Home > Himachal Pradesh News > Solan > संस्कृति के संरक्षण से पर्यटन का विकास संभव: डाॅ. शांडिल

संस्कृति के संरक्षण से पर्यटन का विकास संभव: डाॅ. शांडिल

Solan 28.10.2015: सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डा. कर्नल धनी राम शांडिल ने युवाओं का

आह्वान किया है कि वे हिमाचल की समृद्ध संस्कृति एवं परम्पराओं के संरक्षण के
माध्यम से पर्यटन क्षेत्र के विस्तार की दिशा में कार्य करें। डा. शांडिल गत दिवस
सोलन विधानसभा क्षेत्र के सलोगड़ा में आयोजित श्री बिजेश्वर महाराज मेले के
समापन समारोह की अध्यक्षता का रहे थे।

इससे पूर्व उन्होंने स्थानीय बिजेश्वर महादेव मंदिर में पूजा-अर्चना की और सभी
सुखद जीवन एवं उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

डा. शांडिल ने कहा कि हिमाचल सहित सोलन में पर्यटन विस्तार की असीमित
सम्भावनाएं हैं तथा प्रदेश की विशिष्ट संस्कृति का प्रचार-प्रसार इस दिशा में
लाभदायक सिद्ध हो सकता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सांस्कृतिक पर्यटन को
विकसित करने की और ध्यान दिया जा रहा है। प्रदेश के सभी जिले संस्कृति की
दृष्टि से अत्यन्त समृद्ध हैं तथा देश-विदेश से बड़ी तादाद में सैलानी हिमाचली
संस्कृति से रू-ब-रू होने यहां आते हैं। उन्होंने कहा कि इस दिशा में शिक्षित
बेरोजगार युवाओं को सक्रिय भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि हिमाचली
परम्पराओं, खानपान की रवायतों और हस्तशिल्प उत्पादों को देश-विदेश में
लोकप्रिय बनाना समय की मांग है।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि सलोगड़ा के बिजेश्वर महादेव मेले
ने प्राचीन समय से ही अपनी परम्पराओं को बनाए हुए है। उन्होंने लोगों से
आग्रह किया कि युवा पीढ़ी को अपनी संस्कृति और रीति-रिवाजों की जानकारी
प्रदान करें।

डाॅ. शांडिल ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा समाज के कमजोर वर्गों के कल्याण के
लिए अनेक योजनाएं कार्यान्वित की जा रही हैं। प्रदेश सरकार ने अधिक से अधिक
लोगों तक योजनाओं के लाभ पहुंचाने के लिए एक-समान आय सीमा लागू की है।

उन्होंने कहा कि फशकना उठाऊ सिंचाई योजना से चैखला-मढांझी गांव को
जोड़ने पर 10 लाख रुपये व्यय किए जायेंगे। उन्होंने बगौर के नाला से
गलूर-गिट्टा-टिक्कर-बांदल मार्ग पर डंगा एवं पुलियां निर्माण के लिए पांच लाख
रुपये प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने मंदर गांव तक सड़क निर्माण के लिए
दो लाख रुपये तथा चरजेड़ा तक सम्पर्क मार्ग के निर्माण के लिए एक लाख रुपये
प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला
सलोगड़ा में रिक्त पड़े पदों को प्राथमिकता से भरने का मामला मुख्यमंत्री से
उठाया जाएगा।

डाॅ. शांडिल ने इस अवसर पर पारम्परिक खेल ठोडा का शुभारम्भ भी किया।

उन्होंने इस अवसर पर मेला समिति को अपनी ऐच्छिक निधि से 5100 रुपये प्रदान
करने की घोषणा की। ग्राम पंचायत सलोगड़ा के पूर्व प्रधान लक्ष्मी दत शर्मा ने
इस अवसर पर क्षेत्र की विभिन्न मांगों से मुख्य अतिथि को अवगत करवाया।

ग्राम पंचायत सलोगड़ा के प्रधान जमना दत ने मुख्यातिथि का स्वागत किया। उप
प्रधान दलीप शर्मा ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

इस अवसर पर सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के कलाकारों और स्कूली बच्चों द्वारा
रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।

नगर परिषद् सोलन के अध्यक्ष कुल राकेश पंत, खण्ड कांग्रेस समिति सोलन के
अध्यक्ष बलदेव ठाकुर, ग्राम पंचायत ओच्छघाट के प्रधान सोमदत शर्मा, मशीवर
पंचायत के प्रधान राजेन्द्र कश्यप, ग्राम पंचायत मही के प्रधान महेश, ग्राम पंचायत
धरोट के उप प्रधान अनिल शर्मा, ग्राम पंचायत बसाल के उप प्रधान संजय, जि़ला
कांग्रेस समिति सोलन के कोषाध्यक्ष सुशील चैधरी, प्रवक्ता जगमोहन मल्होत्रा,
शहरी कांग्रेस के अध्यक्ष जतीन साहनी, सोशल मीडिया प्रकोष्ट के संयोजक मुकेश
शर्मा, युवा नेता संजीव शर्मा, भाषा कला संस्कृत अकादमी के सदस्य मदन हिमाचली,
शहरी कांग्रेस के सदस्य अजय कंवर, कांग्रेस सेवादल सोलक के संगठक हरिमोहन
शर्मा, विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित
थे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Current month ye@r day *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
Directory powered by Business Directory Plugin