Home > Himachal Pradesh News > Sirmour > महिला एवं बाल विकास कार्यक्रम पर व्यय होगें 371करोड़- मुसाफिर

महिला एवं बाल विकास कार्यक्रम पर व्यय होगें 371करोड़- मुसाफिर

bbbनाहन 24 अगस्त- प्रदेश में महिला एवं बाल विकास कार्यक्रम पर चालू वित के
दौरान 371 करोड़ रूपये की राशि व्यय की जा रही है, जिसमें से लगभग 20 करोड़ की
राशि जिला सिरमौर में व्यय की जा रही है।
यह जानकारी राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री जीआर मुसाफिर ने आज राजगढ़
तहसील के गांव चाखल डूंगीसेर में अढाई लाख की लागत से निर्मित आंगनबाड़ी केंद्र
के भवन का लोकापर्ण करने के उपरांत एक जनसभा को संबोधित करते हुए दी।
उन्होने कहा कि सिरमौर जिला में 1485 आंगनबाड़ी केन्द्रो के माध्यम से 0 से 5
वर्ष की आयु वर्ग के लगभग 40 हजार बच्चों और 9 हजार गर्भवती एवं धात्री माताओं
को संतुलित आहार प्रदान करने के अतिरिक्त 3 से 6 आयु वर्ग के बच्चों को पूर्व
स्कूल शिक्षा भी प्रदान की जा रही है। उन्होने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्रों में
बच्चों की समय समय पर स्वास्थ्य की भी जांच की जाती  है। उन्होने स्वास्थ्य
विभाग को निर्देश दिए कि आंगनबाडी केन्द्र के बच्चों की निर्धारित समय पर
स्वास्थ्य जांच करके रोगी एवं कुपोषित बच्चों के उपचार के लिए आवश्यक कदम
उठाऐं जाए। उन्होने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग और आपूर्ति निगम को निर्देश दिए
कि आंगनबाडी केन्द्रों को दिए जाने वाले राशन की गुणवता पर विशेष ध्यान दिया
जाए ताकि बच्चों को उचित गुणवता का आहार मिल सके।
उन्होने बताया कि जिला की सभी आंगनबाडी केन्द्रों में स्वच्छ पेयजल उपलब्ध
करवाने के लिए सरकार द्वारा निर्देश जारी  किए गए है तथा जिला में लगभग 90
प्रतिशत से अधिक आंगनबाडी केन्द्रों में निःशुल्क स्वच्छ पेयजल एवं शौचालयों
की सुविधा उपलब्ध है। उन्होने जानकारी दी कि ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 41
आंगनबाडी केन्द्रों में शौचालयों के निर्माण के लिए 4 लाख 10 हजार की राशि
जारी की गई है, इसके अतिरिक्त  223 आंगनबाडी केन्द्रों के लिए शौचालय स्वीकृत
करके धनराशि उपलब्ध करवा दी गई थी।
इसके उपरांत श्री मुसाफिर ने थैना-बसोतरी में साढ़े 9 लाख की लागत से निर्मित
पंचायत भवन तथा धार बघेड़ा में अढाई लाख से निर्मित सामुदायिक भवन  का लोकापर्ण
किया। तत्पश्चात श्री मुसाफिर ने थैना-बसोतरी में नए अपग्रेड किए गए मिडल
स्कूल को हाई स्कूल करने की रस्म अदा की और एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा
कि प्रदेश के अस्तित्व में आने के उपरांत शिक्षा के क्षेत्र में एक क्रांति आई
है। उन्होने कहा कि प्रदेश में लगभग 16 हजार शिक्षण संस्थानों के माध्यम से
बच्चो को घरद्वार पर शिक्षा ग्रहण करने के अवसर प्राप्त हो रहे है।
-2-
स्थानीय प्रधान सोमा देवी ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया और पंचायत के लिए
विभिन्न विकास कार्य स्वीकृत करने के लिए उनका आभार व्यक्त किया।
इस अवसर पर उपाध्यक्ष डीसीसी परिक्षा चौहान, नगर पंचायत राजगढ़ के अध्यक्ष
दिनेश आर्य, आईएमसी अध्यक्ष विवेक शर्मा, राजकुमार खजान सिंह जबर सिंह सहित
विभिन्न विभागों के अधिकारी व गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Current month ye@r day *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
Directory powered by Business Directory Plugin