October 18, 2017

28 को मनाया जाएगा विश्व रेबीज दिवस

धर्मशाला, 21 सितम्बरः दुनिया भर में 28 सितम्बर को विश्व रेबीज दिवस-2015
मनाया जाएगा। यह दिवस लोगों को रेबीज के बारे में जानकारी देने तथा उससे बचने
के उपाए बताने के लिए आयोजित किया जाता है। ज़िला पशु स्वास्थ्य एवं प्रजनन
विभाग इस दिन आवारा एवं पालतू कुत्तों के निःशुल्क स्वास्थ्य चैकअप एवं रेबीज
प्रतिरोधक टीकाकरण कैंप का आयोजन करेगा।
     यह जानकारी देते हुए वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ सुजय शर्मा ने बताया
कि रेबीज एक विषाणु जनित रोग है जो कि प्रायः कुत्तों, नेवलों, बंदरों,
बिल्लियों एवं जंगली लोमड़ियों द्वारा मनुष्य को काटने से होता है। 90 प्रतिशत
मामलों में यह बीमारी कुत्तों के काटने से होती है। प्रतिवर्ष रेबीज के कारण
विश्वभर में 60 हजार मौतें होती हैं; जिनसे अकेले एक-तिहाई भारतवर्ष में 20
हजार मौतें होती है।
      उन्होंने बताया कि इस रोग से बचाव हेतु, काटे गए अंग को साबुन तथा बहते
पानी से 15-20 मिनट तक अच्छी तरह धोना चाहिए एवं काटे जाने के दिन ही एंटी
रेबीज टीकाकरण की शुरूआत करनी चाहिए। उन्होंने बताया कि पालतू कुत्तों को उनके
मालिकों द्वारा रेबीज से बचने हेतु प्रतिरोधक टीकाकरण अवश्य करवाना चाहिए।
    उन्होंने बताया कि इस दिन श्वान पालकों को रेबीज एवं श्वानों से मनुष्य
में संक्रामित होने वाले रोगों के बारे में जानकारी दी जाएगी और सभी श्वान
मालिक पशु चिकित्सालय धर्मशाला में प्रातः 10 बजे से 2 बजे तक भाग ले सकते
हैं।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *