October 18, 2017

माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की चौंतड़ा कमेटी की बैठक सत्या शर्मा की अध्यक्षता में सुक्काबाग में आयोजित की गई।

मंडी, 24 सितम्बर (पुंछी): माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की चौंतड़ा कमेटी की बैठक सत्या शर्मा की अध्यक्षता में सुक्काबाग में आयोजित की गई। माकपा की चौंतड़ा कमेटी के सचिव का. किशारी लाल ने बताया कि माकपा के राज्य सचिवालय सदस्य कुशाल भारद्वाज व जोगिन्दर नगर क्षेत्रीय कमेटी सदस्य संजय की उपस्थिति में यह बैठक आयोजित की गई। जिसमें किशोरी लाल, सत्या शर्मा, संजीत कुमार, प्रताप चौहान, रंगीलू राम आदि भी उपस्थित थे। बैठक में चौंतड़ा क्षेत्र की समस्याओं पर चर्चा करते हुए इन पर संघर्ष चलाने का भी निर्णय हुआ। माकपा की चौंतड़ा कमेटी के सदस्यों को सम्बोधित करते हुए राज्य कुशाल भारद्वाज ने कहा कि कांग्रेस भाजपा की सरकारों द्वारा जनविरोधी नीतियां लागू करने से जनता विशेषकर किसानों मजदूरों का जीवन संकटमय हो गया है। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकारी नौकरी प्राप्त करने के सारे रास्ते बंद कर दिये हैं तो वहीं विभिन्न सेवाओं जैसे बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन आदि का निजीकरण किया जा रहा है तथा इन्हें आम जनता की पहुंच से दूर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जीने के लिए जरूरी उपभेक्ता वस्तुओं को महंगा किया जा रहा है। जिससे आम जनता के लिए हालात मुश्किल हो गये हैं। किसानों की फसल को जंगली जानवर उजाड़ रहे हैं लेकिन सरकार न तो समस्या से निजात दिलाने के लिए गंभीर है और न ही कोई मुआवजा किसानों को दिया जाता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस व भाजपा बाहर से अलग-अलग दिखती हैं लेकिन जनविरोधी नीतियों को लागू करने में एकजुट हो जाती हैं। उन्होंने कहा कि हाल ही में विधान सभा में मंत्रियों व विधायकों के वेतन ब$ढाने के मुद्दे पर भी कांग्रेस व भाजपा ने एकजुटता दिखाते हुए बिना चर्चा के ही सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर दिया। माकपा की चौंत$डा ब्रांच सचिव का. किशोरी लाल ने बताया बैठक में चौंतड़ा क्षेत्र की समस्याओं को सरकार के समक्ष उठाने और इनके हल के लिए हर संभव संघर्ष चलाने का निर्णय लिया है। माकपा ने मांग की कि चौंत$डा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इनडोर सुविधा उपलब्ध करवाते हुए कम से कम ५ बिस्तरों की व्यवस्था की जाए। शाम सा$ढे तीन बजे से सुबह साढ़े 9 बजे तक यहां कोई डाक्टर नहीं होता हैए अत: माकपा की मांग है कि यहां पर डाक्टर व स्टाफ के लिए आवास का निर्माण भी किया जाए। उन्होंने कहा कि चौंत$डा क्षेत्र की पंचायतों में बंदरों, सूअरों व आवारा पशुओं के आंतक से किसानों को राहत दी जाए तथा जानवरों द्वारा नष्ट की जा रही फसल का उचित मुआवजा दिया जाए। माकपा ने टिक्करी मुशैहरा के किसानों द्वारा सडक़ खुलवाने के लिए किए जा रहे संघर्ष को भी पूरा समर्थन दिया है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *