Header ad
Header ad
Header ad
Breaking News

अवैध शराब एवं खनन रोकने हेतु उठाए जाएं कड़े कदम: बाली

ghधर्मशाला, 28 सितम्बर: जिला में अवैध खनन एवं शराब के कारोबार को रोकने के लिए
चलाई जा रही मुहिम को और कड़ाई से लागू किया जाएगा और इन कार्यों में लिप्त
लोगों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
    यह जानकारी खाद्य् एवं नागरिक आपूर्ति, तकनीकी शिक्षा तथा परिवहन मंत्री
जीएस बाली ने आज जिला स्तरीय शिकायत निवारण समिति की बैठक की अध्यक्षता के
दौरान संबंधित अधिकारियों को इस संदर्भ में निर्देश देते हुए दी। उन्होंने
पुलिस अधीक्षक एवं समस्त उपमण्डलाधिकारियों को जिला में अवैध खनन की रोकथाम के
लिए समय-समय पर स्वयं औचक निरीक्षण करने के निर्देश देते हुए कहा कि खड्डांे
में खनन के लिए बनाए गए अस्थायी रास्तों को पूर्ण रूप से बंद किया जाए।
उन्होंने कहा कि जिला में अवैध रूप से अथवा बिना अनुमति के चल रहे क्रशरों को
बंद करने के लिए तत्काल प्रभाव से इनके विद्युत् कनैक्शन काटे जाएं। उन्होंने
कहा कि बरसात के मौसम में किसी भी प्रकार की पाईपों को डालने के लिए सड़कों में
खुदाई का कार्य नहीं किया जाएगा।
     परिवहन मंत्री ने जिला प्रशासन को निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए
कि प्रत्येक बीपीएल अथवा आईआरडीपी परिवार के घर के बाहर उनके इस योजना में
सम्मिलित किए जाने को दर्शाने का बड़ा होर्डिंगनुमा बोर्ड लगाया जाए ताकि इस
परिवार की सूचना सारी पंचायत को हो ताकि इस सूची में गलत व्यक्ति का चयन होने
पर उसके विरूद्ध पंचायत के लोग संबंधित एसडीएम को शिकायत कर सकंे। उन्होंने यह
भी निर्देश दिए कि आगामी तीन माह के लिए किसी भी व्यक्ति का आईआरडीपी तथा
बीपीएल में सम्मिलित करने के लिए चयन नहीं किया जाएगा। यह कार्यवाही इसलिए की
जाएगी ताकि पंचायत चुनावों के मद्देनजर किसी अपात्र व्यक्ति का चयन न हो।
     उन्होंने गैर सरकारी सदस्यों द्वारा नुरपूर उपमण्डल के शेखपुरा एवं
कंडवाल बैरियर पर वाहनों की एन्ट्री पर तय दर से अधिक राशि वसूलने का कड़ा
संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन को इस संदर्भ में पूरी जांच पड़ताल कर दोषी
ठेकेदार के विरूद्ध कार्यवाही अमल में लाने को कहा। उन्होंने विद्युत् विभाग
के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सुरक्षा की दृष्टि से यह सुनिश्चित किया जाए
कि किसी भी व्यक्ति को ईएचटी लाईन के नीचे किसी भी प्रकार का निर्माण करने की
अनुमति न दी जाए। उन्होंने कहा कि इन निर्देशों के बावजूद भी यदि यह कार्य
होता है तो संबंधित सहायक अभियंता एवं कनिष्ठ अभियंता के विरूद्ध कार्यवाही की
जाएगी। उन्होंने डॉ0 राजेन्द्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज, टांडा में साफ-सफाई एवं
उचित मूल्य की दुकान में समस्त प्रकार की दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने
के लिए उपायुक्त तथा पुलिस अधीक्षक को औचक निरीक्षण कर इस व्यवस्था को सुचारू
करने के लिए कहा।
     उन्होंने जिला स्तरीय शिकायत निवारण समिति की बैठक में स्वयं न उपस्थित
होने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश उपायुक्त को
दिए तथा कहा कि शिकायत निवारण समिति सरकार का जिलों में लोगों की समस्याओं के
समाधान के लिए सबसे महत्वपूर्ण अंग है। खाद्य् आपूर्ति मंत्री ने जन
प्रतिनिधियों, जो इस समिति के मनोनीत गैर सरकारी सदस्य हैं, से भी आह्वान किया
कि जनहित में वह स्वयं इस बैठक में भाग लेना सुनिश्चित करें तथा लोगों के हित
से जुड़े अधिकतम दो मुद्दे ही एक बैठक में प्रस्तुत करें ताकि सभी सदस्यों को
समस्याओं को रखने का अवसर मिल सके।
     उन्होंने कहा कि समिति की पूर्व की बैठक में प्रस्तुत किए गए लगभग 58
मदों में 90 प्रतिशत का समाधान कर दिया गया है तथा शेष मदों का समाधान किया जा
रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि आज की इस बैठक में लगभग 98 मदें विभिन्न गैर
सरकारी सदस्यों से प्राप्त हुई है; जिनमें से 48 का समाधान कर लिया गया है,
जबकि शेष बचे 50 के निपटारे के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए
हैं।
 उन्होंने हिमाचल पथ परिवहन निगम की बस सेवा जो कि धर्मशाला से गंगानगर तक
चलाई जा रही है को तीन माह की अवधि के लिए अनूपगढ़ के लिए आरम्भ करने को भी कहा
तथा इसके सार्थक परिणाम आने पर इसे स्थायी रूप से बहाल करने का आश्वासन भी
दिया।  उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य व विद्युत
विभाग के प्रत्येेक सैक्शन कार्यालय में शिकायत रजिस्टर रखा जाए तथा विभाग के
कर्मचारियों द्वारा शिकायत पर किए गए कार्यों का निरीक्षण संबंधित अधीक्षण
अभियंता स्वयं सुनिश्चित करें।
 उपायुक्त रितेश चौहान ने जिला प्रशासन की ओर से मुख्यातिथि का स्वागत करते
हुए उठाई गई समस्याओं को समय पर हल करने का आश्वासन दिया।
    बैठक का संचालन अतिरिक्त दण्डाधिकारी बलबीर ठाकुर ने किया। बैठक में
विधायक देहरा रविन्द्र रवि, पूर्व विधायक मिल्खी राम गोमा सहित पुलिस अधीक्षक
अभिषेक दुल्लर, एडीसी सुदेश मोख्टा, एसडीएम श्रवण माण्टा सहित जिला के समस्त
उपमंडलाधिकारी एवं विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष व समिति के सरकारी एवं गैर
सरकारी सदस्य उपस्थित थे।
Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

 Click this button or press Ctrl+G to toggle between multilang and English

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *