Header ad
Header ad
Header ad

सरकार की तनख्वाह में बढोतरी की सौगात, सैनिको के बुजुर्गो पर नही कोई उपकार यह कैसी सरकार

: मेजर जनरल सतीश कुमार(रि0)
जहां प्रदेश सरकार में मुख्यमंत्री सहित विधायकों के वेतन भतो में २० हजार रुपए की बढोतरी की घोषणा कर उन्हे सौगात दी गई वहीं सैनिको के बुजुर्गो के लिए युद्ध पारितोषिक(बॉर जागीर) के रुप में दी जाने वाली राशी को नही बढाया गया जिससे सैनिको के परिवारो में रोष व्यापत है । की सरकार उनके प्रति गंभीर नही है और यह मामला लम्बित होता जा रहा है। यह बात मेजर जनरल सतीश कुमार (रि0) ज्वालामुखी ने प्रेस विज्ञप्ति में कही।
उन्होने कहा कि जो सैनिक फौज में हिमाचल में भर्ती हो उन्होने किसी भी युद्ध में हिस्सा लिया हो। हिमाचल सरकार द्वारा स्व डा0 बाई एस परमार के समय से उन सैनिको के माता पिता को युद्ध पारितोषिक(बॉर जागीर) प्रदान करने की कवायद शुरु हुई थी। जो कि १९४८ पंजाब अधिनियम धारा २२ की तर्ज पर है। यह राशी १९९० तक ३०० रुपए सालाना थी और १९९० में ९०० रुपए वार्षिक किया गया। २००६ में बढकर १००० रुपए कर दिया गया और वर्ष २०१० में २००० हजार रुपए वार्षिक सैनिको के बुजुर्गो को दिया जा रहा है।  मेजर जनरल सतीश कुमार (रि0)ने मुख्यमंत्री से पत्र संख्या २८३४५ एक्स दिनांक ८ सितंबर २०११ में  अनुरोध किया की इस राशी को दो हजार से बढाकर दस हजार रुपए वार्षिक किया जाए इस पत्र के जबाब में आया कि यह मामला अभी विचाराधीन है। और साथ ही सरकार ने सैनिक कल्याण बोर्ड को स्थिति स्पष्ट करने के लिए कहा गया इसके जबाब में डायरेक्टर सैनिक कल्याण बोर्ड ने स्पष्ट किया की मात्र एक हजार माता पिता बुजुर्ग हैं जो कि युद्ध पारितोषिक(बॉर जागीर) के हकदार हैं और  उनके हक को सम्मान देते हुए इस राशी को बढाकर बारह हजार किया जाए। २० मार्च २०१२ को  मेजर जनरल सतीश कुमार (रि0) ने इस बारे कार्निका रेजार्ट में सैनिक कल्याण बोर्ड मंत्री किशन कपूर से मुलाकात करके उन्हे स्थिति से अवगत करवाते हुए ज्ञापन दिया। और बजट सत्र में इसे लागू करने का अनुरोध भी किया। और पंजाब व हरियाणा राज्यों की नोटिफिकेशन भी दे दी गई ताकि मामला और ज्यादा लम्बित ना हो और हकदारो को उनका सम्मानजनक हक मिल सके। मंत्रीयो, विधायको को वेतन बृद्धि कि सौगात सैनिको के बुजुर्गो पर नही कोई उपकार यह कैसी सरकार? यह सवाल भी दाग दिया। कि अगर सरकार इन सैनिको के बुजुर्ग माता पिता के  युद्ध पारितोषिक(बॉर जागीर) में बढोतरी करती तो उन पर कोई ज्यादा बोझ नही पडता।

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)