October 24, 2017

सवा तीन लाख से बदली कहानी

केलांग, लाहुल-स्पीति मुख्यालय केलांग स्थित समेकित बाल विकास परियोजना विभाग महिलाओं, बच्चों व असहाय लोगों के लिए वरदान साबित हो रहा है। विभाग के प्रभारी डाक्टर हीरानंद ने बताया कि अप्रैल, 2014 से दिसंबर, 2014 के दौरान विभाग ने कुल तीन लाख पैंतीस हजार रुपए विभिन्न योजनाओं व जागरुकता शिविर लगाने में खर्च किए। विभाग ने आईसीडीएस योजना के अंतर्गत पूरक पोषाहार में पंजीकृत 796 छह साल तक के बच्चों को लाभ पहुंचाया, जबकि 349 पंजीकृत बच्चों को पूर्वशाला शिक्षा के अंर्तगत लाया गया। इसी सिलसिले में स्वास्थ्य जांच के तहत 70 गर्भवती महिलाओं व 39 धात्री माताओं की गहन जांच की गई । स्वास्थ्य पोषाहार शिक्षा के अंर्तगत 15 से 45 वर्ष की महिलाओं को शिक्षा प्रदान करने के लिए आंगनबाड़ी , खंड एवं जिला स्तर पर 101 जागरूकता शिविर आयोजित किए गए। इनमें 3212 महिलाओं को लाभ दिया गया। उन्होंने बताया कि बेटी है अनमोल योजना के तहत जिले में 211000 रुपए जन्म उपरांत खर्च किए गए। मदर टैरेसा असहाय मातृ संबल योजना में 26 महिलाओं और 44 बच्चों पर 127750 रुपए राशी खर्च किए गए हैं। इसके अलावा मुख्यमंत्री कन्यादान के तहत 25 हजार रुपए एक लाभार्थी को दिए गए हैं। डाक्टर हीरानंद ने बताया कि इन योजनाओं के पात्र बनने के लिए हिमाचल का स्थाई निवासी होने के साथ-साथ परिवार की सालाना आमदनी पैंतीस हजार रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *