October 20, 2017

मोदी की पत्नी जशोदाबेन ने सुरक्षा के बारे में फिर मांगी जानकारी

default (37)अहमदाबाद:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदाबेन ने एक बार फिर अपनी सुरक्षा के बारे में पुलिस से जानकारी मांगी है। नवंबर 2014 में जशोदाबेन ने मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद आरटीआई एक्ट के तहत मेहसाणा पुलिस से उन्हें दी गई सुरक्षा के बारे में जानकारी मांगी थी। लेकिन सरकार ने उन्हें यह जानकारी देने से मना कर दिया था। जशोदाबेन के भाई अशोक मोदी ने बताया, ‘उन्होंने मेहसाणा पुलिस के एसपी के समक्ष अपील दायर की है क्योंकि पहली बार उनके किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया गया। जशोदाबेन ने आरटीआई के जरिये यह जानने की कोशिश की थी कि प्रधानमंत्री मोदी की पत्नी होने के नाते उन्हें क्या अधिकार हैं। इसके अलावा,उन्होंने उनकी सुरक्षा में लगे कर्मचारियों की ड्यूटी के बारे में पूछा था। उन्होंने यह भी पूछा था कि जब वह बस में यात्रा कर रही होती हैं, तब उनके सुरक्षा कर्मचारी किसके आदेश पर सरकारी वाहनों में यात्रा करते हैं। सिक्यॉरिटी डीटेल्स के बारे में जशोदाबेन के सवालों को खारिज करते हुए पुलिस ने कहा कि उनका सवाल एलआईबी के दायरे में आता है और गुजरात सरकार ने इसे आरटीआई ऐक्ट से बाहर रखा हुआ है।जशोदाबेन के संबंधी और पेशे से वकील संदीप मोदी ने बताया कि आरटीआई के रिप्लाई में उनके पति के नाम का जिक्र नहीं किया गया है। सरकार की तरफ से भेजी गई चिट्ठी में उनका पता ‘जशोदाबेन, बेटी- चिमनभाई मोदी’ बताया गया है। उन्होंने कहा कि जशोदाबेन को इस बात से काफी चोट पहुंची है कि उन्हें भेजी गई चिट्ठी में उनके पति का नाम नहीं दिया गया है, जबकि अपने शुरुआती ऐप्लिकेशन में उन्होंने अपना नाम ‘जशोदाबेन नरेंद्रभाई मोदी, बेटी-चिमनभाई मोदी’ लिखा था। उन्होंने कहा कि आरटीआई ऐक्ट के तहत पब्लिक इनफर्मेशन ऑफिसर को किसी भी आरटीआई का जवाब देते हुए अपीलेट अथॉरिटी का जिक्र करना अनिवार्य होता है, लेकिन इस मामले में उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया। ऐसा लग रहा है जैसे पीआईओ कुछ छिपाने की कोशिश में लगा हुआ है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *