October 24, 2017

इंजीनियरिंग संस्थानों के बच्चों को व्यापक एक्सपोजर प्रदान करने के लिए आईआईटी और एनआईटी से लेेेंगे सहयोग: बाली

धर्मशाला, 10 अक्तूबर: खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले, परिवहन तथा
तकनीकी शिक्षा मंत्री जीएस बाली ने कहा कि प्रदेश सरकार रोहतांग पास में
सीएनजी बसें चलाने का सफल ट्रायल करवा चुकी है तथा केन्द्र सरकार से प्रदेश के
लिए सीएनजी स्टेशन स्थापित करने में सहयोग का आग्रह किया गया है ताकि
राष्ट्रीय हरित ट्रिब्यूनल के निर्देशानुरूप रोहतांग पास में सीएनजी बसें
शीघ्रातिशीघ्र चलाई जा सकंे। बाली आज नगरोटा बगवां में एक निजी समाचार चैनल
द्वारा आयोजित विशेष कार्यक्रम में बोल रहे थे।
     इस दौरान उन्होंने सरकार की विभिन्न विकासात्मक योजनाओं और कार्यक्रमों
के बारे में जानकारी देने के साथ-साथ लोगों के सवालों के जवाब भी दिए।
     उन्हांेने कहा कि वह प्रदेश में सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को सुदृढ़ करने
के लिए प्रयासरत हैं, ताकि लोग निजी वाहनों के उपयोग की बजाय सार्वजनिक परिवहन
साधनों के उपयोग को प्राथमिकता दें।
     प्रदेश में औद्योगिक निवेश के संदर्भ में पूछे गए एक सवाल के जवाब में
बाली ने कहा कि प्रदेश सरकार लगातार बड़े औद्योगिक घरानों और निवेशकों को
प्रदेश में निवेश के लिए आकर्षित करने के लिए प्रयासरत है और हाल ही में
मुख्यमंत्री के नेतृत्व में दिल्ली में एक इन्वेस्टर मीट भी आयोजित की गई थी।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में निवेश आमंत्रित करते समय इस बात पर ध्यान दिया
जाना चाहिए कि यहां लगने वाले उद्योग राज्य की विशिष्टता के अनुरूप हों तथा यह
तय किया जाना चाहिए कि प्रदेश में कौन-कौन से उद्योग लगाया जाना सही मायनों
में फायदेमंद है।
     इंजीनियरिंग संस्थानों में पढ़ रहे बच्चों को व्यापक एक्सपोजर प्रदान करने
के उद्देश्य से प्रदेश के तकनीकी विश्व विद्यालय को भारतीय प्रबंधन संस्थानों
और एनआईटी संस्थानों के साथ सहमति बना कर प्रदेश के संस्थानों के बच्चों के
लिए कार्यशालाएं आयोजित करने के लिए योजना बनाने के निर्देश दिए गए हैं।
उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त करियर गाईडेंस केन्द्रों के माध्यम से बच्चों
को विभिन्न व्यवसायिक पेशों के बारे में परामर्श व मार्गदर्शन प्रदान किया जा
रहा है।
     रूसा व्यवस्था के कारण कॉलेजों में विद्यार्थियों को पेश आ रही समस्याओं
के बारे में पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए जीएस बाली ने कहा कि कोई भी नई
व्यवस्था आरम्भ होने पर शुरूआत में समस्याएं आना स्वाभाविक है। उन्होंने रूसा
के कारण परीक्षा परिणामों की घोषणा में विलम्ब होने इत्यादि जैसी विभिन्न
समस्याओं के मुद्दों को केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री के साथ उठाने का आश्वासन
दिया।
     उन्होंने कहा कि ‘‘एम्पावरमेंट आफ यूथ’’ कार्यक्रम उनका मिशन है और इसे
पूर्ण रूप से हासिल कर लेने तक यह अभियान चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि इस
अभियान के साथ युवा बड़े पैमाने पर जुड़े हैं।
     स्मार्ट सिटी के संदर्भ में पूछे गए सवाल के जवाब में जीएस बाली ने कहा
कि प्रदेश सरकार प्रदेश के हर शहर को स्मार्ट सिटी जैसी सुविधाएं उपलब्ध
करवाने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने धर्मशाला को स्मार्ट सिटी बनाने के
निर्णय का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि इसके साथ-साथ मण्डी, शिमला, सोलन जैसे
शहरों को भी स्मार्ट सिटी बनाया जाना चाहिए।
     जीएस बाली ने कहा कि महिलाओं को साथ लिए बिना कोई भी समाज तरक्की नहीं कर
सकता। उन्होंने कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है और वे हवाई
जहाज तक उड़ा रही हं,ै तो बसें चलाना कोई बड़ी बात नहीं है। उन्होंने कहा कि
परिवहन विभाग महिला कर्मियों को शामिल करने की प्रक्रिया पर कार्य कर रहा है।
     प्रदेश में पर्यटन विकास के संदर्भ में सरकार की योजनाओं को लेकर पूछे गए
सवाल के जवाब में बाली ने कहा कि पर्यटन क्षेत्र प्रदेश की आर्थिकी और लोगों
के रोजगार से जुड़ा क्षेत्र है तथा सरकार प्रदेश में उपलब्ध पर्यटन की अपार
सम्भावनाओं के दोहन के लिए निरंतर प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि बेहतर पर्यटन
सुविधाओं के लिए अच्छे अस्पताल और बेहतर सड़क सुविधाओं के साथ-साथ प्रदेश में
एक बड़े हवाई अड्डे की व्यवस्था की आवश्यकता है तथा प्रदेश सरकार इस दिशा में
कार्य कर रही है।
     नगरोटा बगवां क्षेत्र में स्थापित इंजीनियरिंग कॉलेज के विद्यार्थियों
द्वारा आवासीय सुविधा के अभाव और महंगे किराये के प्रश्न पर बाली ने समुचित
आवासीय व्यवस्था होने तक अधिकारियों को 53मील स्थित सामुदायिक केन्द्र में
बच्चों के रहने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।
     सरकार द्वारा बीपीएल परिवारों को दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ अन्यों
द्वारा उठाएं जाने के सवाल पर जीएस बाली ने कहा कि यह पाया गया है कि कुछ ऐसे
लोग सरकार की योजनाओं का फायदा उठाते हैं, जिन्हें इसकी आवश्यकता नहीं होती।
उन्होंने कहा कि उन्हें इस संदर्भ में लोगों से सुझाव प्राप्त हुए हैं कि यह
व्यवस्था की जाए कि बीपीएल परिवारों की योजनाओं का लाभ लेने वाले लाभार्थी घर
के बाहर इस संदर्भ में बोर्ड लगाना सुनिश्चित बनाएं, जिससे अपात्र व्यक्तियों
द्वारा गलत तरीके से इन योजनाओं का फायदा लेने के मामलों पर नकेल कसी जा
सकेगी।
     उन्होंने कहा कि पथ परिवहन निगम की बसों में स्कूली बच्चों, विशेष रूप से
सक्षम लोगों, दृष्टि एवं श्रवण बाधित व्यक्तियों सहित अन्यों को निःशुल्क
यात्रा सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। इसके अतिरिक्त स्थानीय बसों में
महिलाओं के लिए सीटे आरक्षित की गई है और उन्हें किराये में भी छूट प्रदान की
गई है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *