Header ad
Header ad
Header ad

’मुख्यमंत्री द्वारा 120 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास

शिमला 1 जनवरी,  मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने  शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के एक दिवसीय
दौरे में लगभग 120 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का शुभारंभ और
शिलान्यास किया। उन्होंने उप तहसील, धामी के बमौत में 24 लाख रुपये की लागत
से उप स्वास्थ्य केंद्र, नेहरा में 1.75 करोड़ रुपये की लागत से प्राथमिक स्वास्थ्य
केंद्र भवन तथा दाड़गी में वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के 1.75 करोड़ रुपये की
लागत से निर्मित होने वाले अतिरिक्त खण्ड की आधारशीला रखी।

मुख्यमंत्री ने पाहल में 70 लाख रुपये की लागत से निर्मित 4.5 किलोमीटर लंबी
नहेवट-नयासेर संपर्क मार्ग तथा 6.50 लाख रुपये की लागत से नव निर्मित पंचायत
भवन का शुभारंभ किया। उन्होंने दाड़गी के सैंज खड्ड पर पुल का भी
शुभारंभ किया, जिसका निर्माण 1.76 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। इस
पुल का शिलान्यास मुख्यमंत्री ने दिसंबर 2013 में किया था, जो दस माह के
रिकाॅर्ड अवधि में तैयार किया गया है। उन्होंने प्राथमिक पाठशाला, बायचड़ी
में 5.30 लाख रुपये से निर्मित अतिरिक्त खण्ड तथा 5.40 लाख रुपये की लागत से
निर्मित ग्राम पंचायत भवन का भी उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने बायचड़ी में 1.30
करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के
अतिरिक्त भवन की भी आधारशिला रखी। उन्होंने सोलह-मील के नजदीक डिग्री
काॅलेज खोलने पर भी सैद्धांतिक सहमति दी। उन्होंने माध्यमिक पाठशाला मांदरी
को उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत करने की घोषणा की।

श्री वीरभद्र सिंह ने पाहल तथा बायचड़ी में जनसभाओं को संबोधित करते हुए
कहा कि सरकार ने शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में करोड़ों रुपये की लागत
से अनेक विकास कार्य आरंभ किये हैं। क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग द्वारा
पुलों, सड़कों तथा भवनों के निर्माण पर 421.66 करोड़ रुपये खर्च किये जा
रहे हैं। गत दो वर्षों के दौरान 112 करोड़ रुपये की 35 सड़क परियोजनाएं,
4.4 करोड़ रुपये के दो पुल, 299 करोड़ रुपये के लागत से भवन निर्माण तथा
6.18 करोड़ रुपये से 54 किलोमीटर लंबी सड़कों की टायरिंग की गई। सरकार ने
क्षेत्र में विकास को सुनिश्चित बनाने के लिए धामी में लोक निर्माण विभाग का
मण्डल कार्यालय खोला गया, जबकि सुन्नी में पहले ही लोक निर्माण विभाग का एक
मण्डल कार्यालय कार्यरत है। प्रदेश में पांच राष्ट्रीय उच्च मार्ग को लिंक रोड से
जोड़ा गया है। सरकार सभी गावों को सड़क सुविधा से जोड़ने के लिए वचनबद्ध
है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में इंडियन इंस्टीट्यूट

आॅफ फारन ट्रेड, आधुनिक पाॅलीटेक्निकल संस्थान, न्यायिक अकादमी, दंत महाविद्यालय
परिसर और अनेक अन्य प्रतिष्ठित संस्थान स्थापित किए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त,
शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न विभागों की 670 विकास
परियोजनाएं आरम्भ की गई हैं, जिसके लिए 529 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान
किया गया है।

श्री वीरभद्र सिंह ने कहा है कि सैंज नाला से 105 करोड़ रुपये की पेयजल योजना
की निविदाएं आमंत्रित की जा चुकी हैं और शीघ्र ही इसे समर्पित किया जाएगा। इस
परियोजना से धामी उप तहसील के 41 ग्राम पंचायतों के लोग लाभान्वित होंगे।
उन्होंने कहा कि सात करोड़ रुपये की लागत से सुन्नी में आधुनिक
प्री-फेब्रीकेटिड अस्पताल का निर्माण किया जा रहा है, जिसका निर्माण कार्य जनवरी
2015 के अंत तक पूरा हो जाएगा।

उन्होंने लोगों से बेमौसमी सब्जी की खेती तथा पुष्प उत्पादन अपनाने का आग्रह
किया ताकि उनकी आर्थिकी और सुदृढ़ हो सके। उन्होंने पेयजल भण्डारण के लिए
चैक डैमों का निर्माण पर भी बल देते हुए कहा कि जल की कमी वाले क्षेत्रों में
आवश्यक रूप से चैक डेमों का निर्माण किया जाना चाहिए। उन्होंने लोगों से
पारंपरिक खेती को बनाए रखने और दुग्ध उत्पादन को व्यवसाय के रूप में अपनाने
का आह्वान किया।

मुख्यमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू तथा पूर्व मुख्यमंत्री  डाॅ.
वाई एस परमार द्वारा प्रदेश के विकास में दिये गये योगदान तथा अपने मुख्यमंत्री
कार्यकाल के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा प्रदेश सरकार
को विकास कार्यों में दिये गये सहयोग को भी याद किया।

श्री वीरभद्र सिंह ने शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र सहित प्रदेश भर के
लोगों की सुविधा के लिए स्वास्थ्य क्षेत्र को सुदृढ़ करने पर बल देते हुए कहा कि
ग्रामीण क्षेत्रों में और अधिक स्वास्थ्य उप केंद्र तथा प्राईमरी स्वास्थ्य केंद्र
खोले जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक स्वास्थ्य उप केंद्रों में एक पुरूष तथा
एक महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता तैनात किये जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने माध्यमिक पाठशाला, बमौत को उच्च पाठशाला  में स्तरोन्नत करने तथा
वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, पाहल में विज्ञान खण्ड भवन के निर्माण तथा पाहल में
करेची-ताबोग सड़क निर्माण की भी घोषणा की। उन्होंने लोगों से शीघ्र
ही कटासनी क्रिकेट स्टेडियम के लिए भूमिदान करने के लिए आगे आने को कहा,
ताकि

इसका निर्माण कार्य शीघ्र पूरा किया जा सके। उन्होंने लोगों तथा पंचायती

राज संस्थाओं के सदस्यांे से लोगों को सड़कों तथा अन्य विकास कार्यों के
लिए भूमिदान करने के लिए जागरूक करने का भी आग्रह किया।

इस अवसर पर राज्य युवा कांग्रेस के अध्यक्ष श्री विक्रमादित्य ने कहा कि क्षेत्र के
लोगों ने हमेशा ही कांग्रेस सरकार की नीतियों व कार्यक्रमों को अपनाया है।
उन्होंने मुख्यमंत्री से कटासनी क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण
करने का आग्रह किया। यह स्टेडियम अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप प्रदेश का श्रेष्ठ
क्रिकेट स्टेडियम होगा। उन्होंने क्षेत्र के लोगों को उनकी समस्याओं को
प्राथमिकता पर हल करने का भी आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि उनकी समस्याओं
को सरकार के समक्ष दृढ़तापूर्वक रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए
रोजगार के अधिक अवसरों तलाशे जाएंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री का प्रदेश के
विभिन्न स्थानों पर युवा कांग्रेस की मांग पर रोजगार मेले आयोजित करने के
लिए आभार प्रकट किया।

जिला कांग्रेस समिति शिमला ग्रामीण के अध्यक्ष श्री केहर सिंह खाची, खण्ड कांग्रेस
समिति शिमला ग्रामीण के अध्यक्ष श्री चंद्रशेखर शर्मा, महिला ब्लाॅक कांग्रेस
समिति की अध्यक्ष श्रीमती अनीता शर्मा, एचपीएसआईडीसी तथा प्रदेश कांग्रेस समिति
के सदस्य श्री प्रमोद शर्मा तथा उपायुक्त शिमला दिनेश मल्होत्रा, पुलिस अधीक्षक
डीडब्ल्यू नेगी तथा विभिन्न पंचायतों के प्रधान व जिला के वरिष्ठ अधिकारी इस
अवसर पर उपस्थित थे।

 

Share

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Solve it * *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)