October 24, 2017

विभिन्न परियोजनाओं का अनुश्रवण एवं गुणवत्ता सुनिश्चित हो: रवि

mjiसोलन 05.10.2015: हिमाचल प्रदेश विधानसभा की लोक लेखा समिति के अध्यक्ष विधायक रविन्द्र सिंह

रवि ने सोलन जि़ले में कार्यरत सभी विभगाों के अधिकारियों को निर्देश
दिए हैं कि वे विभिन्न परियोजनाओं के कार्य का नियमित अनुश्रवण सुनिश्चित
बनाएं ताकि कार्यों की गुणवत्ता बनी रहे। रवि आज यहां लोक लेखा समिति की
बैठक में उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सम्बोधित कर रहे थे।

रविन्द्र रवि ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अधिकारी विभिन्न कल्याण
योजनाओं को समय पर पूरा करने के लिए क्षेत्रीय स्तर पर नियमित निरीक्षण
सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने कहा कि विभिन्न योजनाओं के लिए केन्द्र एवं राज्य
सरकार द्वारा निश्चित अनुपात में राशि जारी की जाती है और समुचित अनुश्रवण एवं
नियमित निरीक्षण के माध्यम से गुणवत्ता सुनिश्चित बनाकर धन का समुचित उपयोग
किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि लोक लेखा समिति का कार्य सरकार द्वारा प्रदान की गई धनराशि
के उपयोग पर नजर रखना होता है। समिति यह सुनिश्चित बनाती है कि लेखा
परीक्षण में लगाई गई आपतियों का निपटारा शीघ्र हो ताकि विकास में धन की
कमी आड़े न आए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि लेखा परीक्षण की
आपतियों का समयबद्ध निपटारा सुनिश्चित बनाएं।

लोक लेखा समिति के अध्यक्ष ने कहा कि दृढ इच्छाशक्ति और मेहनत के द्वारा हिमाचल
प्रदेश को विकास के हर क्षेत्र में आदर्श बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि
सोलन जि़ला हिमाचल के विकसित जि़लों में से एक है और जि़ला प्रशासन के
सहयोग से सोलन जि़ले को और बेहतर बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि
सोलन जि़ले को प्रदेश ही नहीं अपितु देश में विकास का सिरमौर बनाया जाना
चाहिए।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि विभिन्न परियोजनाओं के कार्य
निष्पादन प्रमाण पत्र समय पर जमा करवाएं ताकि धन का आवंटन समय पर हो सके।
उन्होंने उद्योग तथा श्रम एवं रोजगार विभाग के अधिकारियों को
बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़ विकास प्राधिकरण में उद्योगों की कुल संख्या, नए
खुले उद्योगों की संख्या, इनमें हिमाचलवासियों को मिले रोजगार की जानकारी
तथा औद्योगिक पैकेज की समाप्ति के उपरान्त बंद हुए उद्योगों की पूर्ण जानकारी
उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि समिति बैठक में अधिकारियों से प्राप्त सुझावों को प्रदेश
सरकार तक पहुंचाएगी ताकि प्रशासन में अधिक पारदर्शिता एवं जवाबदेही सुनिश्चित
हो सके।

रवि एवं समिति के अन्य सदस्यों ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सोलन जैसे
औद्योगिक जि़ले में पर्यावरण संरक्षण एवं पूर्ण स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया
जाए। समिति के अध्यक्ष ने कहा कि सोलन जि़ले के सभी प्रमुख कस्बों को मल
निकासी योजना से जोड़ने के कार्य में तेजी लाई जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि
परवाणू-शिमला राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर सड़क के किनारे आधारभूत सुविधाओं के
सृजन पर ध्यान दिया जाए।

बैठक में जानकारी दी गई कि परवाणू क्षेत्र में पर्यटन सुविधाओं के विस्तार के
लिए 2.5 करोड़ रुपये की एक परियोजना स्वीकृत की गई है।

लोक लेखा समिति ने बैठक में वित्तीय परिदृश्य की पूरी जानकारी प्राप्त की और
सांसद, विधायक निधि तथा उपायुक्त कार्यालय द्वारा जारी राशि की विस्तृत जानकारी
हासिल की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि महालेखाकार द्वारा जारी
रिपोर्ट को ध्यान से पढा जाए और यदि आवश्यकता हो तो इंटरनेट के माध्यम से
इसकी पूरी जानकारी प्राप्त की जाए। बैठक में लोक निर्माण, सिंचाई एवं जन
स्वास्थ्य, आबकारी एवं कराधान, राजस्व, वन, उद्योग, शिक्षा, बागवानी सहित सभी
विभागों की वित्तीय स्थिति पर चर्चा की गई।

लोक लेखा समिति आज से प्रदेश के सोलन, सिरमौर सहित अन्य जि़लों के दौरे
पर है।

उपायुक्त सोलन मदन चैहान ने समिति का स्वागत करते हुए आशा जताई की समिति
प्रशासन की कमियों को दूर कर सेवा प्रणाली को चुस्त-दुरूस्त बनाने में सहायक
सिद्ध होगी। उन्होंने समिति को विश्वास दिलवाया कि समिति के सुझावों एवं
निर्देशों पर पूरा अमल किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि
आॅडिट पैरा के संबंध में एक सप्ताह के भीतर जानकारी दें ताकि समिति को इस
संबंध में अवगत करवाया जा सके।

बैठक में लोक लेखा समिति के सदस्य विधायक अजय महाजन, पवन काजल, के.एल.
ठाकुर, वीरेन्द्र कंवर, विजय अग्निहोत्री तथा बलदेव तोमर, पुलिस अधीक्षक सोलन
डा. रमेश छाजटा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सोलन सुशील शर्मा, अतिरिक्त जि़ला
दण्डाधिकारी संदीप नेगी, उपमण्डलाधिकारी नालागढ़ हरिकेश मीणा, एसडीएम सोलन
एकता कापटा, एसडीएम कण्डाघाट एसएम सानी सहित सभी विभागों के वरिष्ठ अधिकारी
उपस्थित थे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *