October 22, 2017

मैडीकल कालेज की दीवार पर लिखे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे

default (15)नेरचौक: हिमाचल के मंडी जिला के नेरचौक स्थित ई.एस.आई.सी. मैडीकल कालेज की दीवार पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लिखने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। सूचना मिलते ही मंडी पुलिस ने तत्काल जांच के बाद अज्ञात के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया है। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने इस घटना को चिंताजनक बताया है और तत्काल जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। पुलिस ने मंडी शहर समेत पूरे जिला में हाई अलर्ट कर दिया है। जिला के सुंदरनगर पुलिस उपमंडल के  डी.एस.पी. कुलभूषण वर्मा का कहना है कि पुलिस ने आई.पी.सी. की धारा 153ए व 124ए के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ देशद्रोह और 2 समुदाय के बीच धार्मिक भावनाएं  भड़काने बाबत मामला दर्ज कर लिया है। फोरैंसिंक टीम ने मौके से सैंपल इकठ्ठे कर लिए हैं। पुलिस पूछताछ में जुट गई है। हिंदी में लिखे इस संदेश व नारे के साथ अंत में 16 सित बर, 2014 की तिथी लिखी है और देशवासियोंं को अश्लील गालियां दी गई हैं। इस घटना की सूचना मिलते ही सुरक्षा एजैंसियों में हड़कंप मच गया है और जिला पुलिस की ओर से डी.एस.पी. सुंदरनगर कुलभूषण वर्मा व एस.एच.ओ. बल्ह चेत सिंह भंगालिया ने मौके पर पहुंचकर पूरी इमारत का मुआयना किया। दीवार में लिखे संदेश की वीडियोग्राफी भी कर ली गई है। पुलिस ने अस्पताल के उपरोक्त कमरे को सील कर दिया है। निर्माण कार्य में जुटे मजदूरों से कड़ी पूछताछ शुरू कर दी है। 3 लाइनों के इस संदेश में अधिकांश जगह अश्लील गालियों के साथ एक साल बाद अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहने की बात लिखी गई है और सबसे ऊपर पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लिखा है। इस इमारत के कई अन्य भागों में भी उर्दू व हिंदी में कई अश्लील गालियां व शेयर लिखे गए हैं जहां प्रवासी मजदूर काम कर रहे हैं। शुक्रवार सुबह यहां काम करने वाले कुछ युवकों ने स्थानीय युवकों को इस बारे बताया तो मामला पुलिस तक पहुंचा और आनन-फानन में पूरी पुलिस टीम मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए मौके पर पहुंची तथा मंडी से फोरैंसिक एक्सपर्ट टीम ने भी मौके पर पहुंचकर फिंगगर प्रिंट्स व कुछ अन्य सबूत एकत्र कर लिए हैं। इस अस्पताल में सैंकड़ों बाहरी राज्यों के मजदूर वर्ष 2009 से काम में जुटे हैं। इस मुद्दे पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का कहना है कि यह काम शरारती तत्वों का है। उन्होंने कहा कि हिमाचल में ऐसा कृत्य करने वाला कोई नहीं है। इस मामले की जांच होगी।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *