October 18, 2017

54 करोड़ के कर्ज बांटे

गोहर, हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक नें अब तक 54 करोड़ 26 लाख रुपए के ऋण वितरित करके जरूरतमंद किसानों व बागबानों के उत्थान हेतु एक सराहनीय निर्णय लिया है। मात्र एक वर्ष के अंतराल में ऋण वितरण, ऋण वसूली जैसी उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार प्राप्त कर चुके इस बैंक ने उपरोक्त ऋण वितरण के साथ-साथ 66 करोड़ 27 लाख रुपए की ऋण वसूली करके अपने अधिकांश एनपीए खातों को सामान्य कर दिखाया है। बैंक के राज्य अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक पडिंत शिवलाल ने खबर की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि नाबार्ड ने बैंक की प्रगति को लेकर इस माह की 31 तारीख तक 45 करोड़ की राशि जारी करने का निर्णय लिया है। जिसमें से 22 करोड़ रुपए की राशि प्राप्त हो चुकी है, जबकि शेष राशि इस माह के अंत तक (31 जनवरी) नाबार्ड से हासिल हो जाएगी। बैंक के अध्यक्ष पडिंत शिवलाल का कहना है कि इस बैंक का गठन 1961 में हुआ था। बैंक के गठन का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के किसानों व बागबानों को कृषि तथा इससे संबंधित गतिविधियों एवं गैर कृषि कार्यों के लिए दीर्घकालीन ऋण आसान किस्तों पर उपलब्ध करवाना है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में इस बैंक की प्रदेश भर में 33 शाखाएं कार्य कर रही हैं। इसके अतिरिक्त तीन जिलों में कार्यरत कांगड़ा प्राथमिक कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक की भी 16 शाखाएं है। उन्होंने कहा कि बैंक ने गत वित्त वर्ष के दौरान 2.41 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ अर्जित करके एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *