October 22, 2017

आस्ट्रेलिया से आएगा यूरेनियम

19d1-7-300x275कैनबरा —  आस्ट्रेलिया ने भारत के साथ बढ़ते आर्थिक, राजनीतिक और सामरिक संबंधों के बीच उसे ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए उसे यूरेनियम की आपूर्ति जल्द शुरू करने की प्रतिबद्धता जताई है और इसके लिए दोनों देश जल्द प्रशासनिक व्यवस्था को अंतिम रूप देंगे।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री के टोनी एबट के बीच मंगलवार को हुई शिखर वार्ता के बीच जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों देशों ने असैन्य परमाणु करार की प्रशासनिक व्यवस्था को जल्दी से जल्दी अंतिम रूप देने की इच्छा जताई है। इस करार पर श्री एबट की सितंबर में हुई भारत यात्रा पर हस्ताक्षर किए गए थे। आस्ट्रेलिया से यूरेनियम की आपूर्ति आने वाले वर्षों में भारत की ऊर्जा सुरक्षा बढ़ेगी। श्री मोदी और श्री एबट इस बात पर सहमत थे कि दोनों देशों के आर्थिक रिश्तों का आधार स्तंभ ऊर्जा है। दोनों नेताओं ने खनन में निवेश से संबंधित परियोजनाओं को जल्दी से जल्दी मंजूरी दिए जाने की जरूरत पर जोर दिया। भारत अगले साल आस्ट्रेलिया में मेक इन इंडिया कार्यक्रम आयोजित करेगा और देश की विनिर्माण क्षमताओं का प्रदर्शन करने के लिए रत्न एवं आभूषण, इंजीनियरिंग और औषधि निर्माण पर शो आयोजित होंगे। दोनों देशों ने आतंकवाद और दूसरे अंतरराष्ट्रीय अपराधों के खिलाफ मिलकर काम करने की प्रतिबद्धता जताई और सामरिक सहयोग के स्तर को आगे बढ़ाने के लिए सुरक्षा सहयोग तंत्र स्थापित करने का फैसला किया। दोनों देशों ने नियमित साझा सामुद्रिक अभ्यास करने पर सहमति जताई। साथ ही भारत और आस्ट्रेलिया की थलसेना, नौसेना और वायुसेना के बीच नियमित वार्ता होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आस्ट्रेलिया यात्रा के अंतिम दिन आयोजित शिखर वार्ता में इस बात पर भी सहमति बनी की दोनों देशों के सरकारी प्रसारक प्रसार भारती एवं एबीसी प्रथम विश्व युद्ध के दौरान हुई गल्लीपोली की लड़ाई पर एक फिल्म बनाएंगे। दोनों नेताओं ने इस कदम का स्वागत किया। साथ ही दोनों नेताओं ने आपदा प्रबंधन क्षमताओं को बढ़ाने और मलेरिया से निपटने के लिए क्षेत्रीय सहयोग बढ़ाने तथा क्षेत्रीय व्यापार बढ़ाने पर जोर दिया। आस्ट्रेलिया ने भारत में विश्व स्तरीय खेल विश्वविद्यालय स्थापित करने में मदद का भरोसा दिया। श्री मोदी की यह पहली आस्ट्रेलिया यात्रा थी। पिछले 28 वर्षों में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की यह पहली आस्ट्रेलिया यात्रा है। भारतीय प्रधानमंत्री ने श्री एबट को भारत आने का न्योता दिया। श्री मोदी की चार दिवसीय आस्ट्रेलिया यात्रा का मंगलवार को समापन हो गया और वह अपनी दस दिन की विदेश यात्रा के अंतिम पड़ाव में फिजी रवाना हो गए। वहां की एक दिन की यात्रा के साथ ही उनका दस दिन का विदेश दौरा समाप्त हो जाएगा।

दोनों देशों में पांच समझौते

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबट के बीच शिखर वार्ता के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग के लिए पांच समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए जो सामाजिक सुरक्षा, कैदियों की अदला-बदली, मादक पदार्थों के व्यापार पर अंकुश लगाने और पर्यटन, कला एवं संस्कृति से जुडे़ हैं।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *