October 17, 2017

आनी में बाड़ी दुर्गा मेला 21 से

आनी, 17 अप्रैल – बुधवार को दुर्गा माता मंदिर में मंदिर व मेला कमेटी की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता कारदार किशन चंद चौहान ने की। मंदिर कमेटी के प्रेस सचिव नरसिंह दास शर्मा ने बताया कि देवी दुर्गा माता के प्रति मंडी व जिला कुल्लू क्षेत्र में दो प्राचीन एवं भव्य मंदिर आस्था के केंद्र हैं। देवी दुर्गा माता की विशाल कोठी मंदिर गांव चखाणा करसोग मंडी जिला में है दूसरा मंदिर आनी क्षेत्र के हरीपुर बाडी नदी के तट पर स्थित है। माता बाडी दुर्गा का वार्षिक भव्य मेला 21 से 22 अप्रैल तक धूमधाम से मनाया जाएगा। 21 अप्रैल सोमवार को माता दुर्गा करसोग के चखाणा मंदिर से भव्य रथ में सैकड़ों देवलुओं के साथ बाडी मंदिर स्थल पर पहुंचेगी जहां पर आनी क्षेत्र के लोग माता एवं देवलुओं का भव्य स्वागत करेंगे। रात्रि सांस्कृतिक संध्या में जीवन आर्ट्स सरस्वती संगीत कला मंच के कलाकार एवं कुल्लू व मंडी जिला के कलाकार धमाल मचाएंगे। मेले का मुख्य आकर्षण 22 अप्रैल दोपहर देवी-देवताओं की शेभायात्रा होगी, जिसमें देवता महादेव बैहनी अपने स्वर्णरथ पर दस किलोमीटर पैदल चलकर मेला स्थल पर पधारेंगे। देवी-देवता की पंरपरा अनुसार माता बाडी दुर्गा और देवता महादेव बैहनी आपस में भाई-बहन का देव रिश्ता निभाएंगे। देवता बैहनी के देवगूर नंगे पैर चलकर माता देवी दुर्गा के गूरों से मिलेंगे। इस भव्य एवं ऐतिहासिक गूर मिलन उत्सव को देखने सैकड़ों लोग शामिल होंगे। दो दिवसी बाडी दुर्गा मेले में स्कूली बच्चों और महिला मंडलों, सांस्कृतिक दलों द्वारा रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। मेले आयोजन बारे कमेटियों का गठन कर लिया गया है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *