October 17, 2017

150 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित सुपर स्पेशयेलिटी अस्पताल वीडियो काफ्रैंसिंग के माध्यम से लोगों को समर्पित

धर्मशाला (अरविन्द शर्मा )01 मार्च

150 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित सुपर स्पेशयेलिटी अस्पताल वीडियो काफ्रैंसिंग के माध्यम से  लोगों को समर्पित

 नाहन और चंबा में 190 करोड़ रुपयों की लागत से बनेंगे मेडिकल कालेज :गुलाम  नबी

 

 सुपर स्पेशयेलिटी अस्पताल टांडा से हिमाचल के अतिरिक्त अन्य राज्यों (जम्मू-कश्मीर तथा पंजाब ) को भी लाभ मिलेगा। यह जानकारी खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले एवं परिवहन मंत्री, जीएस बाली ने आज 150 करोड़ रुपए की लागत से बने अस्पताल का लोकार्पण करने के उपरांत पे्रस वार्ता को संबोधित करते हुए दी।

   बाली ने बताया कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री गुलाम नबी आजाद व प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह खराब मौसम के चलते टांडा नहीं पहुंच सके। उन्होंने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने जिला मंडी से वीडियो काफ्रैसिंग के माध्यम से उन्हें अस्पताल का लोकार्पण करने के लिए कहा तथा वीडियो काफ्रैंसिंग के माध्यम से ही उन्होंने इस क्षेत्र के लोगों को संबोधित भी किया। उन्होंने कहा कि यह सुपर स्पेशयेलिटी अस्पताल प्रदेश सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट है तथा इसे अढ़ाई वर्ष के अल्पकाल में तैयार किया गया है।

 उन्होंने बताया कि 210 बिस्तरों वाले इस अस्पताल में आठ विभिन्न रोगों के उपचार की सुविधा जिसमें हार्ट, गुर्दे, न्यूरो, कैंसर, डायबिटीज, न्यूरो सर्जरी, गैस्ट्रो से संबंधित रोगों के सघन उपचार की सुविधा प्राप्त होगी। उन्होंने बताया कि अस्पताल की धरातल मंजिल पर कैंसर ओपीडी, द्धितीय व तृतीय मंजिल में आपे्रशन थियेटर तथा चैथी व पांचवीं मंजिल पर अन्य रोगों की सामान्य ओपीडी स्थापित की जाएंगी। उन्होंने कहा कि अस्पताल की मुरम्मत इत्यादि के लिए सरकार समय-समय पर धन की व्यवस्था करती रहेगी।

    श्री बाली ने बताया कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने आश्वस्त करवाया है कि प्रदेश में शीघ्र ही 190 करोड़ रुपयों की लागत से जिला चम्बा व जिला सिरमौर के मुख्यालयों में मैडीकल कालेज खोल जाएंगे तथा दो अस्पतालों में ट्रामा सैंटर व वर्न यूनिट स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री द्वारा टांडा मैडीकल कालेज में मदर चायल्ड यूनिट के स्थापना की शीघ्र स्वीकृति का आश्वासन भी दिया। केंद्र सरकार द्वारा प्रदेश में केंद्र के सहयोग से स्थापित होने वाले स्वास्थ्य संस्थानों एवं अन्य योजनाओं के लिए प्रदेश द्वारा धन की भागीदारी को 25 प्रतिशत से कम करके 10 प्रतिशत कर दिया गया है। केंद्र सरकार एम्स स्तर की सुविधाओं से सम्पन्न सुपर स्पेशयेलिटी अस्पतालों को प्रत्येक मैडीकल कालेज के साथ स्थापित करने जा रही है जिससे आम आदमी को सघन रोगों के उपचार की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

    उन्होंने बताया कि इस अस्पताल में रेडियो थेरेपी, कार्डियोलाजी तथा न्यूरोलाजी की ओपीडी आगामी तीन माह के भीतर आरंभ कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इन विभागों के लिए विशेषज्ञ चिकित्सकों का प्रशिक्षण अंतिम चरण में है, जो अपनी सेवाएं इस अस्पताल में शीघ्र ही आरंभ कर देगें।

    इस अवसर पर उपायुक्त कांगड़ा सी.पालरासु, कांगड़ा के विधायक पवन काजल, अतिरिक्त मुख्य सचिव विनय चैधरी, प्रधानाचार्य टांडा मैडीकल कॅलेज अनिल चैहान सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे। 

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *