कर्नल धनी राम शांडिल की उपस्थिति में महत्वकांक्षी
इन्द्रधनुष कार्यक्रम के दूसरे चरण का शुभारम्भ नवजात शिशुओं के टीकाकरण
के साथ किया।

स्वास्थ्य मन्त्री ने इस अवसर पर कहा कि कार्यक्रम के दूसरे चरण को प्रदेश के 6
जिलों मण्डी, कांगड़ा, कुल्लू, सोलन, सिरमौर और ऊना में कार्यान्वित किया जा
रहा है। इस कार्यक्रम का उदेश्य सभी बच्चों का सम्पूर्ण टीकाकरण सुनिश्चित बनाना
है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम को प्रत्येक माह की 7 से 13 तारीख तक चलाया
जायेगा और यह अभियान जनवरी 2016 तक चलेगा। इस टीकाकरण का मूल उदेश्य
शिशुओं को 7 जानलेवा बीमारियों से बचाना है।

ठाकुर कौल सिंह ने कहा कि हमारे देश में इस कार्यक्रम के तहत 89 लाख बच्चों
का टीकाकरण किया जाएगा। प्रदेश में कार्यक्रम के पहले चरण में 6717 बच्चों का
टीकाकरण किया गया जबकि 2350 बच्चों का सम्पूर्ण टीकारण सुनिश्चित बनाया गया।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार टीकाकरण कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए प्रतिबद्ध
है ओैर यूनिसेफ की रिपोर्ट में हिमाचल प्रदेश को टीकाकरण अभियान में देश
भर में तीसरा सर्वश्रेष्ठ राज्य आंका गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार
दूरदराज एवं दुर्गम क्षेत्रों में भी गुणात्मक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने की
दिशा में कार्यरत है। प्रदेश में 515 चिकित्सकों की नियुक्ति की गई है जबकि
नर्सो के 255 पद हिमाचल प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड को प्रेषित किए गए
हंै। उन्होंने कहा कि पैरा मैडिकल कर्मियों के पद भी भरे जा रहे हैं। प्रदेश
सरकार ने अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या के अधार पर चिकित्सकों और अन्य
कर्मचारियों के पद स्वीकृत किए हैं।

स्वास्थ्य मन्त्री ने कहा कि क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में भी सभी पद 200 बिस्तरों की
क्षमता के अनुसार भरे जायेंगे। उन्होंने कहा कि इस अस्पताल में एम.आर.आई
सुविधा उपलब्ध करवाने के प्रयास भी किए जायेंगे। उन्होंने कहा कि गत तीन
वर्षो में प्रदेश में 50 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोले गए हैं जबकि 11
प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को स्तरोन्नत कर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा 12
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों को स्तरोन्नत कर नागरिक अस्पताल बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने के उद्देश्य से शिमला स्थित
कैंसर अस्पताल को स्तरोन्नत करने पर 45 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं जबकि
मण्डी में कैंसर अस्पताल के लिए 45 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं।

ठाकुर कौल सिंह ने इस अवसर पर क्षेत्रीय अस्पताल सोलन का निरीक्षण किया और
विभिन्न व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मन्त्री डा. कर्नल धनी राम शांडिल ने इस अवसर पर
सोलन क्षेत्रीय अस्पताल को मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल बनाने, ट्रामा केन्द्र एवं
एमआरआई की सुविधा प्रदान करने तथा नौणी स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के रुप में स्तरोन्नत करने की मांग की।

उन्होंने इन्द्रधनुष कार्यक्रम का शुभारम्भ सोलन से करने पर स्वास्थ्य मन्त्री का
आभार व्यक्त किया।

प्रदेश के स्वास्थ्य सेवाएं निदेशक डा.डी.एस.गुरंग ने इस अवसर पर इन्द्रधनुष
कार्यक्र्रम की विस्तृत जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि इस कायक्रम को मिशन मोड
के रुप में चलाया जायेगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोलन डा. आर.के.धरोच ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया
और क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में विभिन्न पदों को शीघ्र भरने की मांग की।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. उदित कुमार ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

इस अवसर पर पूर्व विधायक मेजर कृष्णा मोहिनी, नगर परिषद सोलन के अध्यक्ष
कुलराकेश पंत, जिला कांग्रेस समिति के अध्यक्ष राहुल ठाकुर, प्रदेश कांग्रेस
समिति के उपाध्यक्ष डा. कैलाश पराशर, महासचिव विनोद सुल्तानपुरी, सचिव शिवदत,
खण्ड कांग्रेस समिति के अध्यक्ष बलदेव ठाकुर, जिला कांग्रेस समिति के महासचिव
हेमेन्द्र ठाकुर, पूर्व जिला कांग्रेस समिति अध्यक्ष शिव कुमार, सायरी पंचायत के
प्रधान सुन्दर सिंह जसवाल, मशीवर पंचायत के प्रधान राजेन्द्र कश्यप, पयर्टन विकास
निगम निदेशक मंडल के सदस्य सुरेन्द्र सेठी, अनुसूचित जाति एवं जन जाति विकास
निगम के निदेशक मंडल के सदस्य पलक राम कश्यप, जिला कांग्रेस प्रवक्ता जगमोहन
मलहोत्रा, शहरी कांग्रेस के अध्यक्ष जतिन साहनी, जिला कांग्रेस कोषाध्यक्ष सुशील
चैधरी, लघु किसान कल्याण मंच के अध्यक्ष विनोद कुमार, सोशल मीडिया प्रकोष्ठ
के संयोजक मुकेश शर्मा, कांग्रेस सदस्य अजय कंवर, भाषा कला अकादमी के सदस्य
मदन हिमाचली, खंड कांग्रेस के मनोज कुमार, अजय कंवल, अजय वर्मा, पुलिस अधीक्षक
सोलन डा. रमेश छाजटा, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी संदीप नेगी, चिकित्सा अधीक्षक
राजन उपल, विश्व स्वास्थ्य संगठन के परामर्शदाता डा.जी.वी.द्विवेदी के अलावा
चिकित्सक,स्टाफ नर्स एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे। .0.

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)