Header ad

विवेकानन्द मैडिकल हस्पताल में डाईलेसिज की सुविधा 15 अक्तूबर तक पूरी तरह से प्रारम्भ :शांता कुमार

 

vhpधर्मशाला (अरविन्द शर्मा )15 अक्तूबर, 2014-

एम.आर.आई. प्रारम्भ करने की दिषा में भी हस्पताल कार्यरत

जल्द शुरू होगा नर्सिंग कालेज

 

हिमाचल प्रदेष के पूर्व मुख्यमंत्री एवं  कांगडा चम्बा से वर्तमान लोकसभा सदस्य तथा  विवेकानन्द मैडिकल ट्रस्ट के अध्यक्ष शांता  कुमार ने विवेकानन्द मैडिकल हस्पताल के प्रमुख अधिकारियों से वीर बार को पालमपुर में बैठक की।  शांता कुमार ने कहा कि हस्पताल में डाईलेसिज की सुविधा 15 अक्तूबर तक पूरी तरह से प्रारम्भ की जा रही है। ऐसे रोगियों को दूर-दूर जाना पड़ता था अब यह सुविधा विवेकानन्द हस्पताल में अपेक्षाकृत कम षुल्क में होगी।  हस्पताल में डाईलेसिज की तीन मषीने लग चुकी है और उन्होने काम करना भी षुरू कर दिया हैं।  न्यूरोसर्जन आने के बाद इस संबंध का पूरा उपचार हस्पताल में किया जा रहा है।

एम.आर.आई. प्रारम्भ करने की दिषा में भी हस्पताल कार्यरत है और तीन महीने के अन्दर यह सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।उन्होने कहा है कि कार्यरत एवं भूतपूर्व सैनिकों को ई.सी.एच. की सुविधा भी बहुत जल्दी विवेकानन्द ट्रस्ट में प्राप्त होनी षुरू होगी।  संबन्धित अधिकारियों ने इस संबंध में कुछ मास पूर्व हस्पताल का निरीक्षण किया था और उनकी गुणवता परीक्षा में इस हस्पताल को बिलकुल ठीक पाया गया। यह सुविधा आने के बाद प्रदेष में कार्यरत और भूतपूर्व सैनिकों को मुफ्त ईलाज की सुविधा प्राप्त हो जाएगी।

शांता कुमार ने बताया कि नर्सिग कालेज प्रारम्भ करने के भी सारे प्रबन्ध किये जा रहे है।  पिछले वर्श विवेकानन्द हस्पताल की बैठक में दिल्ली में इस संबंध में निर्णय लिया जा चुका है।  उन्होने कहा कि अगले वर्श से नर्सिंग कालेज प्रारम्भ हो जाएगा।

शांता  कुमार ने कहा कि अब उनकी सबसे बडी प्राथमिकता हृदय रोग का ईलाज प्रारम्भ करने का है।  उन्होने इस संबंध में बैठक में सभी अधिकारियों और डाक्टरों से सलाह मशवरा किया है। उन्हें बताया गया कि हृदय रोग का ईलाज करने के लिए 15 करोड रू0 की अधिक आवष्यकता होगी।  षान्ता कुमार आज दिल्ली जा रहे है।  अगले सप्ताह वे ट्रस्ट के प्रबन्ध न्यासी श्री मनोज गौड से मिल कर इस संबंध में निर्णय करेगे।  उन्होने कहा कि वे बहुत जल्दी पालमपुर में हृदय रोग का सारा उपचार उपलब्ध करवाना चाहते है।

 शांता कुमार ने विवेकानन्द ट्रस्ट के सभी अधिकारियों और डाक्टरों का इस बात के लिए धन्यवाद किया कि सभी बहुत सेवा भाव से इलाके की सेवा कर रहे है और हस्पताल दिन प्रतिदिन हर दृश्टि से प्रगति कर रहा है।

                   षान्ता कुमार ने कायाकल्प में प्रबन्धकों और डाक्टरों से भी बैठक की यह निर्णय किया गया कि परिसर के मुख्य द्वार पर स्वामी विवेकानन्द की एक भव्य प्रतिमा उनके अगले जन्म दिन 12 जनवरी को स्थापित की जायेगी।  कायाकल्प में प्राकृतिक चिकित्सा और योग का डिप्लोमा प्रारम्भ करने की योजना भी बनी।  रोगियों के लिए एक नया आवास बनाने का कार्यक्रम बनाया गया।

 

         

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *