Header ad
Header ad
Header ad

मेले में मंंदिर रास्ते पर वाहनों की आवाजाही प्रतिबन्धित – उपायुक्त

DSC_0978

नाहन,18 मार्च – चैत्र नवरात्र मेले के दौरान माता बाला सुन्दरी मंदिर त्रिलोकपुर में मंदिर के रास्ते पर वाहनों की आवाजाही प्रतिबन्धित रहेगी ताकि मंदिर में दर्शनार्थ आने वाले श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो। इसके अतिरिक्त असमाजिक तत्वों पर नजर रखने के लिए इस बार मंदिर परिसर के अतिरिक्त भीड वाले क्षेत्रों में सीसीटीवी कैमरे स्थापित किए जाएगे। यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर एवं आयुक्त मंदिर न्यास, विकास लाबरू ने आज त्रिलोकपुर मंदिर में आगामी 31 मार्च से 15 अप्रैल, 2014, तक मनाए जाने वाले चैत्र मास के नवरात्र मेले के प्रबन्धों को लेकर आयोजित अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। उन्होने बताया कि त्रिलोकपुर पंचायतों के वाहन धारको की सुविधा के लिए मंदिर के साथ बाईपास सडक तैयार की गई है। इसके अतिरिक्त मंदिर रास्ते पर न्यास के दो वाहन विशेष परिस्थितियों में आवाजाही के लिए रखे जाएगे। उपायुक्त ने बताया कि माता बाला सुन्दरी मन्दिर उत्तरी भारत के प्रसिद्ध शक्ति पीठों में से एक है जहां पर नवरात्र पर्व के अतिरिक्त पूरे वर्ष श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है और प्रदेश के अतिरिक्त पडोसी राज्यों हरियाणा, पंजाब, दिल्ली व देश विदेश से असंख्य पर्यटक माता के मन्दिर के दर्शन के अतिरिक्त प्रकृति की नैसर्गिक छटा का आनन्द भी उठाते हैं। उन्होंने बताया कि मेले को सुनियोजित ढंग से आयोजित करने तथा श्रद्धालुओं को उचित सुरक्षा प्रदान करने के दृष्टिगत व्यापक प्रबन्ध समय पर पूरा करने के लिए अधिकारियों को आदेश दिए गए है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से मेले को तीन सैक्टरों में विभाजित किया जाएगा जिसके प्रत्येक सैक्टर में एक मेजिस्ट्रेट एवं एक पुलिस अधिकारी को तैनात किया जाएगा इसके अतिरिक्त लगभग 250 पुलिस एवं गृह रक्षक जवानों को विभिन्न स्थलों पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा। उन्होंने बताया कि असामाजिक तत्वों पर नजर रखने के लिए मेला क्षेत्र में 16 सीसीटीवी भी स्थापित किए जाएंगे जिनकी निगरानी के लिए मेला मजिस्ट्रेट द्वारा एक प्रशिक्षित पुलिस जवान एवं एक अन्य कर्मचारी को तैनात किया जाएगा। उपायुक्त ने बताया कि मेले के दौरान विस्फोटक सामग्री, आग्रेय शस्त्रों को लाने एवं ले जाने के अतिरिक्त नारियल चढ़ाने एवं उंची आवाज में बैंड अथवा ढोल बजाने पर पूर्ण प्रतिबन्ध रहेगा। इसके अतिरिक्त श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए दो प्लाजमा स्क्रीन पर माता के लाईव दर्शन की व्यवस्था भी की जाएगी। उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मन्दिर परिसर में नियत्रण एवं सूचना केन्द्र स्थापित किया जाएगा जहां पर श्रद्धालु अपनी शिकायत को दर्ज करवा सकते हैं। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को आदेश दिए कि काला आंब से त्रिलोकपुर मार्ग को तुरन्त मेला अवधि से पहले मुरम्मत किया जाए ताकि प्रदेश व पड़ोसी राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कोई कठिनाई न आए। इसके अतिरिक्त इस सडक़ पर वाहनों की आवाजाही के लिए बेहतर व्यवस्था की जाए ताकि मेले के दौरान अव्यवस्थित ढंग से वाहन खड़े क रने से यातायात प्रभावित न हो।
उपायुक्त ने बताया कि चैत्र नवरात्र मेले के अवसर पर विशाल दंगल का आयोजन किया जायगा, जिसमें नामी पहलवान भाग लेंगें तथा इस वर्ष पहलवानो के लिए बड़ी माली के रूप में विजेता को 31000/- रूपये तथा उप विजेता को 21000/- रूपये जबकि छोटी माली के रूप में विजेता को 21000/-तथा उप विजेता को 11000/- रूपये की राशी इनाम के रूप में दी जाएगी। उन्होने बताया कि मेला परिसर में सफाई व्यवस्था के लिए विशेष प्रबन्ध किए जाएंगे तथा आवश्यकतानुसार सफाई का कार्य बाहरी स्रोत्रों से भी किया जाएगा। उन्होंने मेले में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए पानी, बिजली, खाद्य पदार्थ, एलपीजी सिलैण्डरों की उचित व्यवस्था की जाएगी, इसके अतिरिक्त मेले में नि:शुल्क चिकित्सा शिविर भी लगाया जाएगें, जिसमें श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए सभी जीवन रक्षक दवाएं उपलब्ध रहेंगी। उन्होंने परिवहन निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए कि मेले में अतिरिक्त बसों को चलाने के लिए हरियाणा रोडवेज के साथ भी संपर्क करके समय पर आवश्यक प्रबन्ध किए जाऐं ताकि मेले में आने वाले यात्रियों को बेहतर सुविधा उपलब्ध हो सके। मुख्य मेला अधिकारी एवं एसडीएम नाहन ज्योति राणा ने बताया कि मेले को सुव्यवस्थित ढंग से आयोजित करने के लिए सभी आवश्यक प्रबन्ध 29 मार्च तक पूरे कर लिए जाएगे। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भगत सिंह ठाकुर, तहसीलदार आरडी हरनोट,अधीशाशी अभियन्ता लोक निर्माण अजय वर्मा, सहायक अभियन्ता शाहिन बेग, मंदिर प्रबन्धक नेगी के अलावा मंदिर न्यास से जुडे विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने भी भाग लिया। इससे पहले उपायुक्त विकास लाबरू द्वारा बाला सुन्दरी मंदिर में पूजा अर्चना की गई तथा न्यास द्वारा कार्यान्वित किए जा रहे विभिन्न विकास कार्यो का भी निरीक्षण किया गया।

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)