October 21, 2017

मुख्य निर्वाचन अधिकारी की जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी नरेन्द्र चौहान ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में 7 मई, 2014 को आयोजित होने वाले संसदीय चुनावों के दृष्टिगत निर्वाचन की घोषणा की तिथि से ही आदर्श चुनाव अचार संहिता स्वतः ही लागू हो गई है। उन्होंने कहा कि आदर्श चुनाव अचार संहिता से सम्बन्धित सभी मामलों का त्वरित संज्ञान लिया जाएगा। उन्होंने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों एवं उपायुक्तों को निर्देश दिए कि अपने जिला से सम्बन्धित निर्वाचन तथा कानून एवं व्यवस्था से सम्बन्धित दैनिक सूचना प्रेषित करना सुनिश्चित बनाएं ताकि प्रदेश में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव निश्चित हो सकें। चौहान आज यहां वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श कर रहे थे। उन्होंने निर्देश दिए कि मतदाता सूची, विशेष अभियान, चुनाव प्रबन्धन, योजनाबद्ध मतदाता शिक्षण एवं निर्वाचन सहभागिता (स्वीप), योजना का गठन तथा मतकर्मियों की डियूटी सम्बन्धी महत्वपूर्ण दिशा निर्देशों का पालन सुनिश्चित बनाया जाए। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने जिला निर्वाचन योजना, संचार योजना, परिवहन योजना, मतगणना योजना, जिला सुरक्षा योजना, क्षेत्र दण्डाधिकारी योजना, मतगणना केन्द्रों की संवेदनशील मैपिंग, संवेदनशील मतगणना केन्द्रों का चिन्हांकन तथा अति संवेदनशील मतगणना केन्द्र इत्यादि की योजना निर्धारण की वर्तमान स्थिति की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने निर्देश दिए कि जिला अथवा सहायक निर्वाचन अधिकारी स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किए जाएं ताकि मतदाताओं को सुविधा प्राप्त हो सके। उन्होंने सभी जिलों में टोल फ्री हेल्पलाईन आरम्भ करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि भारत के निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुसार आधारभूत न्यूनतम सुविधाओं के सम्बन्ध में सभी मतगणना केन्द्रों की वीडियोग्राफी की गई है और यदि यह सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं तो इन्हें उपलब्ध करवाने के लिये विशेष प्रयास किए जाएंगे। चौहान ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को अवगत करवाया कि भारत के निर्वाचन आयोग की स्वीकृति के बिना मतदाता सूचियों से न तो कोई नाम काटा जाएगा और न ही इनमें संशोधन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शेष पात्र मतदाआतों के नामांकन के लिए प्रत्येक मतदान केन्द्र पर विशेष जागरूकता शिविर आयोजित किए जाएंगे। इन शिविरों में बूथ स्तर के अधिकारी आम जनता की सूचना के लिए मतदाता सूची को पढ़ेंगे और यदि किसी पात्र व्यक्ति का नाम इसमें नहीं पाया जाता है तो सम्बन्धित व्यक्ति फार्म संख्या 6 भर कर देगा ताकि उसका नाम मतदाता सूची में समाहित किया जा सके। उन्होंने आग्रह किया कि प्रत्येक मतदान केन्द्र पर एक दिवसीय शिविर आयोजित करने के लिए आवश्यक प्रबन्ध सुनिश्चित बनाएं। उन्होंने विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित करने के निर्देश भी दिए ताकि उन्हें इस विशेष शिविर की जानकारी दी जा सके और इसके लिए उनका सहयोग प्राप्त किया जा सके। उन्होंने इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए स्वीप के अन्तर्गत सघन अभियान चलाने के निर्देश दिए। जिला निर्वाचन अधिकारियों ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को जानकारी दी कि निर्वाचन व्यय अनुश्रवण प्रणाली स्थापित कर दी गई है। चौहान ने जिला निर्वाचन अधिकारियों को चुनावों के प्रभावी प्रबन्धन के लिए मतगणना कर्मियों को प्रशिक्षित करने के निर्देश दिए। निर्वाचन पूर्व प्रबन्धों पर संतोष व्यक्त करते हुए श्री चैहान ने कहा कि भारत का निर्वाचन आयोग प्रदेश में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव करवाने के लिए प्रतिबद्ध है और अधिक से अधिक मतदान सुनिश्चित बनाने के सतत् प्रयास किए जा रहे हैं।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *